1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Garima Singh jeevan parichay : कांग्रेस के गढ़ अमेठी में शाही परिवार की बहू गरिमा सिंह ने खिलाया कमल

Garima Singh jeevan parichay : कांग्रेस के गढ़ अमेठी में शाही परिवार की बहू गरिमा सिंह ने खिलाया कमल

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अमेठी जिले में निर्वाचन क्षेत्र - 186, अमेठी से विधायक रानी गरिमा सिंह (Garima Singh ) की परिवारिक पृष्ठभूमि राजनीति घराने से है। इसके चलते उनका राजनीतिक क्षेत्र को जानना स्वाभाविक था। रानी गरिमा सिंह देश के पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह (Former Prime Minister VP Singh) की भतीजी हैं। इसके अलावा इनका अमे​ठी के शाही परिवार से सम्बन्ध हैं। उन्हें अमेठी के स्थानीय लोगों का भरपूर समर्थन प्राप्त है। वर्तमान में वह 17वीं विधानसभा की सदस्य हैं और अमेठी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र (Amethi Assembly Constituency) का प्रतिनिधित्व करती हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Garima Singh jeevan parichay :  उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अमेठी जिले में निर्वाचन क्षेत्र – 186, अमेठी से विधायक रानी गरिमा सिंह (Garima Singh ) की परिवारिक पृष्ठभूमि राजनीति घराने से है। इसके चलते उनका राजनीतिक क्षेत्र को जानना स्वाभाविक था। रानी गरिमा सिंह देश के पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह (Former Prime Minister VP Singh) की भतीजी हैं। इसके अलावा इनका अमे​ठी के शाही परिवार से सम्बन्ध हैं। उन्हें अमेठी के स्थानीय लोगों का भरपूर समर्थन प्राप्त है। वर्तमान में वह 17वीं विधानसभा की सदस्य हैं और अमेठी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र (Amethi Assembly Constituency) का प्रतिनिधित्व करती हैं।

पढ़ें :- Harsh Vardhan Bajpai jeevan parichay : हर्षवर्धन वाजयेपी के रगों में बसी है राजनीति, कांग्रेस के दिग्गज नेता को हराकर बने विधायक

व्यक्तिगत जीवन

गरिमा सिंह (Garima Singh ) की 14 दिसम्बर, 1973 को राजनेता, डॉ.  संजय सिंह से शादी हुई थी। हालांकि कुछ वर्षों के बाद संजय सिंह ने सैयद मोदी की विधवा widow of Syed Modi अमीता सिंह Ameeta Singh से शादी करने का दावा किया, लेकिन गरिमा ने उस शादी की वैधता का सफलतापूर्वक विरोध किया। उच्च न्यायालय और भारत के सर्वोच्च न्यायालय दोनों ने 1995 में अपने और संजय के बीच कथित आपसी तलाक को, जो अमीता से उनकी शादी से पहले हुआ था, अमान्य और शून्य घोषित कर दिया है। संजय ने अदालत के फैसले को स्वीकार कर लिया है। लेकिन इसके बाद वह कहते है कि अमीता उसकी एकमात्र कानूनी रूप से विवाहित पत्नी है। गरिमा और संजय के एक बेटा और दो बेटियां हैं।

संजय सिंह को अमेठी के राजा, रणंजय सिंह (Rananjay Singh)ने भारत में सभी शाही विशेषाधिकारों के उन्मूलन से पहले उनके उत्तराधिकारी के रूप में अपनाया था और इस तरह उन्हें पूर्व शाही सम्पदा विरासत में मिली थी। 1989 में, उन्होंने अमीता के साथ संबंध शुरू करने के बाद अपनी पत्नी गरिमा को महल से हटा दिया था। 2014 में, गरिमा और उनके बच्चों ने अमेठी के एक अन्य महल में निवास किया, जिसे भूपति भवन कहा जाता है। उन्होंने स्थानांतरित करने से इनकार कर दिया।

स्थानीय लोगों ने उसका समर्थन करने के लिए इकट्ठा किया, यह दावा करते हुए कि अमीता की बजाय वह  असली रानी हैंं। दावे और प्रति-दावे के बीच, संजय के सिहं के बेटे अनंत विक्रम सिंह अपनी मां का समर्थन किया है। यह आरोप लगाने में कि अमिता विभिन्न पूर्व शाही संपत्तियों के अपने भविष्य के उत्तराधिकार को कम कर रही है।

पढ़ें :- Indra Pratap (Khabbu Tiwari) jeevan parichay : इन्द्र प्रताप उर्फ खब्बू तिवारी बाहुबली को पटखनी दे पहुंचे विधानसभा, खिलाया कमल

संजय आरोपों से इनकार करते हैं, और इस दावे से भी इनकार करते हैं कि स्थानीय लोगों की परिवार उस तरह से देखभाल नहीं कर रहा है जैसा कि प्रथागत है। गरिमा का दावा है कि उसने अपने बच्चों के समर्थन में महल में प्रवेश किया, जो सभी अमीता को उन परेशानियों के लिए दोषी ठहराते हैं जो संजय और अमीता के रिश्ते की शुरुआत के बाद से उत्पन्न हुई हैं।

ये है पूरा सफरनामा

नाम – गरिमा सिंह
निर्वाचन क्षेत्र – 186, अमेठी
दल – भारतीय जनता पार्टी
पिता का नाम-  हरबक्श सिंह
जन्‍म तिथि- 08 जनवरी, 1956
जन्‍म स्थान -बेतिया, बिहार
धर्म- हिन्दू
जाति- क्षत्रिय
शिक्षा- इण्टरमीडिएट
विवाह तिथि- 14 दिसम्बर, 1973
पति का नाम- डॉ. संजय सिंह
सन्तान- एक पुत्र, दो पुत्रियां
मुख्यावास- भूपति भवन, रामनगर अमेठी, जनपद-अमेठी

राजनीतिक कैरियर

अमेठी को कांग्रेस का गढ़ माना जाता है। भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party)  की ओर से वर्ष 2016 में गरिमा सिंह के बेटे विक्रम को भारतीय जनता पार्टी में शामिल किया गया। इससे कुछ समय पूर्व गरिमा सिंह ने राजनीति में उतरने की इच्छा नहीं जताई। परन्तु वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) उन्हें राजनीति क्षेत्र में प्रवेश कराया।

पढ़ें :- Hemlata Diwakar Kushwaha jeevan parichay : हेमलता को सपा में नहीं मिली सफलता, तो थामा बीजेपी का दामन मोदी लहर में बनीं विधायक

सिंह ने 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी गायत्री प्रसाद (Gayatri Prasad) को 5,065 मतों के अंतर से हराया। उस चुनाव में एक अन्य प्रतियोगी अमीता सिंह थीं, जो भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (Indian National Congress) के उम्मीदवार के रूप में खड़ी थीं। दोनों महिलाओं ने अपने चुनावी हलफनामे में संजय सिंह को अपना जीवनसाथी बताया है।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...