लखनऊ : पुराने शहर को जल्द ही मिलेगी जाम के झाम से मुक्ति

cm yogi and rajnath singh
लखनऊ : पुराने शहर को जल्द ही मिलेगी जाम के झाम से मुक्ति

लखनऊ। लखनऊ के चौक स्थित शाहमीना रोड अटल कन्वेंशन सेंटर में सीएम योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में केंद्रीय गृहमंत्री और सांसद राजनाथ सिंह ने शहरवासियों को चार फ्लाइओवर की सौगात दी। अब पुराने शहर को जाम से मुक्ति हो गई है। बता दें कि रविवार को लखनऊ मंडल की 939 करोड़ रुपये की 308 विकास परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण किया गया।

Foundation Of Three Flyovers In Old Lucknow Today By Cm Yogi And Rajnath Singh :

कार्यक्रम के दौरान गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने जितनी जल्दी हो सकता था, विकास परियोजनाओं को अंतिम रूप दिया। जिसके लिए वो बधाई के पात्र हैं। ये यूपी के लिए यह एक ऐतिहासिक क्षण है। सीएम योगी आदित्यनाथ को शुक्रिया अदा करते हुए उन्होने कहा कि वो विकास के प्रति समर्पित हैं। उन्ही के द्वारा मेधावी बच्चों के गाव पक्की सड़क से जुड़ रहे हैं। उनके इस कदम की जितनी सराहना की जाए उतनी कम है। कार्यक्रम में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन भी मौजूद रहे।

वहीं, कार्यक्रम में योगी आदित्यनाथ और गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड-2018 के मेधावी छात्रों से मुलाकात की। इस दौरान डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि संस्कृत में जिन विद्यार्थियों ने अच्छे अंक अर्जित किये उनके घर तक मार्ग बनेगा। प्रदेश के इतिहास में पहली बार छह किमी. लंबा एलीवेटेड हाइवे का लखनऊ के लिए शिलान्यास किया गया है।

इन एलीवेटेड मार्गो का शिलान्यास:
शहीद पथ से एयरपोर्ट को जोड़ने वाले एलीवेटेड मार्गा का शिलान्यास – लागत- 134.69 करोड़ रुपए।
गुरू गोविंद सिंह मार्ग पर हुसैनगंज चौराहा-बासमंडी चौराहा नाका हिंडोला चौराहा- डीएवी कॉलेज के मध्य 03 लेन फ्लाई ओवर का निर्माण – लागत- 123.80 करोड़ रुपए।
तुलसीदास मार्ग विक्टोरिया स्ट्रीट पर हैदरगंज तिराहे से मीना बेकरी से पूर्व तक दो लेन फ्लाई ओवर का निर्माण – लागत- 40.43 करोड़ रुपए।
चरक चौराहा- हैदरगंज चौराहा-चरक क्रासिंग विक्रम काटन मिल रोड के मध्य दो दो लेन फ्लाई ओवर का निर्माण – लागत- 110.15 करोड़ रुपए।

लखनऊ। लखनऊ के चौक स्थित शाहमीना रोड अटल कन्वेंशन सेंटर में सीएम योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में केंद्रीय गृहमंत्री और सांसद राजनाथ सिंह ने शहरवासियों को चार फ्लाइओवर की सौगात दी। अब पुराने शहर को जाम से मुक्ति हो गई है। बता दें कि रविवार को लखनऊ मंडल की 939 करोड़ रुपये की 308 विकास परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण किया गया।कार्यक्रम के दौरान गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने जितनी जल्दी हो सकता था, विकास परियोजनाओं को अंतिम रूप दिया। जिसके लिए वो बधाई के पात्र हैं। ये यूपी के लिए यह एक ऐतिहासिक क्षण है। सीएम योगी आदित्यनाथ को शुक्रिया अदा करते हुए उन्होने कहा कि वो विकास के प्रति समर्पित हैं। उन्ही के द्वारा मेधावी बच्चों के गाव पक्की सड़क से जुड़ रहे हैं। उनके इस कदम की जितनी सराहना की जाए उतनी कम है। कार्यक्रम में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन भी मौजूद रहे।वहीं, कार्यक्रम में योगी आदित्यनाथ और गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड-2018 के मेधावी छात्रों से मुलाकात की। इस दौरान डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि संस्कृत में जिन विद्यार्थियों ने अच्छे अंक अर्जित किये उनके घर तक मार्ग बनेगा। प्रदेश के इतिहास में पहली बार छह किमी. लंबा एलीवेटेड हाइवे का लखनऊ के लिए शिलान्यास किया गया है।इन एलीवेटेड मार्गो का शिलान्यास: शहीद पथ से एयरपोर्ट को जोड़ने वाले एलीवेटेड मार्गा का शिलान्यास - लागत- 134.69 करोड़ रुपए। गुरू गोविंद सिंह मार्ग पर हुसैनगंज चौराहा-बासमंडी चौराहा नाका हिंडोला चौराहा- डीएवी कॉलेज के मध्य 03 लेन फ्लाई ओवर का निर्माण - लागत- 123.80 करोड़ रुपए। तुलसीदास मार्ग विक्टोरिया स्ट्रीट पर हैदरगंज तिराहे से मीना बेकरी से पूर्व तक दो लेन फ्लाई ओवर का निर्माण - लागत- 40.43 करोड़ रुपए। चरक चौराहा- हैदरगंज चौराहा-चरक क्रासिंग विक्रम काटन मिल रोड के मध्य दो दो लेन फ्लाई ओवर का निर्माण - लागत- 110.15 करोड़ रुपए।