गड़बड़घोटाला: भूख से मर रहे गरीब, हजारों कुंतल राशन डकार रहे अनाज माफिया

posan abhiyan up
गड़बड़घोटाला: भूख से मर रहे गरीब, हजारों कुंतल राशन डकार रहे अनाज माफिया

Fraud In Distribution Grain In Up Cm Give Ultimation To Distributers

लखनऊ । गरीब परिवारों के लिए सस्ते दामों पर अनाज उपलब्ध कराने की योजना पर अनाज की कालाबाजारी करने वाले लोग बट्टा लग रहे है। आलम ये है कि सस्ते गल्ले की दुकान चलाने वाले कोटेदार गरीबों को मिलने वाला राशन बाजार में बेंच रहे। चंद पैसों के लिए ये कोटेदार अच्छी क्वालिटी का राशन उंचे दामों में बेंचकर गरीबों को सड़ा गल्ला मुहैया करा रहे है। इसके अलावा गरीबों का राशन गबन करने के लिए ये लोेग और भी कई तरह के हथकंडे अपनाते हैं। प्रदेश के कई जिलों में पकड़े जाने पर इसका खुलासा भी हुआ है।

बता दें कि हाल ही नोएडा में 100 से अधिक आधार नंबर से छेड़छाड़ कर लाखों रुपये के सरकारी राशन के घोटाले का मामला सामने आया है। इन घोटालेबाजों ने राशन की कालाबाजारी रोकने के लिए एक साल पहले प्रदेश में शुरू की गई आधार ऑथेंटिकेशन वाली एफपीएस ऑटोमेशन व्यवस्था में भी सेंध लगा दी। माना जा रहा है कि इसमें कोटेदारों के साथ-साथ विभाग के अफसर व निजी कंपनी के ऑपरेटर भी शामिल हैं। गुरुवार को इन मामलों जिला पूर्ति विभाग ने 6 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई।

इसके अलावा हाथरस जिले में पिछले दिनों सासनी क्षेत्र में 355 बोरे चावल के पुलिस अधिकारियों द्वारा रुदायन रोड से पकड़े गए थे। इस मामले में विभाग की ओर कोतवाली सासनी में एफआईआर दर्ज भी कराई गई थी। इस मामले में डीएम डॉ. रमाशंकर मौर्य ने गंभीरता बरतते हुए स्टॉक को चेक करने और पकड़े गए खाद्यान्न के आने की जानकारी को लेकर जांच के निर्देश दिए थे। विभाग की ओर से इस मामले में जांच के नाम फाइल तो शुरू की गई, लेकिन यह खाद्यान्न कहां से आया, इसका पता नहीं चल सका है। अब यह खाद्यान्न फिर से सवालों के घेरे में है।

मुख्यमंत्री ने कोटेदारों को दिया अल्टीमेटम

प्रदेश के कई जिलों से लगातार मिल रही कालाबाजारी की शिकायतों के बाद से सीएम योगी आदित्यनाथ काफी नाराज है। शनिवार को राजधानी के साइंटिफिक कन्वेंशन सेंटर में पोषण अभियान और सुपोषण स्वास्थ्य मेले के शुभारंभ के मौके पर उन्होने कहा कि प्रदेश में कोटेदारी की व्यवस्था जल्द ही समाप्त कर दी जाएगी। सब्सिडी की राशि सीधे लाभार्थियों के खातों में भेजी जाएगी। कोटेदारों को अल्टीमेटम देते हुए उन्होने कहा कि वो लोग अब कोई दूसरा व्यवसाय देख लें।

तो भूख से नही मरेगा कोई गरीब

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में छह विभाग मिलकर पोषण अभियान चला रहे हैं। सभी विभागों को अलग—अलग काम करने की जिम्मेदारी दी गई, जिससे कि पोषण मिशन ज्यादा कारगर हो सके। उनके मुताबिक अगर शासन की योजनाएं ईमानदारी से नीचे तक पहुंचे तो प्रदेश में भूख से कोई नही मरेगा।

लखनऊ । गरीब परिवारों के लिए सस्ते दामों पर अनाज उपलब्ध कराने की योजना पर अनाज की कालाबाजारी करने वाले लोग बट्टा लग रहे है। आलम ये है कि सस्ते गल्ले की दुकान चलाने वाले कोटेदार गरीबों को मिलने वाला राशन बाजार में बेंच रहे। चंद पैसों के लिए ये कोटेदार अच्छी क्वालिटी का राशन उंचे दामों में बेंचकर गरीबों को सड़ा गल्ला मुहैया करा रहे है। इसके अलावा गरीबों का राशन गबन करने के लिए ये लोेग और भी कई तरह…