इन महिलाओं के आगे घुटने टेक दिया यह खुंखार गैंगेस्टर, जानिए इनके बारे में

gujraat
इन महिलाओं के आगे घुटने टेक दिया यह खुंखार गैंगेस्टर, इनके बारे में पढ़िए

नई दिल्ली। गुजरात एटीएस की चार महिलाओं के सामने खुंखार गैंगेस्टर ने घुटने टेक दिये। यह गुजरात एटीएस की बड़ी कामयाबी मानी जा रही है। खुंखार गैंगेस्टर हत्या, लूट जैसे कई बड़ी वारदातों में फरार चल रहा था। गैंगस्टर की गिरफ्तारी के बाद वायरल हो रही फोटो इस समय चर्चा का विषय बनी हुई है।

Gangster Jusab Allarakha Arrested In Gujarat :

गुजरात पुलिस अधिकारियों ने बताया कि, एटीएस की महिला टी ने गैंगेस्टर को रविवार जूनागढ़ के निवासी गैंगस्टर जुसाब अल्लारखां को गिरफ्तार किया है। पीएसआई संतोक ओडेदरा के मुताबिक, जुसाब के खिलाफ लूट के चार मामले दर्ज हैं और लूट व सरकारी अधिकारियों पर हमला करने के कई मामले दर्ज हैं।

बताया जा रहा है कि जब जूनागढ़ के जंगलों में एटीएस के महिला अधिकारियों से गैंगेस्टर का सामना हुआ तो गैंगस्टर ज्यादा समय उकने आगे नहीं टिक पाया। तेज-तर्रार महिला अधिकारियों से घिरा हुए देखकर उसे अपनी जान का खतरा सताने लगा। ऐसे में जान बचाने के लिए उसने तुरंत महिला अधिकारियों के आगे घुटने टेक दिए। महिला अधिकारियों ने जांबाजी का प्रदर्शन करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया है, जो एक बड़ी कामयाबी है।

जूनागढ़ जिले का रहने वाला गैंगस्टर पिछले साल जून में पैरोल पे छूटा था और उसके बाद वो फरार हो गया था। इसकेे बाद कई बड़ी वारदातों को अंजाम दिया था। महिला पीएसआइ की एक टीम को हाल ही में एटीएस में शामिल किया गया है। इनके नाम हैं- संतोजबेन ओडेडरा, नितिमिका गोहिल, अरुणाबेन गामिती और शकुन्तला मल। महिला पुलिस इंस्पेक्टर्स के जरिए नामचीन डॉन की गिरफ्तारी चर्चा का विषय बनी हुई है।

नई दिल्ली। गुजरात एटीएस की चार महिलाओं के सामने खुंखार गैंगेस्टर ने घुटने टेक दिये। यह गुजरात एटीएस की बड़ी कामयाबी मानी जा रही है। खुंखार गैंगेस्टर हत्या, लूट जैसे कई बड़ी वारदातों में फरार चल रहा था। गैंगस्टर की गिरफ्तारी के बाद वायरल हो रही फोटो इस समय चर्चा का विषय बनी हुई है। गुजरात पुलिस अधिकारियों ने बताया कि, एटीएस की महिला टी ने गैंगेस्टर को रविवार जूनागढ़ के निवासी गैंगस्टर जुसाब अल्लारखां को गिरफ्तार किया है। पीएसआई संतोक ओडेदरा के मुताबिक, जुसाब के खिलाफ लूट के चार मामले दर्ज हैं और लूट व सरकारी अधिकारियों पर हमला करने के कई मामले दर्ज हैं। बताया जा रहा है कि जब जूनागढ़ के जंगलों में एटीएस के महिला अधिकारियों से गैंगेस्टर का सामना हुआ तो गैंगस्टर ज्यादा समय उकने आगे नहीं टिक पाया। तेज-तर्रार महिला अधिकारियों से घिरा हुए देखकर उसे अपनी जान का खतरा सताने लगा। ऐसे में जान बचाने के लिए उसने तुरंत महिला अधिकारियों के आगे घुटने टेक दिए। महिला अधिकारियों ने जांबाजी का प्रदर्शन करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया है, जो एक बड़ी कामयाबी है। जूनागढ़ जिले का रहने वाला गैंगस्टर पिछले साल जून में पैरोल पे छूटा था और उसके बाद वो फरार हो गया था। इसकेे बाद कई बड़ी वारदातों को अंजाम दिया था। महिला पीएसआइ की एक टीम को हाल ही में एटीएस में शामिल किया गया है। इनके नाम हैं- संतोजबेन ओडेडरा, नितिमिका गोहिल, अरुणाबेन गामिती और शकुन्तला मल। महिला पुलिस इंस्पेक्टर्स के जरिए नामचीन डॉन की गिरफ्तारी चर्चा का विषय बनी हुई है।