‘जिस दिन आप अपना जमीर और ईमान हार जाएंगे उस दिन सब हार जाएंगे’ : गौतम गंभीर

gambhir
'जिस दिन आप अपना जमीर और ईमान हार जाएंगे उस दिन सब हार जाएंगे' : गौतम गंभीर

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सातों सीटों पर कब्जा जमाने के बाद शनिवार को सभी सांसदो ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने दिल्ली की जनता का आभार व्यक्त किया। इस बीच पूर्वी दिल्ली से सांसद गौतम गंभीर ने सीएम अरविंद केजरीवाल पर बड़ा हमला बोला है।

Gautam Gambhir Attack On Arvind Kejriwal :

गौतम गंभीर ने कहा कि, ‘मैं सीएम साहब को बोलना चाहूंगा कि चुनाव आयेंगे—जायेंगे। जिस दिन आप अपना जमीर और ईमान हार जायेंगे उस दिन सब हार जाएंगे।’ इसके साथ ही गौतम गंभीर ने कहा कि, ‘अगर एक सीट जीतने के लिए अगर आप ऐसा घिनौना आरोप लगा सकते हैं तो मेरे पास ज्यादा शब्द नहीं हैं उन के बारे में बात करने के लिए।’

गौरतलब हो कि लोकसभा चुनाव के दौरान गौतम गंभीर पर अभद्र पर्चे बांटने के आरोप लगाए गये थे। आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया था कि चुनाव से पहले गौतम गंभीर ने अपनी प्रतिद्वंद्वी आतिशी के खिलाफ अभद्र भाषा में लिखे पर्चे बंटवाए थे। हालांकि उस दौरान गौतम गंभीर ने कहा था कि वह इस तरह का काम कभी भी नहीं कर सकते हैं।

इसके साथ ही कहा था कि अगर यह आरोप सच साबित होते हैं तो मैं चुनाव से अपना नाम वापस ले लूंगा और अगर ऐसा नहीं हुआ तो क्या अरविंद केजरीवाल राजनीति छोड़ेंगे?

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सातों सीटों पर कब्जा जमाने के बाद शनिवार को सभी सांसदो ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने दिल्ली की जनता का आभार व्यक्त किया। इस बीच पूर्वी दिल्ली से सांसद गौतम गंभीर ने सीएम अरविंद केजरीवाल पर बड़ा हमला बोला है। गौतम गंभीर ने कहा कि, 'मैं सीएम साहब को बोलना चाहूंगा कि चुनाव आयेंगे—जायेंगे। जिस दिन आप अपना जमीर और ईमान हार जायेंगे उस दिन सब हार जाएंगे।' इसके साथ ही गौतम गंभीर ने कहा कि, 'अगर एक सीट जीतने के लिए अगर आप ऐसा घिनौना आरोप लगा सकते हैं तो मेरे पास ज्यादा शब्द नहीं हैं उन के बारे में बात करने के लिए।' गौरतलब हो कि लोकसभा चुनाव के दौरान गौतम गंभीर पर अभद्र पर्चे बांटने के आरोप लगाए गये थे। आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया था कि चुनाव से पहले गौतम गंभीर ने अपनी प्रतिद्वंद्वी आतिशी के खिलाफ अभद्र भाषा में लिखे पर्चे बंटवाए थे। हालांकि उस दौरान गौतम गंभीर ने कहा था कि वह इस तरह का काम कभी भी नहीं कर सकते हैं। इसके साथ ही कहा था कि अगर यह आरोप सच साबित होते हैं तो मैं चुनाव से अपना नाम वापस ले लूंगा और अगर ऐसा नहीं हुआ तो क्या अरविंद केजरीवाल राजनीति छोड़ेंगे?