1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. पाक के पूर्व पीएम इमरान खान कभी भी हो सकते हैं गिरफ्तार, जानें क्या है मामला?

पाक के पूर्व पीएम इमरान खान कभी भी हो सकते हैं गिरफ्तार, जानें क्या है मामला?

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Former Prime Minister of Pakistan Imran Khan) की कभी भी गिरफ्तारी हो सकती है। बता दें कि सऊदी अरब की पवित्र मस्जिद-ए-नवबी (Saudi Arabia's Holy Masjid-e-Nawabi) में पाक पीएम शाहबाज शरीफ (Pak PM Shahbaz Sharif) के खिलाफ मदीना में नारेबाजी का मामला इमरान खान (Imran Khan)को भारी पड़ गया है। फैसलाबाद में इमरान और उनके 5 साथियों पर केस दर्ज कर लिया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Former Prime Minister of Pakistan Imran Khan) की कभी भी गिरफ्तारी हो सकती है। बता दें कि सऊदी अरब की पवित्र मस्जिद-ए-नवबी (Saudi Arabia’s Holy Masjid-e-Nawabi) में पाक पीएम शाहबाज शरीफ (Pak PM Shahbaz Sharif) के खिलाफ मदीना में नारेबाजी का मामला इमरान खान (Imran Khan)को भारी पड़ गया है। फैसलाबाद में इमरान और उनके 5 साथियों पर केस दर्ज कर लिया है।

पढ़ें :- सीएम योगी बोले-कभी सफल नहीं होगी अवैध धर्मांतरण वालों की मंशा, जाग चुका है देश

पाकिस्तान के गृहमंत्री राणा सनाउल्लाह (Pakistan’s Home Minister Rana Sanaullah) ने कहा कि मदीना जैसी पवित्र इबादतगाह पर सियासी नारेबाजी करना ऐसा जुर्म है जिसे माफ नहीं किया जा सकता। अब इमरान खान (Imran Khan)और उनके साथियों को किसी भी वक्त गिरफ्तार किया जा सकता है। सऊदी अरब भी उनके खिलाफ सख्त कदम उठा सकता है।

जानें किन लोगों के खिलाफ दर्ज हुआ है केस

इमरान के अलावा फवाद चौधरी, शहबाज गिल, कासिम सूरी, शाहबजादा जहांगीर खान, अनील मुसर्रत और शेख रशीद के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। मदीना में नारेबाजी करने वाले शेख रशीद शफीक को सऊदी अरब से इस्लामाबाद लौटते वक्त एयरपोर्ट पर ही गिरफ्तार कर लिया गया है। शफीद इमरान सरकार (Imran Government)  में होम मिनिस्टर रहे शेख रशीद के भतीजे हैं। सभी लोगों पर पवित्र इबादतगाह पर नारेबाजी और मजहबी भावनाएं आहत करने का आरोप है। इन आरोपों के साबित होने पर 5 से 8 साल सजा और तगड़ा जुर्माना हो सकता है।

सऊदी अरब सरकार भी सख्त

पढ़ें :- Asaram Bapu News: आसाराम बापू को लगा बड़ा झटका, शिष्या से दुष्कर्म मामले में दोषी करार

तो वहीं दूसरी तरफ मदीना में नारेबाजी करने वाले इमरान के समर्थकों के खिलाफ सऊदी अरब ने सख्त रुख अपनाया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, 158 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनको 3 साल की सजा के साथ सऊदी मुद्रा रियाल में जुर्माना भी भरना होगा। सऊदी अरब सरकार ने पाकिस्तान की शहबाज शरीफ हुकूमत से उन लोगों की जानकारी मांगी है, जो पाकिस्तान या लंदन से मदीना पहुंचे थे। जो मंगलवार को उस वक्त मदीना में मौजूद थे, जब शहबाज शरीफ के खिलाफ चोर-चोर के नारे लगे थे। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि वो सऊदी द्वारा मांगी गई जानकारी देने जा रही है।

पाकिस्तान के राणा सनाउल्लाह ने जानें क्या कहा?

नई सरकार में गृहमंत्री राणा सनाउल्लाह (Home Minister Rana Sanaullah)ने रविवार दोपहर जियो न्यूज से बातचीत में साफ कर दिया कि तमाम आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। राणा ने कहा इसमें दो बातें हैं। पहली इन लोगों ने हमारी पवित्र इबादतगाह में सियासी नारेबाजी की और दूसरे लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई। दूसरी एक दूसरे मुल्क की धरती पर अपने मुल्क की बदनामी कराई। हम जांच कर रहे हैं और मुल्क से गद्दारी की कैटेगरी में रखा जा सकता है।

सूचना मंत्री का आरोप नारेबाजी के पीछे इमरान का हाथ

पाकिस्तान की सूचना मंत्री मरियम औरंगजेब (Pakistan’s Information Minister Maryam Aurangzeb) ने मदीना में हुए विरोध प्रदर्शन के पीछे पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan)का हाथ बताया। उन्होंने कहा कि मैं इस पाक जगह पर उस इंसान का नाम नहीं लूंगी, क्योंकि में इस जगह का इस्तेमाल राजनीति के लिए नहीं करना चाहती। इमरान खान ने पाकिस्तानी सोसायटी को बर्बाद कर दिया है।

पढ़ें :- UP News: गोरखनाथ मंदिर पर हमला करने वाले अहमद मुर्तजा को फांसी की सजा, कोर्ट ने सुनाया फैसला

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...