फोर्टिस अस्पताल की बड़ी लापरवाही, महिला की जगह थमा दिया पुरुष का शव

फोर्टिस अस्पताल , fortis hospital
फोर्टिस अस्पताल की बड़ी लापरवाही, महिला की जगह थमा दिया पुरुष का शव

नई दिल्ली। नोएडा के सेक्टर-62 स्थित फोर्टिस अस्पताल की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। दरअसल दादरी की रहने वाली एक 54 वर्षीय महिला को किड़नी और लीवर की समस्या थी जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई थी। महिला की मौत के बाद अस्पताल प्रबंधन ने लापरवाही बरतते हुए महिला की जगह पुरुष का शव उसके घर भेज दिया।

Fortis Hospital Hand Over Man Deadbody In Place Of Woman Deadbody :

बादलपुर कोतवाली क्षेत्र के महावड़ गांव की रहने वाली बाला देवी लंबे समय से बीमार चल रही थी जिसे नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान अस्पताल में महिला की 18 अगस्त को मौत हो गई। अस्पताल ने शव को कपड़े में सील करके शवगृह में रख दिया। परिजन जब शव लेकर घर पहुंचे तब वहां हैरान कर देने वाला दृश्य सामने आया। शव को जब खोला गया तो वहां महिला की जगह पुरुष का शव निकाला उसके बाद परिजन अस्पताल पहुंचे और वहां जमकर हंगामा किया। जिसके बाद अस्पताल ने महिला का शव दिया। आनन-फानन में परिजन व ग्रामीण शव लेकर वापस अस्पताल पहुंचे। परिजनों ने गांव ले जाकर अंतिम संस्कार कर दिया।

शव बदलने के मामले की सूचना मिली है, लेकिन किसी की ओर से अभी तक अस्पताल के खिलाफ शिकायत नहीं दी गई है। यदि परिजनों की ओर से इस संबंध में कोई शिकायत आएगी तो जांच करके संबंधित धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। इसके बाद ही आगे की कार्रवाई होगी।

नई दिल्ली। नोएडा के सेक्टर-62 स्थित फोर्टिस अस्पताल की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। दरअसल दादरी की रहने वाली एक 54 वर्षीय महिला को किड़नी और लीवर की समस्या थी जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई थी। महिला की मौत के बाद अस्पताल प्रबंधन ने लापरवाही बरतते हुए महिला की जगह पुरुष का शव उसके घर भेज दिया।बादलपुर कोतवाली क्षेत्र के महावड़ गांव की रहने वाली बाला देवी लंबे समय से बीमार चल रही थी जिसे नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान अस्पताल में महिला की 18 अगस्त को मौत हो गई। अस्पताल ने शव को कपड़े में सील करके शवगृह में रख दिया। परिजन जब शव लेकर घर पहुंचे तब वहां हैरान कर देने वाला दृश्य सामने आया। शव को जब खोला गया तो वहां महिला की जगह पुरुष का शव निकाला उसके बाद परिजन अस्पताल पहुंचे और वहां जमकर हंगामा किया। जिसके बाद अस्पताल ने महिला का शव दिया। आनन-फानन में परिजन व ग्रामीण शव लेकर वापस अस्पताल पहुंचे। परिजनों ने गांव ले जाकर अंतिम संस्कार कर दिया।शव बदलने के मामले की सूचना मिली है, लेकिन किसी की ओर से अभी तक अस्पताल के खिलाफ शिकायत नहीं दी गई है। यदि परिजनों की ओर से इस संबंध में कोई शिकायत आएगी तो जांच करके संबंधित धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। इसके बाद ही आगे की कार्रवाई होगी।