धनाढ्य लोगों को प्रेम-जाल में फंसाती थी लड़कियां, बनाती थीं वीडियो और फिर…

जयपुर: राजस्थान से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। लड़कियों के जरिए ब्लैकमेल करने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। माना जा रहा है कि इस गिरोह के तार काफी फैले हुए हैं। राजस्थान पुलिस के विशेष ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने वीडियो बनाकर प्रतिष्ठित लोगों से करोड़ों रूपए ऐंठने वाले गिरोह के सदस्यों की धरपकड़ शुरू कर दी है। सोमवार को एसओजी ने अखिलेश, राकेश यादव और पुष्पेन्द्र सिंह को गिरफ्तार किया है। पुलिस गिरफ्तार किए लोगों से पूछताछ करेगी। पूछताछ में कई खुलासे होने की संभावना है।




यह गिरोह खूबसूरत लड़कियों के जरिए प्रदेश-शहर के धनाढ्य लोगों को प्रेम-जाल में फंसाकर अपनी कार्रवाई को अंजाम देता था। लड़कियों से सम्पर्क के दौरान गिरोह ब्लैमेलिंग के सारे सबूत तैयार कर लेता था। इन्हीं के आधार पर लोगों को डरा धमकाकर मोटी रकम वसूली जाती थी। इस गिरोह का संचालन वकील नवीन देवानी चला रहा था।




एसओजी के अधिकारियों के मुताबिक गिरफ्तार तीनों लोग ब्लैकमेलिंग करने में मुख्य आरोपियों की सहायता करते थे। ऐंठे गए रुपए में इनका भी हिस्सा होता था। एसओजी ने इससे पहले शनिवार को मूलरूप भीलवाड़ा की जैन ज्योति कॉलोनी निवासी कथित मीडियाकर्मी अक्षत शर्मा और टोंक रोड, शिव कॉलोनी निवासी विजय शर्मा उर्फ सोनू शर्मा को गिरफ्तार किया था। गिरोह ने जयपुर, बीकानेर, उदयपुर, कोटा, अजमेर, अलवर, ब्यावर और अन्य स्थानों पर 25 से ज्यादा दुष्कर्म के मामले दर्ज कराए हैं। इसके जरिए लोगों से करोड़ों रूपए वसूल किए जा चुके हैं।