बनने निकले थे ‘शोले’ फिल्म का ‘गब्बर’, दिल्ली पुलिस ने भेज दिया जेल

gabbar
बनने निकले थे 'शोले' फिल्म का 'गब्बर', दिल्ली पुलिस ने भेज दिया जेल

नई दिल्ली। दिल्ली दो ऐसे अपराधी पकड़े गये हैं जो शोले फिल्म देखकर डांकू गब्बर बनना चाहते थे। लेकिन दिल्ली पुु​लिस ने उन्हे जेल पंहुचा दिया है। गुरूवार को दिल्ली पुलिस ने दो कुख्यात बदमाशों को हथियारों सहित गिरफ्तार कर लिया। बदमाशों की गिरफ्तारी होते ही दिल्ली के कई थानों में लंबे समय से दर्ज आपराधिक मामलों का भी खुलासा हो गया है। जिला पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया के मुताबिक बदमाशों का नाम राहुल पारचा उर्फ विश्वास और दिनेश उर्फ सन्नी उर्फ काले है।

Gabbar Of Sholay Was Set To Be Made Delhi Police Sent To Jail :

डीसीपी ने बताया, “दोनों बदमाशों के पास से दो पिस्तौल मय जीवित कारतूस जब्त हुए हैं। एक मोटरसाइकिल भी मिली है। इन दोनों की गिरफ्तारी से दिल्ली के विभिन्न थानों में दर्ज 17 सनसनीखेज मामलों का खुलासा हुआ है। इनमें से ज्यादातर आपराधिक वारदातें दिन दहाड़े चैन-झपटमारी की भी शामिल हैं।”

पुलिस के मुताबिक, बदमाश काफी शातिर किस्म के हैं और काफी दिनों से मध्य जिले में अड्डा जमाने की कोशिश कर रहे थे। इन्हें पकड़ने के लिए करोलबाग पुलिस की एक स्पेशल टीम बनाई गई थी। पुलिस की टीम ने इन दोनों बदमाशों का पीछा करना शुरू किया। गुरूवर को पुलिस टीम को चकमा देकर दोनो भाग रहे थे तभी दोनों बदमाशों को चेकिंग के दौरान करोल बाग इलाके में एक होटल के पास घेर लिया गया। बदमाश मोटर साईकल से थे, भागने का प्रयास किया लेकिन पकड़े गये।

पुलिस की कड़ी पूछताछ में दोनो अपना जुर्म कुबूल किया। बदमाशों ने बताया कि पढ़ाई में उनका मन नहीं लग रहा था, परिवारिक स्थिति ज्यादा अच्छी नही थी। रोजाना के खर्च और जरूरते बढ़ती चली जा रही थी। बदमाशों ने कहा कि उन्होंने एक दिन फिल्म शोले देखी तो दोनों निठल्लों को गब्बर सिंह का खूंखार रूप पसंद आ गया और फिर वो अपराध ​की दुनिया में कूद गये।

नई दिल्ली। दिल्ली दो ऐसे अपराधी पकड़े गये हैं जो शोले फिल्म देखकर डांकू गब्बर बनना चाहते थे। लेकिन दिल्ली पुु​लिस ने उन्हे जेल पंहुचा दिया है। गुरूवार को दिल्ली पुलिस ने दो कुख्यात बदमाशों को हथियारों सहित गिरफ्तार कर लिया। बदमाशों की गिरफ्तारी होते ही दिल्ली के कई थानों में लंबे समय से दर्ज आपराधिक मामलों का भी खुलासा हो गया है। जिला पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया के मुताबिक बदमाशों का नाम राहुल पारचा उर्फ विश्वास और दिनेश उर्फ सन्नी उर्फ काले है। डीसीपी ने बताया, “दोनों बदमाशों के पास से दो पिस्तौल मय जीवित कारतूस जब्त हुए हैं। एक मोटरसाइकिल भी मिली है। इन दोनों की गिरफ्तारी से दिल्ली के विभिन्न थानों में दर्ज 17 सनसनीखेज मामलों का खुलासा हुआ है। इनमें से ज्यादातर आपराधिक वारदातें दिन दहाड़े चैन-झपटमारी की भी शामिल हैं।” पुलिस के मुताबिक, बदमाश काफी शातिर किस्म के हैं और काफी दिनों से मध्य जिले में अड्डा जमाने की कोशिश कर रहे थे। इन्हें पकड़ने के लिए करोलबाग पुलिस की एक स्पेशल टीम बनाई गई थी। पुलिस की टीम ने इन दोनों बदमाशों का पीछा करना शुरू किया। गुरूवर को पुलिस टीम को चकमा देकर दोनो भाग रहे थे तभी दोनों बदमाशों को चेकिंग के दौरान करोल बाग इलाके में एक होटल के पास घेर लिया गया। बदमाश मोटर साईकल से थे, भागने का प्रयास किया लेकिन पकड़े गये। पुलिस की कड़ी पूछताछ में दोनो अपना जुर्म कुबूल किया। बदमाशों ने बताया कि पढ़ाई में उनका मन नहीं लग रहा था, परिवारिक स्थिति ज्यादा अच्छी नही थी। रोजाना के खर्च और जरूरते बढ़ती चली जा रही थी। बदमाशों ने कहा कि उन्होंने एक दिन फिल्म शोले देखी तो दोनों निठल्लों को गब्बर सिंह का खूंखार रूप पसंद आ गया और फिर वो अपराध ​की दुनिया में कूद गये।