गॉल टेस्ट: भारत की स्थिति मजबूत, श्रीलंका की बड़ी मुश्किलें

गॉल। गॉल टेस्ट में भारत श्रीलंका पर हावी होता दिख रहा है, पहली पारी में ही लंका की मुश्किलें बढ़ती दिख रही है। भारत के पहली पारी के 600 रनों के जवाब में मेजबान टीम ने दूसरे दिन की समाप्ति तक पहली पारी में 154 रनों पर 5 विकेट गंवा दिए हैं। एंजेलो मैथ्यूज 54 और कुशल परेरा 6 रन बनाकर क्रीज पर हैं। इस तरह श्रीलंका अभी भी पहली पारी में भारत से 446 रन पीछे है जबकि उसके 5 विकेट शेष है।

श्रीलंका को मजबूत शुरुआत की दरकार थी, लेकिन उमेश यादव ने दिमुथ करूणारत्ने को मात्र 2 के स्कोर पर एलबीडब्ल्यू कर दिया। गुणतिलका (16) भी ज्यादा देर तक नहीं टिक पाए और शमी की गेंद पर शिखर धवन को कैच थमा बैठे। शमी ने इसके बाद मेंडिस को खाता भी नहीं खोलने दिया, वे भी धवन के हाथों लपके गए।

अनुभवी खिलाड़ी उपुल थरंगा और पूर्व कप्तान मैथ्यूज इसके बाद पारी को संभालते नजर आए। यह साझेदारी दुर्भाग्यपूर्ण ढंग से टूटी जब थरंगा 64 रन बनाकर रन आउट हुए। उन्होंने 10 चौके लगाए। निरोशन डिकवेला मात्र 8 रन बनाकर अश्विन के शिकार बने।

इसके पूर्व भारत ने दूसरे दिन सुबह 3 विकेट पर 399 रनों से आगे खेलना शुरू किया। चेतेश्वर पुजारा 153 रन बनाने के बाद नुवान प्रदीप की गेंद पर विकेटकीपर डिकवेला को कैच थमा बैठे। अजिंक्य रहाणे ने अर्द्धशतक पूरा किया, लेकिन वे भी ज्यादा देर नहीं टिक पाए। रहाणे 57 रन बनाकर कुुमार की गेंद पर करूणारत्ने द्वारा लपके गए। रिद्धिमान साहा 16 रन बनाकर कप्तान रंगना हैराथ के शिकारा बने। इसके बाद रविचंद्रन अश्विन (47) और हार्दिक पांड्‍या (50) ने छठे विकेट के लिए 49 रन जोड़े। अश्विन फिफ्टी से चूके और प्रदीप के पांचवें शिकार बने।

प्रदीप ने रवींद्र जडेजा (15) को बोल्ड कर छठा शिकार किया। पांड्‍या और मोहम्मद शमी (30) ने नौवें विकेट के लिए 62 रन जोड़कर श्रीलंका की मुश्किलें बढ़ाई। पांड्‍या अपने डेब्यू टेस्ट मैच में 49 गेंदों में 6 चौकों और 3 छक्कों की मदद से 50 रन बनाकर आउट हुए। प्रदीप ने 132 रनों पर 6 विकेट लिए। कुमार ने 131 रनों पर 3 विकेट अपने नाम किए।