आतंकियों से बंधक को छुड़ाने वाला दिलेर पुलिस ऑफिसर हार गया जिंदगी की जंग

पुलिस ऑफिसर , फ्रांस
फ्रांस : बंधक के बदले खुद को आतंकियों के हवाले करने वाला दिलेर पुलिस ऑफिसर की मौत

पेरिस। एक फ्रांसीसी पुलिस अधिकारी, जिसने ट्रबेज के सुपरमार्केट की घेराबंदी में एक बंधक को बचाने के लिए खुद को कुर्बान कर देने वाले गंभीर रूप से घायल पुलिस अधिकारी ने दम तोड़ दिया। एक मंत्री ने शनिवार को यह जानकारी दी। सूत्रों के मुताबिक, लेफ्टिनेंट कर्नल आरनॉड बेलट्रामे की मौत की घोषणा करते हुए आंतरिक मंत्री जेरार्ड कोलोम्ब ने ट्विटर पर कहा, उन्होंने इस देश के लिए जीवन कुर्बान किया। फ्रांस उनके पराक्रम, उनकी बहादुरी, उनके बलिदान के कभी नहीं भूलेगा।

महिला को छुड़ाने के बदले खुद बने बंधक
बेलट्रेम ने एक महिला बंधक को छुड़ाने के लिए खुद को आतंकी के हवाले कर दिया। उन्‍होंने चुपके से अपना सेलफोन ऑन कर दिया जिससे बाहर पुलिस को सुपरमार्केट के अंदर की जानकारी मिलती रहे कि वहां क्‍या चल रहा है। अधिकारियों के अनुसार, जब उन्‍होंने गोली चलाने की आवाजें सुनीं तो बिल्डिंग में धावा बोलने का निर्णय ले लिया। फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा कि जांच अधिकारी यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि बंदूकधारी को हथियार कहां से मिला और वह किस प्रकार आतंकी बना। अभियोजन ने आतंकी की मोरक्‍कन मूल के रूप में पहचान की है। उसका नाम रेडुआने लेक्डिम था।

{ यह भी पढ़ें:- पाकिस्तान : दो चुनावी रैलियों में आतंकी हमला, 133 की मौत, 200 घायल }

कहां से शुरू हुआ बंधक संकट?

शुक्रवार सुबह को कारकसोन से हिंसा की घटना शुरू हुई थी जब लेकडीम ने एक कार का अपहरण किया था। लेकडीम ने एक यात्री की हत्या कर दी थी जिसकी लाश झाड़ियों से मिली थी जबकि ड्राइवर घायल अवस्था में मिला था। इसके बाद उसने चहलकदमी कर रहे पुलिकर्मियों के एक समूह पर गोलियां चलाई थीं जिसमें एक पुलिसकर्मी घायल हो गया था। इसके बाद माना जाता है कि लेकडीम गाड़ी चलाकर पास के एक छोटे से शहर ट्रेब गए और उसकी सुपर-यू सुपरमार्केट में घुस गए। जहां उन्होंने चिल्लाकर कहा, मैं दाएश (इस्लामिक स्टेट) का सिपाही हूं।

{ यह भी पढ़ें:- अफगानिस्तान: 3 फिदायीन हमलों में 11 छात्र, 7 मीडियाकर्मियों समेत 40 की मौत }

उन्होंने वहां एक ग्राहक और एक स्टोर कर्मचारी की हत्या कर दी और बाकियों को बंधक बना लिया।

‘हीरो’ बेल्ट्राम कब हुए घायल?

कोलों ने शुक्रवार को पत्रकारों को बताया कि पुलिसकर्मियों ने सुपरमार्केट से कुछ लोगों को बाहर निकाला था लेकिन हमलावर ने मानव ढाल के रूप में एक महिला को कब्ज़े में किया हुआ था। इसी मौके पर लेफ़्टिनेंट-कर्नल बेल्ट्राम ने महिला के बदले ख़ुद को बंधक के तौर पर पेश किया. जब उन्होंने ऐसा किया तो वह अपना फ़ोन टेबल पर ही छोड़ गए थे। और उनके पास एक ओपन लाइन थी जिससे बाहर पुलिस स्थिति का आंकलन कर सके।

{ यह भी पढ़ें:- अमेरिका ने सीरिया के खिलाफ युद्ध छेड़ा, ट्रंप के आदेश के बाद अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने दागे मिसाइल }

इसके बाद पुलिस ने गोली की आवाज़ सुनी और एक टीम सुपरमार्केट के अंदर घुस गई। इसमें बंदूकधारी मारा गया था लेकिन लेफ़्टिनेंट-कर्नल बेल्ट्राम घायल हो गए थे। शनिवार सुबह उनकी मौत की घोषणा की गई। पुलिस बल ने कहा कि बेल्ट्राम ने ‘बंधकों की आज़ादी के लिए अपनी ज़िंदगी दे दी।

कट्टरपंथी मुस्लिम बंदूकधारी रेडुअन लकदीम (25) को गोली मार दी गई। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने बेलट्रामे को हीरो कहकर तारीफ की। मैक्रों ने शुक्रवार रात तो खुलासा किया था कि बेलट्रामे गंभीर रूप से घायल हैं और अस्पताल में जीवन के लिए संघर्ष कर रहे हैं।  बीबीसी के मुताबिक, हमले में 16 लोग घायल हुए, दो गंभीर रूप से घायल हुए, इस हमले को राष्ट्रपति ने ‘इस्लामिक आतंकवाद’ कहा।

लकदीम के बारे में कहा गया कि उसने सलाह अबदेसलम की रिहाई की मांग की थी, जो पेरिस में 13 नवंबर 2015 को हुए हमले का महत्वपूर्ण संदिग्ध है। हमले में 130 लोग मारे गए थे। एक शख्स, जिसे लकदीम का सहयोगी माना जाता है, उसे गोलीबारी के संबंध में गिरफ्तार कर लिया गया है।

{ यह भी पढ़ें:- दक्षिण फ्रांस के सुपरमार्केट में आतंकी हमला, ISIS ने ली ज़िम्मेदारी, 2 की मौत }

पेरिस। एक फ्रांसीसी पुलिस अधिकारी, जिसने ट्रबेज के सुपरमार्केट की घेराबंदी में एक बंधक को बचाने के लिए खुद को कुर्बान कर देने वाले गंभीर रूप से घायल पुलिस अधिकारी ने दम तोड़ दिया। एक मंत्री ने शनिवार को यह जानकारी दी। सूत्रों के मुताबिक, लेफ्टिनेंट कर्नल आरनॉड बेलट्रामे की मौत की घोषणा करते हुए आंतरिक मंत्री जेरार्ड कोलोम्ब ने ट्विटर पर कहा, उन्होंने इस देश के लिए जीवन कुर्बान किया। फ्रांस उनके पराक्रम, उनकी बहादुरी, उनके बलिदान के कभी…
Loading...