झारखंड : पांच युवतियों से असलहे के बल पर गैंगरेप

रांची। झारखंड के खूंटी जिले में बीते मंगलवार को पांच युवतियों के साथ असलहे के बल पर गैंगरेप की घटना अंजाम दी गई। ये इलाका आदिवासी बहुल हैं। खूंटी के पुलिस अधीक्षक अश्विनी सिन्हा ने मीडिया को बताया कि सभी पीड़िताएं एक गैर सरकारी संस्था में काम करती है। युवतियों ने कोचांग स्थित एक मिशनरी स्कूल के फादर समेत सात लोगों के खिलाफ गैगरेप का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने एक आरोपी की तस्वीर जारी की है। उसकी सूचना देने वाले को पचास हज़ार रुपये का ईनाम देने की भी घोषणा की गई है।

Gangrape With Five Working Girls In Jharkhand :

बता दें कि जिस जगह ये ये घटना हुई है वो रांची से क़रीब 80 किलोमीटर दूर है। रांची के डीआईजी ऐवी होमकर ने बताया है कि मंगलवार को गैरसरकारी संस्था कोचांग गांव में मानव तस्करी के खिलाफ एक जागरूकता अभियान के तहत नुक्कड़ नाटक करने पहुंचे थें, जिसके बाद संस्था के लोग पास में एक स्थित मिशनरी स्कूल पहुँचे।

पुलिस के मुताबिक, जैसे ही ये लोग स्कूल पहुंचे तभी बाइक सवार कुछ बदमाश बाइकों से वहां पहुंचे और सभी युवतियों को अगवा कर लिया। यही नही ​बदमाशों ने उनके साथ रहे तीन पुरूष सदस्यों को विरोध करने पर पीटा। इसके बाद बदमाश सभी युवतियों को लेकर पास के जंगल पहुंचे, जहां असलहे के बल पर पांचों के साथ गैंगरेप की घटना अंजाम दी गई।

पुलिस के मुताबिक 20 जून को इस घटना की ख़बर सामने आई। ख़बर मिलने के तुरंत बाद ही खूंटी ज़िले के उपायुक्त अपनी टीम के साथ कोचांग पहुंचे और मामले की छानबीन शुरु की। 21 जून को एक पीड़िता की तलाश करने के बाद उससे लंबी पूछताछ की गई। बाद में पुलिस ने पीड़िता को चिकित्सीय परीक्षण के लिए भेजने के सा​थ ही आरोपियों की तलाश शुरु कर दी है।

रांची। झारखंड के खूंटी जिले में बीते मंगलवार को पांच युवतियों के साथ असलहे के बल पर गैंगरेप की घटना अंजाम दी गई। ये इलाका आदिवासी बहुल हैं। खूंटी के पुलिस अधीक्षक अश्विनी सिन्हा ने मीडिया को बताया कि सभी पीड़िताएं एक गैर सरकारी संस्था में काम करती है। युवतियों ने कोचांग स्थित एक मिशनरी स्कूल के फादर समेत सात लोगों के खिलाफ गैगरेप का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने एक आरोपी की तस्वीर जारी की है। उसकी सूचना देने वाले को पचास हज़ार रुपये का ईनाम देने की भी घोषणा की गई है। बता दें कि जिस जगह ये ये घटना हुई है वो रांची से क़रीब 80 किलोमीटर दूर है। रांची के डीआईजी ऐवी होमकर ने बताया है कि मंगलवार को गैरसरकारी संस्था कोचांग गांव में मानव तस्करी के खिलाफ एक जागरूकता अभियान के तहत नुक्कड़ नाटक करने पहुंचे थें, जिसके बाद संस्था के लोग पास में एक स्थित मिशनरी स्कूल पहुँचे। पुलिस के मुताबिक, जैसे ही ये लोग स्कूल पहुंचे तभी बाइक सवार कुछ बदमाश बाइकों से वहां पहुंचे और सभी युवतियों को अगवा कर लिया। यही नही ​बदमाशों ने उनके साथ रहे तीन पुरूष सदस्यों को विरोध करने पर पीटा। इसके बाद बदमाश सभी युवतियों को लेकर पास के जंगल पहुंचे, जहां असलहे के बल पर पांचों के साथ गैंगरेप की घटना अंजाम दी गई। पुलिस के मुताबिक 20 जून को इस घटना की ख़बर सामने आई। ख़बर मिलने के तुरंत बाद ही खूंटी ज़िले के उपायुक्त अपनी टीम के साथ कोचांग पहुंचे और मामले की छानबीन शुरु की। 21 जून को एक पीड़िता की तलाश करने के बाद उससे लंबी पूछताछ की गई। बाद में पुलिस ने पीड़िता को चिकित्सीय परीक्षण के लिए भेजने के सा​थ ही आरोपियों की तलाश शुरु कर दी है।