बिहार में बॉयलर फटने से चार की मौत, पांच घायल

बॉयलर फटने से चार की मौत
बिहार में बॉयलर फटने से चार की मौत, पांच घायल

पटना। बिहार के मोतिहारी जिले में शनिवार सुबह एनजीओ के एक किचन में बॉयलर फटने से चार लोगों की मौत हो गई है। वहीं पांच से ज्यादा लोग बुरी तरह झुलस गए। यह हादसा शनिवार सुबह सुगौली में हुआ। घायलों को अस्पताल में भर्ती किया गया है, जहां उनकी हालत चिंताजनक बनीं हुई है। घटनास्थल पर राहत और बचाव का कार्य जारी है। सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई है।

Four Killed Five Injured In Boiler Explosion In Bihar :

जानकारी के अनुसार घटना उस समय घटी जब कुछ कर्मचारी सरकारी विद्यालयों में बच्चों के लिए मिड डे मील सप्लाई करने वाले एनजीओ की रसोई में खाना बना रहे थे। सुगौली नगर परिषद के स्कूलों के लिए खाना बनाया जा रहा था। इसी बीच सुबह करीब पांच बजे बॉयलर में धमाका हो गया। जिसके कारण मकान के परखच्चे उड़ गए। घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। विस्फोट की आवाज सुनने के बाग पूरे इलाके में दहशत का माहौल पैदा हो गया।

घटनास्थल पर लोगों की भीड़ लग गई। स्थानीय लोगों ने आनन-फानन में पुलिस को घटना की जानकारी दी। सूचना मिलने के बाद स्थानीय प्रशासन के साथ-साथ पूर्व पूर्व वन एवं पर्यावरण मंत्री विधायक रामचंद्र सहनी भी मौके पर पहुंचे और घटना का जायजा लिया।

पटना। बिहार के मोतिहारी जिले में शनिवार सुबह एनजीओ के एक किचन में बॉयलर फटने से चार लोगों की मौत हो गई है। वहीं पांच से ज्यादा लोग बुरी तरह झुलस गए। यह हादसा शनिवार सुबह सुगौली में हुआ। घायलों को अस्पताल में भर्ती किया गया है, जहां उनकी हालत चिंताजनक बनीं हुई है। घटनास्थल पर राहत और बचाव का कार्य जारी है। सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई है। जानकारी के अनुसार घटना उस समय घटी जब कुछ कर्मचारी सरकारी विद्यालयों में बच्चों के लिए मिड डे मील सप्लाई करने वाले एनजीओ की रसोई में खाना बना रहे थे। सुगौली नगर परिषद के स्कूलों के लिए खाना बनाया जा रहा था। इसी बीच सुबह करीब पांच बजे बॉयलर में धमाका हो गया। जिसके कारण मकान के परखच्चे उड़ गए। घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। विस्फोट की आवाज सुनने के बाग पूरे इलाके में दहशत का माहौल पैदा हो गया। घटनास्थल पर लोगों की भीड़ लग गई। स्थानीय लोगों ने आनन-फानन में पुलिस को घटना की जानकारी दी। सूचना मिलने के बाद स्थानीय प्रशासन के साथ-साथ पूर्व पूर्व वन एवं पर्यावरण मंत्री विधायक रामचंद्र सहनी भी मौके पर पहुंचे और घटना का जायजा लिया।