1. हिन्दी समाचार
  2. बिज़नेस
  3. ईंधन की कीमतों में वृद्धि: लगातार चौथी वृद्धि के बाद पेट्रोल, डीजल की दरें अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गईं

ईंधन की कीमतों में वृद्धि: लगातार चौथी वृद्धि के बाद पेट्रोल, डीजल की दरें अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गईं

ईंधन की कीमतें आज: ओएमसी द्वारा लगातार चौथे दिन कीमतों में वृद्धि के बाद रविवार को पेट्रोल और डीजल की दरें अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गईं। बाजार के जानकारों ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में उतार-चढ़ाव भरे हालात के चलते दरों में बढ़ोतरी जारी रहेगी

By प्रीति कुमारी 
Updated Date

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के कारण तेल विपणन कंपनियों (ओएमसी) द्वारा लगातार चौथे दिन दरों में बढ़ोतरी के बाद रविवार को पेट्रोल और डीजल की कीमतें भारत में अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गईं।

पढ़ें :- पेट्रोल, डीजल की कीमतें मंगलवार, 23 नवंबर अपडेट: लगातार 19वें दिन ईंधन की दरें अपरिवर्तित रहीं

दिल्ली में 35 पैसे की बढ़ोतरी के बाद पेट्रोल की कीमत अब 105.84 रुपये हो गई है जबकि डीजल की कीमत 35 पैसे की बढ़ोतरी के साथ 94.57 रुपये हो गई है। इसी तरह, मुंबई में पेट्रोल और डीजल की कीमत क्रमश: 111.77 रुपये (34 पैसे ऊपर) और 102.52 रुपये (37 पैसे ऊपर) है।

कोलकाता में पेट्रोल और डीजल की कीमत क्रमश: 106.43 रुपये और 97.68 रुपये है। तमिलनाडु के चेन्नई में, पेट्रोल की कीमत अब 103.01 रुपये है, जबकि एक व्यक्ति को एक लीटर डीजल के लिए 98.92 रुपये का भुगतान करना होगा।

हैदराबाद में पेट्रोल-डीजल 110.09 रुपये और प्रति लीटर 103.08 रुपये में मिल रहा है। बेंगलुरु में पेट्रोल और डीजल क्रमश: 109.53 रुपये और 100.37 रुपये में खरीदा जा सकता है।

पेट्रोल और डीजल की दरें, जो प्रतिदिन संशोधित की जाती हैं, अंतरराष्ट्रीय बाजार में अस्थिर स्थिति के कारण देश में त्योहारी सीजन की शुरुआत के साथ भारत में एक बार फिर से बढ़ रही हैं।

पढ़ें :- पेट्रोल, डीजल की कीमतें सोमवार, 22 नवंबर अपडेट: अपने शहर में ईंधन दरों की जांच यहां करें

विशेषज्ञों ने पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन के बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड के उत्पादन में वृद्धि नहीं करने के फैसले को जिम्मेदार ठहराया है। फिलहाल अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 84.8 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा है, जो करीब सात साल में सबसे ज्यादा है।

विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि ओपेक के उत्पादन में वृद्धि नहीं करने के फैसले के कारण नवंबर तक दरों में वृद्धि जारी रहेगी। इस बीच केंद्र सरकार ने कहा है कि वह देश में पेट्रोल-डीजल की दरों को स्थिर करने के लिए जरूरी कदम उठाएगी

आज, पेट्रोल और डीजल की खपत पूर्व-कोविद समय की तुलना में क्रमशः 10-15 प्रतिशत और 6-10 प्रतिशत अधिक है। मैं मूल्य के मुद्दे पर नहीं जाऊंगा। हम मूल्य स्थिरता की दिशा में काम करना जारी रखते हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...