1. हिन्दी समाचार
  2. PAK के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने लाहौर हाईकोर्ट में फांसी के खिलाफ दी चुनौती

PAK के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने लाहौर हाईकोर्ट में फांसी के खिलाफ दी चुनौती

Former Pak President Pervez Musharraf Challenged Against Hanging In Lahore High Court

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ ने देशद्रोह मामले में विशेष अदालत के फैसले को लाहौर हाई कोर्ट में शुक्रवार को चुनौती दी।  मुशर्रफ ने शुक्रवार को अदालत में उस फैसले के खिलाफ याचिका दायर की जिसमें उन्हें राजद्रोह का दोषी ठहराते हुए मौत की सजा सुनाई गई है। इस्लामाबाद की विशेष अदालत ने पिछले हफ्ते मुशर्रफ को राजद्रोह के आरोप में मौत की सजा सुनाई थी।

पढ़ें :- गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या: राष्ट्रपति ने कहा-सैनिकों की बहादुरी पर हम सभी देशवासियों को गर्व है

लाहौर हाईकोर्ट में जो याचिका दायर की गई है, उसमें फैसले के पैराग्राफ 66 पर सवाल खड़े किए गए हैं। इसमें कहा गया है कि कोर्ट का ये फैसला जल्दबाजी में लिया गया है, ऐसे में इसे तुरंत निरस्त कर देना चाहिए। बता दें कि परवेज मुशर्रफ इन दिनों दुबई में हैं और अपनी बीमारी का इलाज करवा रहे हैं।

स्पेशल कोर्ट के जस्टिस वकार अहमद सेठ ने 17 दिसंबर को सुनाए गए अपने फैसले में पैराग्राफ 66 में लिखा था कि जो आरोप लगाए गए हैं उनके आधार पर दोषी को तबतक फांसी पर लटकाया जाए, जबतक कि वो मर ना जाएं. इसी पैराग्राफ में ये भी लिखा गया था कि अगर परवेज मुशर्रफ सुरक्षा एजेंसियों को मृत पाए जाते हैं, तो उनके शव को इस्लामाबाद के चौक पर तीन दिनों तक लटकाना चाहिए।

इस मामले में मिली है सजा

2007 में पाकिस्तान पर आपातकाल थोपने, संविधान को निलंबित करने और जजों को हिरासत में रखने के आरोप में मुशर्रफ के खिलाफ 2013 में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया था। मामले में घिरते देख इलाज के बहाने मुशर्रफ 18 मार्च, 2016 को दुबई चले गए थे। तब से वह अपने मुल्क नहीं लौटे।

पढ़ें :- गूगल की Gmail यूर्जस को चेतावनी, शर्तें और नियम ना मानने पर बन्द हो जाएंगी ये सुविधायें

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...