1. हिन्दी समाचार
  2. अपहरण और रंगदारी में पूर्व सांसद धनंजय सिंह गुर्गे सहित गिरफ्तार, जेल भेजे गए

अपहरण और रंगदारी में पूर्व सांसद धनंजय सिंह गुर्गे सहित गिरफ्तार, जेल भेजे गए

Former Mp Dhananjay Singh Gurung Arrested In Kidnapping And Extortion Sent To Jail

By बलराम सिंह 
Updated Date

लखनऊ। यूपी के जौनपुर में माफिया डॉन और बसपा के पूर्व सांसद धनंजय सिंह व उनके करीबी गुर्गे को पुलिस ने ​गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि जौनपुर शहर के पचहटिया में निर्माणाधीन सीवर ट्रीटमेंट प्लांट में प्रोजेक्ट मैनेजर ने माफिया डॉन धनंजय सिंह, उनके करीबी विक्रम सिंह समेत चार लोगों पर अपहरण और जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज कराया है। लाइन बाजार थाने में देर रात केस दर्ज होने के बाद पुलिस पूर्व सांसद के कालीकुट्टी स्थित आवास पहुंची। वहां से पूर्व सांसद धनंजय सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया। साथ ही दूसरे आरोपी विक्रम सिंह को भी गिरफ्तार कर लिया।

पढ़ें :- नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली को कम्युनिस्ट पार्टी से किया गया बाहर

इसके बाद दोनों को कड़ी सुरक्षा में लाइन बाजार थाने से कोर्ट में पेशी के लिए ले जाया गया। रिमांड मजिस्ट्रेट ने धनंजय सिंह को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। इस दौरान पूर्व सांसद की ओर से बीमारी की दलील देते हुए राहत मांगी गई, जिसे मजिस्ट्रेट ने खारिज कर दिया। जेल अधीक्षक को बीमारी संबंधी प्रार्थना पत्र भेजते हुए उपचार के लिए समुचित व्यवस्था करने को कहा है। कोर्ट के बाहर धनंजय सिंह ने मीडिया से बातचीत में प्रदेश सरकार के मंत्री गिरीश चंद यादव पर व्यक्तिगत दुश्मनी और ठेकेदारी के विवाद में साजिश के तहत फंसाने का आरोप लगाया।

पुलिस के मुताबिक जौनपुर के पचहटिया इलाके में करोड़ों की लागत से सीवर ट्रीटमेंट प्लांट का निर्माण चल रहा है। कार्यदायी संस्था जल निगम ने मुजफ्फरनगर के सिंघल ग्रुप को निर्माण का जिम्मा सौंपा है। कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर अभिनव सिंघल ने पुलिस को दी तहरीर में आरोप लगाया है कि विक्रम सिंह दो लोगों के साथ 4 मई को उनकी साइट पर आए और जबरन गाड़ी में बिठाकर धनंजय सिंह के घर ले गए।

वहां धनंजय सिंह ने पिस्टल दिखाकर धमकाते हुए एसटीपी निर्माण के लिए सामग्री की आपूर्ति लेने का दबाव बनाने लगे। उनकी ओर से दी जा रही सामग्री की खराब गुणवत्ता का हवाला देते हुए आपूर्ति लेने में असमर्थता जताई तो अपशब्दों का इस्तेमाल करते हुए अभद्रता की। उन्हें हिदायत दी गई है कि अगर वह उनकी बात नहीं मानते तो इसके परिणाम भुगतने होंगे। तहरीर के आधार पर लाइन बाजार थाने में धनंजय सिंह, उनके करीबी विक्रम सिंह और दो अन्य के खिलाफ अपहरण, धमकी देने, मारपीट सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया। देर रात शहर के कालीकुट्टी स्थित आवास पहुंचकर पुलिस ने पूर्व सांसद को गिरफ्तार कर लिया।

पढ़ें :- उत्तर प्रदेश स्थापना दिवसः पीएम मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ से लेकर कई नेताओं ने दी बधाई

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...