OMG: मौत का खौफ दिखाकर छात्र से की गयी लाखों की ठगी

a

लखनऊ।
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गाजीपुर इलाके में तांत्रिक बन दो टप्पेबाजों ने कोचिंग जा रहे एक छात्रा को उसके माता-पिता की मौत का भय दिखाते हुए घर से पूजा पाठ के नाम पर लाखों के जेवरात और नकदी मंगवा लिया। इसके बाद आरोपियों ने छात्र को प्रसाद लेने के बहाने से भेजा और जेवरात व रुपये लेकर गायब हो गये। दोनों टप्पेबाजों की फुटेज सीसीटीवी कैमरे में रिकार्ड हो गयी। छात्र के पिता ने इस संबंध में सीओ गाजीपुर से शिकायत की। सीओ के आदेश पर गाजीपुर पुलिस ने शनिवार को इस संबंध में एफआईआर दर्ज की।

Fraud With School Kid In Lucknow Police Registers Case :

गाजीपुर के सेक्टर 14 इलाके में स्वदेश कुमार दूबे अपने परिवार संग रहते हैं। उनका 14 वर्षीय बेटा आयुष एक प्राइवेट स्कूल का छात्र है। बताया जाता है कि 18 जनवरी की शाम आयुष घर से कोचिंग जा रहा था। मुंशी पुलिया सुख काम्प्लेक्स के पास छात्र को दो लोगों ने पता पूछाने के बहाने से रोक लिया। इसके बाद उन लोगों ने किशोर से इधर-उधर की बात करके उसके घर के बारे में सारी जानकारी हासिल कर ली। बातचीत के दौरान दोनों टप्पेबाजों ने किशोर को बताया कि उनके घर में रखे जेवरात और नकदी में राक्षस और बुरी शक्ति है। अगर रात को जेवरात और नकदी की पूजा नहीं की गयी तो उसके माता-पिता की मौत हो सकती है।

डर के चलते घर से नकदी व जेवरात ले गया छात्र
दोनों टप्पेबाजों ने छात्र को मौत का ऐसा खौफ दिखाया कि वह सहम गया। माता-पिता की जिंदगी के लिए छात्र पूजा पाठ के लिए घर से जेवरात और रुपये लाने के लिए राजी हो गया। इसके बाद किशोर सीधे अपने घर पहुंचा और वहां से जेवरात और नकदी लेकर सुख काम्प्लेक्स गया। वहां पहुंचने के बाद आरोपियों ने छात्र से जेवरात और नकदी ले लिया।

प्रसाद लेने के लिए छात्रा को भेजा
छात्र से जेवरात और नकदी हासिल करने के बाद टप्पेबातों ने पूजा पाठ का झूठा ड्रामा किया। कुछ देर के बाद आरोपियों ने छात्र को पूजा पाठ के लिए प्रसाद की आवश्यकता की बात रखी। दोनों छात्र को ही पूजा के लिए प्रसाद लाने के लिए भेज दिया। टप्पेबाजो के मकसद से अनजान छात्र प्रसाद लेने के लिए चला गया। इसके बाद दोनों टप्पेबाज जेवरात और नकदी लेकर गायब हो गया।

वापस लौटने पर आरोपी गायब मिले
कुछ देर के बाद छात्र पूजा पाठ के लिए प्रसाद लेकर जब वापस लौटा तो दोनों तांत्रिक गायब थे। दोनों को गायब देख छात्र को कुछ समझ में नहीं आया। उसने पहले तो दोनों को इधर-उधर तलाशा पर उनको कोई पता नहीं चल सका। अंत में छात्र अपने घर पहुंचा और सारी बात परिवार वालों को बतायी। छात्र की बात सुन परिवार के लोग सन्न रह गये। उन लोगों ने भी आरोपियों को तलाशना शुरू किया पर उनको कोई पता नहीं चल सका।

