बदल गई RSS के स्‍वयंसेवकों की पोशाक, आज से पहनेंगे फुल पैंट

नई दिल्ली| राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने दशहरे के दिन अपने स्थापना दिवस के मौके पर अपनी 90 साल पुरानी यूनिफॉर्म खाकी हाफ पैंट को हटाकर भूरे रंग की फुल पैंट को अपना लिया| संघ ने स्वयंसेवकों के लिए मोजों के रंग को बदलने की भी मंजूरी दे दी है और पुराने खाकी रंग की जगह गहरे ब्राउन रंग के मोजे इसमें शामिल किए गए हैं|




इसके अलावा जिन राज्यों के अधिक सर्दी पड़ती है वहां स्वयंसेवक गहरे ब्राउन रंग का स्वेटर पहनेंगे ऐसे एक लाख स्वेटरों का ऑर्डर भी दिया जा चुका है| विजयादशमी पर्व के मौके पर आयेाजित समारोह में खाकी निकर की बजाय भूरे रंग के फुल पैंट में पथ संचलन (मार्च) किया। नागपुर स्थित संघ मुख्यालय में चल रहे इस समारोह में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी पहुंचे|

इस मौके पर संघ के प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य ने कहा, “विभिन्न मुद्दों पर संघ के साथ काम करने को लेकर समाज की स्वीकृति बढ़ती जा रही है और सुविधा के स्तर को देखते हुए वेशभूषा में बदलाव किया गया| यह परिवर्तन बदलते समय के अनुरूप ढलना दर्शाता है|” उन्होंने बताया कि आठ लाख से अधिक ट्राउजर वितरित कर दिए गए हैं| इनमें छह लाख सिले हुए ट्राउजर हैं और दो लाख का कपड़ा है जो देशभर में संघ कार्यालयों पर पहुंचा दिए गए हैं|



नई दिल्ली| राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने दशहरे के दिन अपने स्थापना दिवस के मौके पर अपनी 90 साल पुरानी यूनिफॉर्म खाकी हाफ पैंट को हटाकर भूरे रंग की फुल पैंट को अपना लिया| संघ ने स्वयंसेवकों के लिए मोजों के रंग को बदलने की भी मंजूरी दे दी है और पुराने खाकी रंग की जगह गहरे ब्राउन रंग के मोजे इसमें शामिल किए गए हैं| इसके अलावा जिन राज्यों के अधिक सर्दी पड़ती है वहां स्वयंसेवक गहरे ब्राउन रंग…
Loading...