झोपड़ियों में लगी भीषण आग, एक ही परिवार के 4 लोग जिंदा जले

Four Family Members Died In Fire Accident

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के तालकटोेरा क्षेत्र में शनिवार सुबह एक झोपडी में आग लगने से एक ही परिवार के चार सदस्यों की जलकर मृत्यु हो गई। जानकारी के मुताबिक राजाजीपुरम सी ब्लॉक में क्षत्रियमल मैरिज हाल के पास सरकारी जमीन पर पडी झोपड़पट्टी में प्रेम पण्डित की झोपडी में आग लग गई। शनिवार सुबह करीब दो बजे प्रेम सागर की झोपड़ी में आग लग गई।




आग इतनी भयानक थी कि पास-पड़ोस की झुग्गियों को भी चपेट में ले लिया। पड़ोसियों की आंख खुल गई और वे झोपड़ी से निकलकर बाहर भागे। धीरे-धीरे चार और झोपड़ियां जलकर राख हो गईं। इस हादसे में प्रेम पण्डित की पत्नी रत्ना (45) पुत्री बबली (14), प्रियंका (12) और आठ वर्षीय पुत्र सुधीर की झुलसकर मृत्यु हो गई। उन्होंने बताया कि इस घटना में रसीद अहमद, सुनील, इरफान और बाबू उर्फ जुम्मन की भी झोेपडी जल गई।




सूचना पर आलमबाग से 3 फायरब्रिगेड की गाड़ियां पहुंची लेकिन गृहस्थी का सारा सामान खाक हो चुका था। उन्होंने बताया कि प्रथमदृष्टया अलाव जलाने के की वजह से यह हादसा हुआ। आग लगने के बाद सभी लोग भाग गये लेकिन बाद में पता चला कि प्रेम पण्डित के पत्नी और बच्चे झोपडी के भीतर जली अवस्था में मिले। उन्होंने बताया कि सभी झोपडी पॉलीथीन से बनी थीं । आग से हुई क्षति का आकलन किया जा रहा है। शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए गये हैं। आग किस वजह से लगी इस बात जानकारी अभी नहीं हो सकी।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के तालकटोेरा क्षेत्र में शनिवार सुबह एक झोपडी में आग लगने से एक ही परिवार के चार सदस्यों की जलकर मृत्यु हो गई। जानकारी के मुताबिक राजाजीपुरम सी ब्लॉक में क्षत्रियमल मैरिज हाल के पास सरकारी जमीन पर पडी झोपड़पट्टी में प्रेम पण्डित की झोपडी में आग लग गई। शनिवार सुबह करीब दो बजे प्रेम सागर की झोपड़ी में आग लग गई। आग इतनी भयानक थी कि पास-पड़ोस की झुग्गियों को भी चपेट में ले लिया। पड़ोसियों की आंख खुल गई और वे झोपड़ी से निकलकर बाहर भागे। धीरे-धीरे चार और झोपड़ियां जलकर राख हो गईं। इस हादसे में प्रेम पण्डित की पत्नी रत्ना (45) पुत्री बबली (14), प्रियंका (12) और आठ वर्षीय पुत्र सुधीर की झुलसकर मृत्यु हो गई। उन्होंने बताया कि इस घटना में रसीद अहमद, सुनील, इरफान और बाबू उर्फ जुम्मन की भी झोेपडी जल गई। सूचना पर आलमबाग से 3 फायरब्रिगेड की गाड़ियां पहुंची लेकिन गृहस्थी का सारा सामान खाक हो चुका था। उन्होंने बताया कि प्रथमदृष्टया अलाव जलाने के की वजह से यह हादसा हुआ। आग लगने के बाद सभी लोग भाग गये लेकिन बाद में पता चला कि प्रेम पण्डित के पत्नी और बच्चे झोपडी के भीतर जली अवस्था में मिले। उन्होंने बताया कि सभी झोपडी पॉलीथीन से बनी थीं । आग से हुई क्षति का आकलन किया जा रहा है। शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए गये हैं। आग किस वजह से लगी इस बात जानकारी अभी नहीं हो सकी।