इसलिए जल्द बंद होंगी सभी गरीब रथ ट्रेनें, AC में सफर होगा महंगा

इसलिए जल्द बंद होंगी सभी गरीब रथ ट्रेनें, AC में सफर होगा महंगा
इसलिए जल्द बंद होंगी सभी गरीब रथ ट्रेनें, AC में सफर होगा महंगा

नई दिल्ली। पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने गरीब रेल यात्रियों को AC ट्रेनों में सफर कराने के लिए साल 2006 में गरीब रथ एक्सप्रेस की शुरुआत की थी वहीं अब मौजूदा सरकार ने गरीब रथ ट्रेनों को मेल एक्सप्रेस में तब्दील करने की तैयारी कर रही है। लालू प्रसाद द्वारा चलाई गई गई गरीब रथ ट्रेनें जल्द ही बंद हो सकती हैं।

Garib Rath Express Train Will Be Converted In To Mail Trains Soon :

मिली जानकारी के मुताबिक सबसे पहले पूर्वोत्तर रेलवे से चलने वाली काठगोदाम-जम्मू और काठगोदाम-कानपुर सेंट्रल गरीब रथ को 16 जुलाई से मेल-एक्सप्रेस के रूप में बदल दिया गया है। यानी इन रूट पर अब गरीब रथ बंद हो चुकी है। दरअसल रेलवे का कहना है कि गरीब रथ की बोगियां बननी बंद हो गई हैं। यानी पटरी पर जो बोगियां दौड़ रही हैं वो सभी करीब 14 साल पुरानी हैं, यही वजह है कि गरीब रथ की बोगियों को अब मेल एक्सप्रेस में बदल दिया जाएंगा।

सस्ता सफर होगा महंगा

जैसे ही गरीब रथ ट्रेन को मेल या एक्सप्रेस ट्रेन में बदला जाएगा वैसे ही ट्रेन का किराया बढ़ जाएगा यानि गरीब रथ का सस्ता सफर अब महंगा होने वाला है। बता दें कि देश में कुछ 26 गरीब रथ ट्रेनें हैं जिन्हे धीरे-धीरे मेल एक्सप्रेस में बदला जाएगा।

गरीब रथ अधिकतम 140 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ती है और ट्रेन की सभी बोगियां थर्ड एसी की तर्ज पर हैं। लेकिन इस ट्रेन की खास बात यह है कि इसका किराया सामान्य थर्ड एसी के मुकाबले करीब 40 फीसदी कम है। यात्रियों को खान-पान और बेड रोल के लिए अलग से पेमेंट करना होता है। एक बेड रोल के लिए 25 रुपये देना होता है, जिसमें एक तकिया, एक कंबल और दो चादर होती हैं।

बता दें कि आनंद विहार रेलवे स्टेशन से पटना जंक्शन की गरीब रथ ट्रेन का किराया लगभग 900 रुपये है, जबकि मेल एक्सप्रेस ट्रेन के एसी-3 क्लास का किराया 1300 रुपये के आसपास है। यानि अब आपकी जेब पर इसका भारी असर पड़ सकता है।

नई दिल्ली। पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने गरीब रेल यात्रियों को AC ट्रेनों में सफर कराने के लिए साल 2006 में गरीब रथ एक्सप्रेस की शुरुआत की थी वहीं अब मौजूदा सरकार ने गरीब रथ ट्रेनों को मेल एक्सप्रेस में तब्दील करने की तैयारी कर रही है। लालू प्रसाद द्वारा चलाई गई गई गरीब रथ ट्रेनें जल्द ही बंद हो सकती हैं। मिली जानकारी के मुताबिक सबसे पहले पूर्वोत्तर रेलवे से चलने वाली काठगोदाम-जम्मू और काठगोदाम-कानपुर सेंट्रल गरीब रथ को 16 जुलाई से मेल-एक्सप्रेस के रूप में बदल दिया गया है। यानी इन रूट पर अब गरीब रथ बंद हो चुकी है। दरअसल रेलवे का कहना है कि गरीब रथ की बोगियां बननी बंद हो गई हैं। यानी पटरी पर जो बोगियां दौड़ रही हैं वो सभी करीब 14 साल पुरानी हैं, यही वजह है कि गरीब रथ की बोगियों को अब मेल एक्सप्रेस में बदल दिया जाएंगा। सस्ता सफर होगा महंगा जैसे ही गरीब रथ ट्रेन को मेल या एक्सप्रेस ट्रेन में बदला जाएगा वैसे ही ट्रेन का किराया बढ़ जाएगा यानि गरीब रथ का सस्ता सफर अब महंगा होने वाला है। बता दें कि देश में कुछ 26 गरीब रथ ट्रेनें हैं जिन्हे धीरे-धीरे मेल एक्सप्रेस में बदला जाएगा। गरीब रथ अधिकतम 140 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ती है और ट्रेन की सभी बोगियां थर्ड एसी की तर्ज पर हैं। लेकिन इस ट्रेन की खास बात यह है कि इसका किराया सामान्य थर्ड एसी के मुकाबले करीब 40 फीसदी कम है। यात्रियों को खान-पान और बेड रोल के लिए अलग से पेमेंट करना होता है। एक बेड रोल के लिए 25 रुपये देना होता है, जिसमें एक तकिया, एक कंबल और दो चादर होती हैं। बता दें कि आनंद विहार रेलवे स्टेशन से पटना जंक्शन की गरीब रथ ट्रेन का किराया लगभग 900 रुपये है, जबकि मेल एक्सप्रेस ट्रेन के एसी-3 क्लास का किराया 1300 रुपये के आसपास है। यानि अब आपकी जेब पर इसका भारी असर पड़ सकता है।