भारत-श्रीलंका टेस्ट की ‘पिच फिक्स’ होने का दावा, ICC ने जांच शुरू की

नई दिल्ली। एक स्टिंग ऑपरेशन में दावा किया गया है कि भारत और श्रीलंका के बीच पिछले साल खेले गए टेस्ट मैच में पिच से छेड़छाड़ की गई थी। ऐसी जानकारी मिली है कि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने इस मामले की जांच करना भी शुरू कर दी है। अल जजीरा टीवी नेटवर्क ने दावा किया है कि मुंबई के लोकप्रिय प्रथम श्रेणी क्रिकेटर रॉबिन मॉरिस ने स्वीकार किया कि पिछले साल गॉल टेस्ट की पिच बदलने के लिए ग्राउंड्समैन को रिश्वत देने में वह भी शामिल थे। मॉरिस को कथित तौर पर मैच फिक्सर माना जाता है।

Galle Test India Vs Sri Lanka In 2017 Was Fixed Scandal Icc Has Started Investigation :

स्टिंग ऑपरेशन अभी ऑन एयर नहीं हुआ है, लेकिन कतर आधारित चैनल ने इसके कुछ अंश ऑनलाइन पोस्ट किए हैं। इस सनसनीखेज आरोपों के जवाब में ICC ने प्रतिक्रिया दी है कि वह जांच कर रही है। ICC के महाप्रबंधक (भ्रष्टाचार विरोधी इकाई) एलेक्स मार्शल ने एक बयान में कहा, ‘हमें जो जानकारी मिली है, उसके आधार पर भ्रष्टाचार विरोधी के सदस्यों के साथ जांच शुरू कर दी गई है।

उन्होंने आगे कहा, ‘हमने दोबारा गुजारिश की है कि क्रिकेट में भ्रष्टाचार संबंधित सभी सबूत और सहायक सामग्री तुरंत रिलीज की जाए ताकि हम पूर्ण और व्यापक जांच कर सकें।’ टीम इंडिया और श्रीलंका के बीच 26 से 29 जुलाई तक गॉल में खेले गए टेस्ट मैच की पिच पर फिक्सिंग का शक का दावा किया गया है।

क्लिपिंग में 41 बरस के मौरिस ने इंडिका की ओर इशारा करते हुए कहा, ‘होगा यह कि वह और हम ऐसी पिच बना सकते हैं जिस पर जो चाहे वैसा ही होगा। वह मुख्य मैदानकर्मी है और सहायक मैनेजर भी।’

भारत ने यह मैच 304 रन से जीता। पहली पारी में भारत ने 600 रन बनाए जिसमें शिखर धवन ने 190 और चेतेश्वर पुजारा ने 153 रन का योगदान दिया। दूसरी पारी भारत ने तीन विकेट पर 240 के स्कोर पर घोषित की जिसमें कप्तान विराट कोहली ने नाबाद शतक बनाया। श्री लंकाई टीम 291 और 245 रन ही बना सकी।

इंडिका ने कथित तौर पर दावा किया कि उसने बल्लेबाजों की मददगार पिच बनाई थी। स्टिंग के विडियो में उसने कहा, ‘भारत बल्लेबाजों की विकेट पर खेला। हमने विकेट को पूरी तरह से दबाया और उस पर पानी डालकर कड़ा कर दिया।’

विवादों से घिरी इंडियन क्रिकेट लीग में खेल चुके मौरिस ने अंडरकवर रिपोर्टर से कथित तौर पर कहा कि वह सट्टा लगाने के लिए उन्हें टिप्स देंगे। उसने यह भी दावा किया कि इस साल नवंबर में इंग्लैंड के श्री लंका दौरे पर भी इस मैदान पर ‘पिच फिक्सिंग’ की जाएगी।

पिछले साल एक भारतीय चैनल ने महाराष्ट्र के पूर्व तेज गेंदबाज और पुणे के क्यूरेटर पांडुरंग सालगांवकर का स्टिंग ऑपरेशन करके दावा किया था कि उसने न्यू जीलैंड के खिलाफ वनडे में पिच फिक्स करने को मंजूरी दी थी। बाद में आईसीसी एसीयू की जांच में सालगांवकर को क्लीन चिट मिल गई लेकिन सटोरियों से संपर्क की बात आईसीसी को नहीं बताने पर उन्हें निलंबन झेलना पड़ा।

