चंद्रबाबू नायडू को लगा बड़ा झटका, चार राज्यसभा सांसद टीडीपी छोड़ बीजेपी में होंगे शामिल !

chandar babu
चंद्रबाबू नायडू को लगा बड़ा झटका, चार राज्यसभा सांसद टीडीपी छोड़ बीजेपी में होंगे शामिल

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद आंध्र प्रदेश के पूर्व सीएम और तेलगु देशम पार्टी के अध्यक्ष एन चंद्रबाबू नायडू को बड़ा झटका लगा है। उनकी पार्टी के चार राज्यसभा सदस्य इस्तीफा देकर टीडीपी छोड़ने वाले हैं। सूत्रों के मुताबिक, टीडीपी से राज्यसभा सदस्य सीएम रमेश, टीजी वेंटकेश, जी मोहन राव और वाईएस चौधरी टीडीपी को छोड़ने वाले हैं।

Four Rajya Sabha Mps Will Join Bjp :

सूत्रों की माने तो यह सभी जल्द ही बीजेपी की सदस्यता लेंगे। बताया जा रहा है कि टीडीपी के राज्यसभा के कुल 6 में से 4 सदस्य अगर पार्टी छोड़ते हैं तो दल बदल कानून लागू नहीं होगा। ऐसे में वे राज्यसभा के सदस्य भी बने रहेंगे। वहीं इस बीच राज्यसभा सांसद वाईएस चौधरी ने ट्वीट कर साफ कर दिया ​है कि वह बीजेपी में शामिल होने जा रहे हैंं। बता दें कि हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में टीडीपी का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा।

पार्टी आंध्र प्रदेश की 25 लोकसभा सीटों में महज 3 ही सीटें जीत पाई जबकि वाईएसआर कांग्रेस ने 22 सीटों पर कब्जा किया। वहीं विधानसभा चुनावों में टीडीपी ने प्रदेश की 175 सीटों में से महज 23 सीटें ही जीतीं। सबसे ज्यादा सीटें 151 वाईएसआर कांग्रेस के खाते में आईं। जनसेना पार्टी ने एक सीट पर कब्जा किया।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद आंध्र प्रदेश के पूर्व सीएम और तेलगु देशम पार्टी के अध्यक्ष एन चंद्रबाबू नायडू को बड़ा झटका लगा है। उनकी पार्टी के चार राज्यसभा सदस्य इस्तीफा देकर टीडीपी छोड़ने वाले हैं। सूत्रों के मुताबिक, टीडीपी से राज्यसभा सदस्य सीएम रमेश, टीजी वेंटकेश, जी मोहन राव और वाईएस चौधरी टीडीपी को छोड़ने वाले हैं। सूत्रों की माने तो यह सभी जल्द ही बीजेपी की सदस्यता लेंगे। बताया जा रहा है कि टीडीपी के राज्यसभा के कुल 6 में से 4 सदस्य अगर पार्टी छोड़ते हैं तो दल बदल कानून लागू नहीं होगा। ऐसे में वे राज्यसभा के सदस्य भी बने रहेंगे। वहीं इस बीच राज्यसभा सांसद वाईएस चौधरी ने ट्वीट कर साफ कर दिया ​है कि वह बीजेपी में शामिल होने जा रहे हैंं। बता दें कि हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में टीडीपी का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा। पार्टी आंध्र प्रदेश की 25 लोकसभा सीटों में महज 3 ही सीटें जीत पाई जबकि वाईएसआर कांग्रेस ने 22 सीटों पर कब्जा किया। वहीं विधानसभा चुनावों में टीडीपी ने प्रदेश की 175 सीटों में से महज 23 सीटें ही जीतीं। सबसे ज्यादा सीटें 151 वाईएसआर कांग्रेस के खाते में आईं। जनसेना पार्टी ने एक सीट पर कब्जा किया।