भीड़ हिंसा को लेकर चिंतित पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कहा-इससे समाज को पहुंचेगा नुकसान

manmohan singh
भीड़ हिंसा को लेकर चिंतित पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कहा-इससे समाज को पहुंचेगा नुकसान

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भिड़ हिंसा को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि, पिछले कुछ सालों में परेशन करने वाला कुछ ट्रेंड दिखाई दे रहा है। बढ़ती असहिष्णुता, सांप्रदायिक ध्रुवीकरण, हिंसक अपराधें की बढ़ती घटनाओं और कुछ भीड़ द्वारा प्रेरित हिंसा की प्रवृतियां हमारी राजनीति और समाज को नुकसान पहुंचाएंगे। उन्‍होंने कहा कि हमें पूर्व प्रधानमंत्री स्‍व. राजीव गांधी के रास्ते पर चलना होगा। वह शांति, एकीकरण और सांप्रदायिक सौहार्द को मजबूती देने के पक्षधर थे।

Former Prime Minister Manmohan Singh Worried About Mob Violence :

गौरतलब है कि आज देशभर में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 75वीं जयंती मनाई जा रही है। 20 अगस्त 1944 को जन्मे राजीव गांधी सबसे कम उम्र में देश के प्रधानमंत्री बने थे। वह अक्टूबर 1984 से 1989 दिसंबर तक भारत के प्रधानमंत्री रहे। दिल्ली स्थित उनकी समाधि वीर भूमि पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और रॉबर्ट वाड्रा ने उन्हें श्रद्धांजलि दी।

प्रधानमंत्री मोदी ने भी ट्वीट करके पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को श्रद्धांजलि दी। प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा कि हमारे पूर्व पीएम राजीव गांधी को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि। कांग्रेस इस दिन को ‘सद्भावना दिवस’ के रूप में मनाती है। गौरतलब है कि, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह राजस्थान में राज्यसभा की एक सीट के लिए हुए उपचुनाव में निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं।

राज्यसभा की एक सीट के लिए एक ही उम्‍मीदवार मनमोहन सिंह ने नामांकन पत्र दाखिल किया था। नाम वापसी का समय निकल जाने के बाद एक उम्मीदवार ही चुनाव मैदान में रहने के कारण उन्हें निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया।

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भिड़ हिंसा को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि, पिछले कुछ सालों में परेशन करने वाला कुछ ट्रेंड दिखाई दे रहा है। बढ़ती असहिष्णुता, सांप्रदायिक ध्रुवीकरण, हिंसक अपराधें की बढ़ती घटनाओं और कुछ भीड़ द्वारा प्रेरित हिंसा की प्रवृतियां हमारी राजनीति और समाज को नुकसान पहुंचाएंगे। उन्‍होंने कहा कि हमें पूर्व प्रधानमंत्री स्‍व. राजीव गांधी के रास्ते पर चलना होगा। वह शांति, एकीकरण और सांप्रदायिक सौहार्द को मजबूती देने के पक्षधर थे। गौरतलब है कि आज देशभर में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 75वीं जयंती मनाई जा रही है। 20 अगस्त 1944 को जन्मे राजीव गांधी सबसे कम उम्र में देश के प्रधानमंत्री बने थे। वह अक्टूबर 1984 से 1989 दिसंबर तक भारत के प्रधानमंत्री रहे। दिल्ली स्थित उनकी समाधि वीर भूमि पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और रॉबर्ट वाड्रा ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। प्रधानमंत्री मोदी ने भी ट्वीट करके पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को श्रद्धांजलि दी। प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा कि हमारे पूर्व पीएम राजीव गांधी को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि। कांग्रेस इस दिन को 'सद्भावना दिवस' के रूप में मनाती है। गौरतलब है कि, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह राजस्थान में राज्यसभा की एक सीट के लिए हुए उपचुनाव में निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। राज्यसभा की एक सीट के लिए एक ही उम्‍मीदवार मनमोहन सिंह ने नामांकन पत्र दाखिल किया था। नाम वापसी का समय निकल जाने के बाद एक उम्मीदवार ही चुनाव मैदान में रहने के कारण उन्हें निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया।