पूर्व राष्ट्रपति की बेटी ने चिदंबरम से पूछा- क्या हमने बीजेपी को हराने का ठेका आप को दे रखा है?

Sharmistha Mukherjee
पूर्व राष्ट्रपति की बेटी ने चिदंबरम से पूछा- क्या हमने बीजेपी को हराने का ठेका आप को दे रखा है?

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया है। करारी हार के बाद अब पार्टी के भीतर सिर विरोध स्वर मुखर होने लगे हैं। दिल्ली महिला कांग्रेस की चीफ शर्मिष्ठा मुखर्जी ने अपनी ही पार्टी के दिग्गज नेता और पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम को आड़े हाथों लिया है। दिल्ली चुनाव में बीजेपी की हार और आम आदमी पीर्टी की जीत पर उनके एक ट्वीट को लेकर शर्मिष्ठा जमकर फटकार लगाई है। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने पी चिंदबरम से पूछा है कि क्या हमने बीजेपी को हराने का ठेका आम आदमी पार्टी को दे दिया है।

Former Presidents Daughter Asked Chidambaram Have We Given The Contract To Defeat Bjp :

दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के एक दिन बाद कांग्रेस प्रवक्ता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने पी चिदंबरम पर हमला बोला है। उन्होंने पूछा कि अगर कांग्रेस ने आउटसोर्स ही कर लिया है तो हमें अपनी दुकान बंद कर देनी चाहिए। बुधवार को अपने ट्वीट में शर्मिष्ठा मुखर्जी ने लिखा कि ‘सम्मान के साथ, चिदंबरम सर मैं बस जानना चाहती हूं कि कांग्रेस ने राज्यों में बीजेपी को हराने का काम ठेके पर दे दिया है क्या? अगर नहीं, तो फिर हम अपनी हार के बजाय आम आदमी पार्टी की जीत पर गर्व क्यों कर रहे हैं? अगर आउटसोर्स किया है तो हमें अपनी दुकान को बंद कर देनी चाहिए।

बता दें कि पी चिदंबरम ने आम आदमी पार्टी की जीत पर ट्वीट करके खुशी का इजहार किया था। उन्होंने ट्वीट किया था कि ‘आप की जीत हुई, बेवकूफ बनाने तथा फेंकने वालों की हार। मैं दिल्ली के लोगों को सलाम करता हूं जिन्होंने 2021 और 2022 में अन्य राज्यों जहां चुनाव होंगे के लिए मिसाल पेश की है।

पी चिदबंरम ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की जीत को विपक्ष का हौसला बढ़ाने वाला परिणाम करार दिया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अगर मतदाता उन राज्यों के विचारों का प्रतिनिधित्व करते हैं जहां से वे आए थे, तो दिल्ली का मत विपक्ष का विश्वास बढ़ाने वाला है कि भाजपा को हर राज्य में हराया जा सकता है। दिल्ली का वोट राज्य विशेष के वोट की तुलना में अखिल भारतीय वोट है क्योंकि दिल्ली एक मिनी इंडिया है।

चिदंबरम ने कहा कि ‘याद कीजिए, जब दिल्ली में मतदान हुआ था तब लाखों मलयाली, तमिल, तेलुगु, बंगाली, गुजराती और भारत के अन्य राज्यों से आए लोगों ने मतदान किया था। बता दें कि इस चुनाव में आम आदमी पार्टी को 62 सीटें मिली हैं, वहीं बीजेपी 8 सीटें हासिल कर पाई। मगर कांग्रेस का खाता भी नहीं खुल सका।

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया है। करारी हार के बाद अब पार्टी के भीतर सिर विरोध स्वर मुखर होने लगे हैं। दिल्ली महिला कांग्रेस की चीफ शर्मिष्ठा मुखर्जी ने अपनी ही पार्टी के दिग्गज नेता और पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम को आड़े हाथों लिया है। दिल्ली चुनाव में बीजेपी की हार और आम आदमी पीर्टी की जीत पर उनके एक ट्वीट को लेकर शर्मिष्ठा जमकर फटकार लगाई है। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने पी चिंदबरम से पूछा है कि क्या हमने बीजेपी को हराने का ठेका आम आदमी पार्टी को दे दिया है। दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के एक दिन बाद कांग्रेस प्रवक्ता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने पी चिदंबरम पर हमला बोला है। उन्होंने पूछा कि अगर कांग्रेस ने आउटसोर्स ही कर लिया है तो हमें अपनी दुकान बंद कर देनी चाहिए। बुधवार को अपने ट्वीट में शर्मिष्ठा मुखर्जी ने लिखा कि 'सम्मान के साथ, चिदंबरम सर मैं बस जानना चाहती हूं कि कांग्रेस ने राज्यों में बीजेपी को हराने का काम ठेके पर दे दिया है क्या? अगर नहीं, तो फिर हम अपनी हार के बजाय आम आदमी पार्टी की जीत पर गर्व क्यों कर रहे हैं? अगर आउटसोर्स किया है तो हमें अपनी दुकान को बंद कर देनी चाहिए। बता दें कि पी चिदंबरम ने आम आदमी पार्टी की जीत पर ट्वीट करके खुशी का इजहार किया था। उन्होंने ट्वीट किया था कि 'आप की जीत हुई, बेवकूफ बनाने तथा फेंकने वालों की हार। मैं दिल्ली के लोगों को सलाम करता हूं जिन्होंने 2021 और 2022 में अन्य राज्यों जहां चुनाव होंगे के लिए मिसाल पेश की है। पी चिदबंरम ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की जीत को विपक्ष का हौसला बढ़ाने वाला परिणाम करार दिया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अगर मतदाता उन राज्यों के विचारों का प्रतिनिधित्व करते हैं जहां से वे आए थे, तो दिल्ली का मत विपक्ष का विश्वास बढ़ाने वाला है कि भाजपा को हर राज्य में हराया जा सकता है। दिल्ली का वोट राज्य विशेष के वोट की तुलना में अखिल भारतीय वोट है क्योंकि दिल्ली एक मिनी इंडिया है। चिदंबरम ने कहा कि 'याद कीजिए, जब दिल्ली में मतदान हुआ था तब लाखों मलयाली, तमिल, तेलुगु, बंगाली, गुजराती और भारत के अन्य राज्यों से आए लोगों ने मतदान किया था। बता दें कि इस चुनाव में आम आदमी पार्टी को 62 सीटें मिली हैं, वहीं बीजेपी 8 सीटें हासिल कर पाई। मगर कांग्रेस का खाता भी नहीं खुल सका।