सीओ गाजीपुर के आदेश पर दर्ज हुई एफआईआर
किशोर के साथ हुई इस टप्पेबाजी के मामले मेें उसके पिता ने चंद रोज पहले सीओ गाजीपुर से मिलकर पूरी घटना की शिकायत की। मामले को गंभीरता से लेते हुए सीओ गाजीपुर ने पुलिस को फौरन पीडि़त की एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया। शनिवार को गाजीपुर पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गाजीपुर इलाके में तांत्रिक बन दो टप्पेबाजों ने कोचिंग जा रहे एक छात्रा को उसके माता-पिता की मौत का भय दिखाते हुए घर से पूजा पाठ के नाम पर लाखों के जेवरात और नकदी मंगवा लिया। इसके बाद आरोपियों ने छात्र को प्रसाद लेने के बहाने से भेजा और जेवरात व रुपये लेकर गायब हो गये। दोनों टप्पेबाजों की फुटेज सीसीटीवी कैमरे में रिकार्ड हो गयी। छात्र के पिता ने इस संबंध में सीओ गाजीपुर से शिकायत की। सीओ के आदेश पर गाजीपुर पुलिस ने शनिवार को इस संबंध में एफआईआर दर्ज की। गाजीपुर के सेक्टर 14 इलाके में स्वदेश कुमार दूबे अपने परिवार संग रहते हैं। उनका 14 वर्षीय बेटा आयुष एक प्राइवेट स्कूल का छात्र है। बताया जाता है कि 18 जनवरी की शाम आयुष घर से कोचिंग जा रहा था। मुंशी पुलिया सुख काम्प्लेक्स के पास छात्र को दो लोगों ने पता पूछाने के बहाने से रोक लिया। इसके बाद उन लोगों ने किशोर से इधर-उधर की बात करके उसके घर के बारे में सारी जानकारी हासिल कर ली। बातचीत के दौरान दोनों टप्पेबाजों ने किशोर को बताया कि उनके घर में रखे जेवरात और नकदी में राक्षस और बुरी शक्ति है। अगर रात को जेवरात और नकदी की पूजा नहीं की गयी तो उसके माता-पिता की मौत हो सकती है। डर के चलते घर से नकदी व जेवरात ले गया छात्र दोनों टप्पेबाजों ने छात्र को मौत का ऐसा खौफ दिखाया कि वह सहम गया। माता-पिता की जिंदगी के लिए छात्र पूजा पाठ के लिए घर से जेवरात और रुपये लाने के लिए राजी हो गया। इसके बाद किशोर सीधे अपने घर पहुंचा और वहां से जेवरात और नकदी लेकर सुख काम्प्लेक्स गया। वहां पहुंचने के बाद आरोपियों ने छात्र से जेवरात और नकदी ले लिया। प्रसाद लेने के लिए छात्रा को भेजा छात्र से जेवरात और नकदी हासिल करने के बाद टप्पेबातों ने पूजा पाठ का झूठा ड्रामा किया। कुछ देर के बाद आरोपियों ने छात्र को पूजा पाठ के लिए प्रसाद की आवश्यकता की बात रखी। दोनों छात्र को ही पूजा के लिए प्रसाद लाने के लिए भेज दिया। टप्पेबाजो के मकसद से अनजान छात्र प्रसाद लेने के लिए चला गया। इसके बाद दोनों टप्पेबाज जेवरात और नकदी लेकर गायब हो गया। वापस लौटने पर आरोपी गायब मिले कुछ देर के बाद छात्र पूजा पाठ के लिए प्रसाद लेकर जब वापस लौटा तो दोनों तांत्रिक गायब थे। दोनों को गायब देख छात्र को कुछ समझ में नहीं आया। उसने पहले तो दोनों को इधर-उधर तलाशा पर उनको कोई पता नहीं चल सका। अंत में छात्र अपने घर पहुंचा और सारी बात परिवार वालों को बतायी। छात्र की बात सुन परिवार के लोग सन्न रह गये। उन लोगों ने भी आरोपियों को तलाशना शुरू किया पर उनको कोई पता नहीं चल सका। सीओ गाजीपुर के आदेश पर दर्ज हुई एफआईआर किशोर के साथ हुई इस टप्पेबाजी के मामले मेें उसके पिता ने चंद रोज पहले सीओ गाजीपुर से मिलकर पूरी घटना की शिकायत की। मामले को गंभीरता से लेते हुए सीओ गाजीपुर ने पुलिस को फौरन पीडि़त की एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया। शनिवार को गाजीपुर पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली।