पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत अब भी गंभीर, अस्पताल ने जारी किया हेल्थ अपडेट

Pranab Mukherjee
पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की तबियत बिगड़ी, फेफड़ों में हुआ संक्रमण, हालत गंभीर

नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके बाद उन्हें उपचार के लिए दिल्ली स्थित आर्मी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। यहां उनकी मस्तिष्क के थक्के के लिए आपातकालीन जीवन रक्षक सर्जरी की गई। सर्जरी के बाद भी उनकी हालत गंभीर बनी हुई है और वह वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं।

Former President Pranab Mukherjees Condition Still Critical Hospital Releases Health Update :

अस्पताल ने एक बयान में कहा है कि, पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को गंभीर हालत में 10 अगस्त को 12 बजे सेना के अस्पताल (R & R) दिल्ली कैंट में भर्ती कराया गया था। जांच के दौरान मास्तिष्क में खून के थक्के जमे होने की बात सामने आयी है। इसके बाद उनकी सर्जरी की गयी।

सर्जरी के बाद वह वेंटिलेटर पर हैं। उनकी स्थिति अब भी गंभीर हैं और वह कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। 84 वर्षीय पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कल ट्वीट कर कहा था कि, ‘अन्य कारणों से अस्पताल गया था, जहां पर कोविड-19 जांच में संक्रमित होने की पुष्टि हुई। मैं अनुरोध करता हूं कि जो लोग गत एक हफ्ते में मेरे संपर्क में आए हैं, वे सेल्फ क्वारंटाइन में चले जाएं और अपनी कोविड-19 की जांच कराएं।’

 

नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके बाद उन्हें उपचार के लिए दिल्ली स्थित आर्मी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। यहां उनकी मस्तिष्क के थक्के के लिए आपातकालीन जीवन रक्षक सर्जरी की गई। सर्जरी के बाद भी उनकी हालत गंभीर बनी हुई है और वह वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं। अस्पताल ने एक बयान में कहा है कि, पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को गंभीर हालत में 10 अगस्त को 12 बजे सेना के अस्पताल (R & R) दिल्ली कैंट में भर्ती कराया गया था। जांच के दौरान मास्तिष्क में खून के थक्के जमे होने की बात सामने आयी है। इसके बाद उनकी सर्जरी की गयी। सर्जरी के बाद वह वेंटिलेटर पर हैं। उनकी स्थिति अब भी गंभीर हैं और वह कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। 84 वर्षीय पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कल ट्वीट कर कहा था कि, 'अन्य कारणों से अस्पताल गया था, जहां पर कोविड-19 जांच में संक्रमित होने की पुष्टि हुई। मैं अनुरोध करता हूं कि जो लोग गत एक हफ्ते में मेरे संपर्क में आए हैं, वे सेल्फ क्वारंटाइन में चले जाएं और अपनी कोविड-19 की जांच कराएं।'