भगोड़े कारोबारी नीरव मोदी की मुश्किलें बढ़ीं, ब्रिटेन में आज से शुरू होगी प्रत्यर्पण मामले की सुनवाई

Nirav Modi

नई दिल्ली: भारतीय बैंक से घोटाला कर विदेश भागने वाले नीरव मोदी के खिलाफ अब शिकंजा कसना शुरू हो गया है। पंजाब नेशनल बैंक से 13,000 करोड़ रुपये का घोटाले करने वाले आरोपी की भारत प्रत्यर्पण की सुनवाई आज से लंदन में शुरू होगी। बताया जा रहा है कि ये सुनवाई 5 दिन तक चलेगी। ED-CBI के मुताबिक ये सुनवाई लंदन समय के मुताबिक करीब 2 बजे शुरू होगी यानी भारत में उस समय 6:30 बज रहे होगे।

Fugitive Businessman Nirav Modis Troubles Have Increased Extradition Case Will Start In Britain From Today :

जानकारी के अनुसार इस बार सुनवाई में ED और CBI के अधिकारी LockDown की वजह से नहीं जा पायेंगे। अधिकारियों को भारत से ही लंदन में Crown Prosicution Service के संपर्क में रहेंगे। बताया जा रहा है कि नीरव मोदी की सुनवाई वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हो सकती है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि पिछली करवाई में न्यायाधीश गूजी ने सुनवाई के दौरान कहा था, ‘कुछ जेलें व्यक्तिगत रूप से कैदियों को पेश कर रही हैं, इसलिए मैं 11 मई से ट्रायल के लिए व्यक्तिगत रूप से मोदी को पेश करने के लिए वैंड्सवर्थ जेल को निर्देश दूंगा। यदि ऐसा संभव न हो, तो लाइव लिंक के जरिए उनकी भागीदारी का विकल्प रहेगा।”

नई दिल्ली: भारतीय बैंक से घोटाला कर विदेश भागने वाले नीरव मोदी के खिलाफ अब शिकंजा कसना शुरू हो गया है। पंजाब नेशनल बैंक से 13,000 करोड़ रुपये का घोटाले करने वाले आरोपी की भारत प्रत्यर्पण की सुनवाई आज से लंदन में शुरू होगी। बताया जा रहा है कि ये सुनवाई 5 दिन तक चलेगी। ED-CBI के मुताबिक ये सुनवाई लंदन समय के मुताबिक करीब 2 बजे शुरू होगी यानी भारत में उस समय 6:30 बज रहे होगे। जानकारी के अनुसार इस बार सुनवाई में ED और CBI के अधिकारी LockDown की वजह से नहीं जा पायेंगे। अधिकारियों को भारत से ही लंदन में Crown Prosicution Service के संपर्क में रहेंगे। बताया जा रहा है कि नीरव मोदी की सुनवाई वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हो सकती है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि पिछली करवाई में न्यायाधीश गूजी ने सुनवाई के दौरान कहा था, 'कुछ जेलें व्यक्तिगत रूप से कैदियों को पेश कर रही हैं, इसलिए मैं 11 मई से ट्रायल के लिए व्यक्तिगत रूप से मोदी को पेश करने के लिए वैंड्सवर्थ जेल को निर्देश दूंगा। यदि ऐसा संभव न हो, तो लाइव लिंक के जरिए उनकी भागीदारी का विकल्प रहेगा।"