सपा के पूर्व राज्यसभा सांसद संजय सेठ और सुरेंद्र सिंह नागर बीजेपी में शामिल

samjay setha
सपा के पूर्व राज्यसभा सांसद संजट सेठ और सुरेंद्र सिंह नागर बीजेपी में शामिल

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के पूर्व राज्यसभा सांसद सुरेंद्र नागर और संजय सेठ आज बीजेपी में शामिल हो गए हैं। दोनों ने राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हुए हैं। बीजेपी के महासचिव भूपेंद्र यादव ने दोनों नेताओं को पार्टी की सदस्यता दिलाई। संजय सेठ सपा अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बेहद करीबियों में गिने जाते थे। ऐसे में उनके बीजेपी में जाने के बाद सपा को बड़ा झटका लगा है।

Former Sps Rajya Sabha Mp Sanjay Seth And Surendra Singh Nagar Join Bjp :

वहीं, इससे पहले सपा के राज्यसभा सदस्य नीरज शेखर भी पार्टी और राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हुए थे। दोनों नेताओं को पार्टी की सदस्यता दिलाने के दौरान भूपेंद्र यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में देश के विकास में शामिल होने के लिए ये दोनों नेता आज बीजेपी में शामिल हुए हैं। मोदी जी के नेतृत्व पर इन्हें विश्वास है।

सुरेंद्र नागर पश्चिमी उत्तर प्रदेश का बड़ा चेहरा रहे हैं। संजय सेठ भी प्रमुख पद पर सपा में रहे हैं। आज समाजवादी पार्टी लोहिया जी की विचारधारा से अलग है। ऐसी पार्टी छोड़कर ये बीजेपी में आये हैं। गौरतलब है कि, संजय सेठ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष भी थे।

उनके यादव परिवार के साथ बहुत ही पारिवारिक संबंध थे। सेठ का कार्यकाल 2022 तक था। संजय सेठ सेंट्रल उत्तर प्रदेश में सबसे बड़े बिल्डरों में से एक हैं। बताया जाता है कि संजय सेठ मुलायम सिंह यादव के छोटे बेटे प्रतीक यादव के बिजनस पार्टनर भी हैं।

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के पूर्व राज्यसभा सांसद सुरेंद्र नागर और संजय सेठ आज बीजेपी में शामिल हो गए हैं। दोनों ने राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हुए हैं। बीजेपी के महासचिव भूपेंद्र यादव ने दोनों नेताओं को पार्टी की सदस्यता दिलाई। संजय सेठ सपा अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बेहद करीबियों में गिने जाते थे। ऐसे में उनके बीजेपी में जाने के बाद सपा को बड़ा झटका लगा है। वहीं, इससे पहले सपा के राज्यसभा सदस्य नीरज शेखर भी पार्टी और राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हुए थे। दोनों नेताओं को पार्टी की सदस्यता दिलाने के दौरान भूपेंद्र यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में देश के विकास में शामिल होने के लिए ये दोनों नेता आज बीजेपी में शामिल हुए हैं। मोदी जी के नेतृत्व पर इन्हें विश्वास है। सुरेंद्र नागर पश्चिमी उत्तर प्रदेश का बड़ा चेहरा रहे हैं। संजय सेठ भी प्रमुख पद पर सपा में रहे हैं। आज समाजवादी पार्टी लोहिया जी की विचारधारा से अलग है। ऐसी पार्टी छोड़कर ये बीजेपी में आये हैं। गौरतलब है कि, संजय सेठ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष भी थे। उनके यादव परिवार के साथ बहुत ही पारिवारिक संबंध थे। सेठ का कार्यकाल 2022 तक था। संजय सेठ सेंट्रल उत्तर प्रदेश में सबसे बड़े बिल्डरों में से एक हैं। बताया जाता है कि संजय सेठ मुलायम सिंह यादव के छोटे बेटे प्रतीक यादव के बिजनस पार्टनर भी हैं।