1. हिन्दी समाचार
  2. सोनिया गांधी के कहने पर राज्यसभा चुनाव लड़ रहे हैं पूर्व PM एचडी देवेगौड़ा, बेटा बोला- मनाना असान नही था

सोनिया गांधी के कहने पर राज्यसभा चुनाव लड़ रहे हैं पूर्व PM एचडी देवेगौड़ा, बेटा बोला- मनाना असान नही था

Former Pm Hd Deve Gowda Is Contesting The Rajya Sabha Elections At The Behest Of Sonia Gandhi Son Said It Was Not Easy To Celebrate

नई दिल्ली : जनता दल सेक्युलर (JDS) के संरक्षक एचडी देवेगौड़ा ने 19 जून को होने वाला राज्यसभा चुनाव कर्नाटक से लड़ने का फैसला किया है और इसके लिये वह मंगलवार को पर्चा दाखिल करेंगे. देवेगौड़ा के पुत्र एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने सोमवार को इसकी जानकारी दी. कुमारस्वामी ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, कई राष्ट्रीय नेताओं एवं पार्टी विधायकों के आग्रह के बाद यह निर्णय किया है. राज्यसभा में भेजने के लिये उन्हें “राजी” करना आसान काम नहीं था. कुमारस्वामी ने ट्वीट किया, ‘पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा ने पार्टी विधायकों एवं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जी तथा कई अन्य राष्ट्रीय नेताओं के आग्रह पर राज्य सभा चुनाव लड़ने का फैसला किया है. उन्होंने बताया कि वह कल पर्चा दाखिल करने जा रहे हैं. पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, ”सभी के प्रस्ताव पर सहमति जताने के लिये श्री देवेगौड़ा का धन्यवाद.”

पढ़ें :- मेरे नाम का बेजा इस्तेमाल करना बंद करें रिपब्लिकन समूह — डोनाल्ड ट्रंप

उन्हेांने कहा कि राज्यसभा में भेजने के लिये उन्हें “राजी” करना आसान काम नहीं था. कर्नाटक विधानसभा में जनता दल एस के पास 34 सीट है और अपने दम पर सीट जीतने की स्थिति में नहीं है और इसके लिये उसे कांग्रेस के समर्थन की आवश्यकता है. आपको बता कें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और डीके शिवकुमार की अगुवाई में कांग्रेस के विधायकों की आज बैठक हुई थी. जिसके बाद डीके शिवकुमार ने मीडिया से बातचीत में कहा कि उनकी पार्टी नहीं चाहती है कि कर्नाटक में बीजेपी का तीसरा प्रत्याशी जीते.

गौरतलब है कि राज्यसभा चुनाव को लेकर पूरे राज्य में खींचतान मची हुई है. गुजरात में कांग्रेस विधायकों की बचाने की चुनौती से जूझ रही है. दरअसल राज्यसभा में बीजेपी के पास अभी बहुमत नहीं है उसे अभी वहां बिलो को पास कराने के लिए अन्य दलों की समर्थन की जरूरत पड़ती है. कांग्रेस की कोशिश है कि बीजेपी को कम से कम राज्यसभा में ही कमजोर रखा जाए.

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...