1. हिन्दी समाचार
  2. अप्रैल से अब तक 1.89 करोड़ लोगों की गई नौकरी, कर्मचारियों के वेतन में भी हुई कटौती

अप्रैल से अब तक 1.89 करोड़ लोगों की गई नौकरी, कर्मचारियों के वेतन में भी हुई कटौती

From April Till Date 1 89 Crore People Have Been Given Jobs The Salary Of Employees Was Also Cut

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। कोरोना संकट के दौरान सभी क्षेत्रों को बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है। नौकरीपेशा लोगों पर इसका सबसे ज्यादा प्रभाव देखने को मिला है। कोरोना संकट के दौरान देश में अप्रैल से अब तक करोड़ों लोगों को अपनी नौकरी गंवानी पड़ी है। इसके साथ ही कई कंपनियों ने अपने कर्मचारियों के वेतन में भी कटौती की है।

पढ़ें :- पढाई का ऐसा जुनून रोज बॉर्डर पार करके स्कूल जाते है बच्चे, साथ रखते हैं पासपोर्ट

कोरोना संकट के दौरान कंपनियों का यह रूख बेहद ही परेशान करने वाला है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) के अनुसार, लॉकडाउन के दौरान अप्रैल से अब तक 1.89 करोड़ लोगों की नौकरी गई है। सीएमआईई के आंकड़ों की माने तो देश में पिछले महीने यानी जुलाई में करीब 50 लाख लोगों की नौकरी गई है।

आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल में बेरोजगारी का यह आंकड़ा 1.77 करोड़ और मई में करीब एक लाख है। वहीं जून में करीब 39 लाख लोगों को नौकरी मिली। इसको लेकर सीएमआईई के सीईओ महेश व्यास ने कहा कि, वेतनभोगियों की नौकरियां जल्दी नहीं जाती हैं लेकिन जब जाती है तो दोबारा पानी बहुत मुश्किल होता है।

ऐसे में कोरोना संकट के दौरान 1.89 करोड़ लोगों की नौकरी जाना बेहद ही चिंता का विषाय है। वेतनभोगी नौकरियां 2019-20 के औसत से लगभग 1.90 करोड़ कम हैं। एक अनुमानों के अनुसार, भारत में कुल रोजगार में वेतनभोगी रोजगार का हिस्सा सिर्फ 21 फीसदी है।

अप्रैल में जितने लोग बेरोजगार हुए, उनमें इनकी संख्या केवल 15 फीसदी थी। इतना ही नहीं, कोरोना काल में कई क्षेत्रों की कंपनियों ने कर्मचारियों के वेतन में भी कटौती की। वहीं कई कर्मचारियों को बिना भुगतान के छुट्टी पर भेज दिया गया। ऐसे में उद्योग सरकार को समर्थन देने का अनुरोध कर रहे हैं।

पढ़ें :- यूपी : 31661 सहायक शिक्षकों की भर्ती का योगी सरकार ने जारी किया आदेश

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...