नई दिल्ली। एक स्टिंग ऑपरेशन में दावा किया गया है कि भारत और श्रीलंका के बीच पिछले साल खेले गए टेस्ट मैच में पिच से छेड़छाड़ की गई थी। ऐसी जानकारी मिली है कि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने इस मामले की जांच करना भी शुरू कर दी है। अल जजीरा टीवी नेटवर्क ने दावा किया है कि मुंबई के लोकप्रिय प्रथम श्रेणी क्रिकेटर रॉबिन मॉरिस ने स्वीकार किया कि पिछले साल गॉल टेस्ट की पिच बदलने के लिए ग्राउंड्समैन को रिश्वत देने में वह भी शामिल थे। मॉरिस को कथित तौर पर मैच फिक्सर माना जाता है। स्टिंग ऑपरेशन अभी ऑन एयर नहीं हुआ है, लेकिन कतर आधारित चैनल ने इसके कुछ अंश ऑनलाइन पोस्ट किए हैं। इस सनसनीखेज आरोपों के जवाब में ICC ने प्रतिक्रिया दी है कि वह जांच कर रही है। ICC के महाप्रबंधक (भ्रष्टाचार विरोधी इकाई) एलेक्स मार्शल ने एक बयान में कहा, 'हमें जो जानकारी मिली है, उसके आधार पर भ्रष्टाचार विरोधी के सदस्यों के साथ जांच शुरू कर दी गई है। उन्होंने आगे कहा, 'हमने दोबारा गुजारिश की है कि क्रिकेट में भ्रष्टाचार संबंधित सभी सबूत और सहायक सामग्री तुरंत रिलीज की जाए ताकि हम पूर्ण और व्यापक जांच कर सकें।' टीम इंडिया और श्रीलंका के बीच 26 से 29 जुलाई तक गॉल में खेले गए टेस्ट मैच की पिच पर फिक्सिंग का शक का दावा किया गया है। क्लिपिंग में 41 बरस के मौरिस ने इंडिका की ओर इशारा करते हुए कहा, ‘होगा यह कि वह और हम ऐसी पिच बना सकते हैं जिस पर जो चाहे वैसा ही होगा। वह मुख्य मैदानकर्मी है और सहायक मैनेजर भी।’ भारत ने यह मैच 304 रन से जीता। पहली पारी में भारत ने 600 रन बनाए जिसमें शिखर धवन ने 190 और चेतेश्वर पुजारा ने 153 रन का योगदान दिया। दूसरी पारी भारत ने तीन विकेट पर 240 के स्कोर पर घोषित की जिसमें कप्तान विराट कोहली ने नाबाद शतक बनाया। श्री लंकाई टीम 291 और 245 रन ही बना सकी। इंडिका ने कथित तौर पर दावा किया कि उसने बल्लेबाजों की मददगार पिच बनाई थी। स्टिंग के विडियो में उसने कहा, ‘भारत बल्लेबाजों की विकेट पर खेला। हमने विकेट को पूरी तरह से दबाया और उस पर पानी डालकर कड़ा कर दिया।’ विवादों से घिरी इंडियन क्रिकेट लीग में खेल चुके मौरिस ने अंडरकवर रिपोर्टर से कथित तौर पर कहा कि वह सट्टा लगाने के लिए उन्हें टिप्स देंगे। उसने यह भी दावा किया कि इस साल नवंबर में इंग्लैंड के श्री लंका दौरे पर भी इस मैदान पर ‘पिच फिक्सिंग’ की जाएगी। पिछले साल एक भारतीय चैनल ने महाराष्ट्र के पूर्व तेज गेंदबाज और पुणे के क्यूरेटर पांडुरंग सालगांवकर का स्टिंग ऑपरेशन करके दावा किया था कि उसने न्यू जीलैंड के खिलाफ वनडे में पिच फिक्स करने को मंजूरी दी थी। बाद में आईसीसी एसीयू की जांच में सालगांवकर को क्लीन चिट मिल गई लेकिन सटोरियों से संपर्क की बात आईसीसी को नहीं बताने पर उन्हें निलंबन झेलना पड़ा।