सौतेली मां ने कराया बच्ची का गैंगरेप, भाई ने दोस्त संग आंखे निकालकर डाला तेजाब

gangrape and murder
सौतेली मां ने कराया बच्ची का गैंगरेप, भाई ने दोस्त संग आंखे निकाल डाला तेजाब

श्रीनगर। कश्मीर के बारामूला में रिश्तों को शर्मसार करती एक वारदात सामने आई है। जहां नौ साल की एक मासूम के साथ उसके उसके सौतेले भाई और उसके दोस्त ने गैंगरेप किया। बाद में उसकी आंखों को चाकू से निकाला गया, और फिर उसके शरीर को तेज़ाब से जलाकर उरी स्थित घर के पास जंगल में जंगल में फेंक दिया। इस घटना में खास बात ये रही रही उन्हे ऐसा करने के लिए बच्ची की सौतेली मां ने ही उकसाया था।

Gangrape And Murder Of A Girl In Baramula Of Kashmir :

इस सनसनीखेज घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने बताया कि बच्ची की सौतेली मां, उसके 14 वर्षीय सौतेले भाई तथा तीन अन्य को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने बीते रविवार को बच्ची का शव जंगल से बरामद कर लिया, जहां अब लगभग सड़ने लगा ​था। पुलिस इसे ‘ओपन एंड शट’ केस बता रही हैं

बारामूला के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मीर इम्तियाज़ हुसैन ने बताया, “हमने तुरंत ही तफ्तीश शुरू कर दी थी” हत्या की जांच के लिए स्पेशल टीम गठित कर दी गई थी, जिसने परिवार के भीतर ही भयावह कहानी को उजागर किया। मीर इम्तियाज़ हुसैन ने बताया, “पता चला था कि बच्ची की सौतेली मां को अपने शौहर की बाहर कहीं रहने वाली पत्नी, और उसके बच्चों से नाराज़गी थी।

पूछताछ में आरोपी महिला ने बताया कि उसका पति अपनी दूसरी पत्नी के साथ ज्यादा समय बिताता था। यही नही वो अपने सारे में बच्चों में सबसे ज्यादा प्यार भी इसी नौ साल की बच्ची को ही करता था। जिसकी वजह से परिवार में तनाव बढ़ता रहा। इसी से परेशान होकर उसने घटना को अंजाम देने की योजना बनाई।

योजना के मुताबिक वो बच्ची को पास ही के जंगल में ले गई, जहां उसने अपने 14 वर्षीय बेटे से बच्ची के साथ बलात्कार करने के लिए कहा। पुलिस के मुताबिक सौतेली मां के उकसाने पर ही बच्ची के साथ गैंगरेप किया गया। घटना के वक्त महिला भी वही पर मौजूद रही। इसके बाद सौतेली मां ने बच्ची का गला घोंट दिया, और उसके बेटे ने कुल्हाड़ी से उसके सिर पर वार किया, जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

मीर इम्तियाज़ हुसैन ने बताया कि एक आरोपी घर पहुंचा और एक बोतल में तेजाब ले आया। फिर तेज धारदार चाकू से उसकी दोनों आंखे निकाली और फिर शरीर पर तेजाब डालकर जंगल में फेंक आया।

श्रीनगर। कश्मीर के बारामूला में रिश्तों को शर्मसार करती एक वारदात सामने आई है। जहां नौ साल की एक मासूम के साथ उसके उसके सौतेले भाई और उसके दोस्त ने गैंगरेप किया। बाद में उसकी आंखों को चाकू से निकाला गया, और फिर उसके शरीर को तेज़ाब से जलाकर उरी स्थित घर के पास जंगल में जंगल में फेंक दिया। इस घटना में खास बात ये रही रही उन्हे ऐसा करने के लिए बच्ची की सौतेली मां ने ही उकसाया था।इस सनसनीखेज घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने बताया कि बच्ची की सौतेली मां, उसके 14 वर्षीय सौतेले भाई तथा तीन अन्य को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने बीते रविवार को बच्ची का शव जंगल से बरामद कर लिया, जहां अब लगभग सड़ने लगा ​था। पुलिस इसे 'ओपन एंड शट' केस बता रही हैंबारामूला के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मीर इम्तियाज़ हुसैन ने बताया, "हमने तुरंत ही तफ्तीश शुरू कर दी थी" हत्या की जांच के लिए स्पेशल टीम गठित कर दी गई थी, जिसने परिवार के भीतर ही भयावह कहानी को उजागर किया। मीर इम्तियाज़ हुसैन ने बताया, "पता चला था कि बच्ची की सौतेली मां को अपने शौहर की बाहर कहीं रहने वाली पत्नी, और उसके बच्चों से नाराज़गी थी।पूछताछ में आरोपी महिला ने बताया कि उसका पति अपनी दूसरी पत्नी के साथ ज्यादा समय बिताता था। यही नही वो अपने सारे में बच्चों में सबसे ज्यादा प्यार भी इसी नौ साल की बच्ची को ही करता था। जिसकी वजह से परिवार में तनाव बढ़ता रहा। इसी से परेशान होकर उसने घटना को अंजाम देने की योजना बनाई।योजना के मुताबिक वो बच्ची को पास ही के जंगल में ले गई, जहां उसने अपने 14 वर्षीय बेटे से बच्ची के साथ बलात्कार करने के लिए कहा। पुलिस के मुताबिक सौतेली मां के उकसाने पर ही बच्ची के साथ गैंगरेप किया गया। घटना के वक्त महिला भी वही पर मौजूद रही। इसके बाद सौतेली मां ने बच्ची का गला घोंट दिया, और उसके बेटे ने कुल्हाड़ी से उसके सिर पर वार किया, जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई।मीर इम्तियाज़ हुसैन ने बताया कि एक आरोपी घर पहुंचा और एक बोतल में तेजाब ले आया। फिर तेज धारदार चाकू से उसकी दोनों आंखे निकाली और फिर शरीर पर तेजाब डालकर जंगल में फेंक आया।