गौतम गंभीर का शाहिद अफरीदी को करारा जवाब, कहा- मैं खुद कराऊंगा तुम्हारे दिमाग का इलाज

gautam
गौतम गंभीर का शाहिद अफरीदी को करारा जवाब, कहा- मैं खुद कराऊंगा तुम्हारे दिमाग का इलाज

नई दिल्ली। पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) ने अपनी आत्मकथा ‘गेम चेंजर’ में गौतम गंभीर के बारे में नकारात्मक बातें लिखी हैं। उन्होंने ना सिर्फ भारतीय के पूर्व क्रिकेटर के रवैये पर सवाल उठाए हैं, बल्कि यह भी कह डाला कि उनका क्रिकेट जगत में कोई रिकॉर्ड नहीं है। इस बयान पर गौतम गंभीर ने तंज कसते हुए प्रहार किया है।

Gautam Gambhir Give Hard Reply To Shahid Afridi :

पूर्व भारतीय क्रिकेटर गंभीर ने अफरीदी को टैग करते हुए अपने अधिकारिक ट्विटर पर इसका जवाब दिया. उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘…तुम मजाकिया व्यक्ति हो!! कोई नहीं, हम अब भी पाकिस्तानी लोगों को चिकित्सा के लिए वीजा दे रहे हैं। मैं खुद तुम्हें मनोचिकित्सक के पास लेकर जाऊंगा। ‘ इन दोनों खिलाड़ियों के बीच मैदान के अंदर और बाहर ही अच्छा तालमेल नहीं रहा है और अफरीदी की इस तरह की टिप्पणी में यह साफ झलकता है।

वर्ष 2007 में कानपुर में द्विपक्षीय वनडे सीरीज में दोनों के बीच बहस हो गयी थी (हालांकि अफरीदी की किताब में एशिया कप मैच बताया गया है जो गलत है) अफरीदी ने हाल में स्वीकार किया कि उन्होंने उम्र संबंधित धोखाधड़ी की थी और जब उन्होंने अपने पर्दापण मैच में शतक जड़ा था तो वह 16 के नहीं बल्कि 21 साल के थे। जबकि वर्षों से माना जा रहा था कि वह तब 16 साल के थे।

इन दोनों खिलाड़ियों के बीच मैदान के अंदर और बाहर ही अच्छा तालमेल नहीं रहा है और अफरीदी की इस तरह की टिप्पणी में यह साफ झलकता है। साल 2007 में कानपुर में द्विपक्षीय वनडे सीरीज में दोनों के बीच बहस हो गई थी। हालांकि, अफरीदी की किताब में इसे एशिया कप का मैच बताया गया है, जो गलत है।

शाहिद अफरीदी ने किताब में अपनी सही उम्र का खुलासा भी किया है। हालांकि, वे इसमें भी भ्रमित नजर आ रहे हैं। उन्होंने गेम चेंजर में अपनी जन्मतिथि 1975 की बताई है। हालांकि, आधिकारिक रिकॉर्ड में यह 1 मार्च 1980 दर्ज है। अफरीदी ने 1996 में अपना पहला मैच खेला था। इस हिसाब से तब उनकी आधिकारिक उम्र 16 साल थी। अफरीदी ने अब किताब में कहा कि वे तब 16 नहीं, 19 साल के थे. जबकि, अगर उनकी जन्मतिथि किताब के मुताबिक 1975 की मानी जाए तो वे 1996 में 21 साल के रहे होंगे. यानी उनकी उम्र को लेकर गड़बड़ घोटाला तो अब भी नहीं थमा है.

नई दिल्ली। पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) ने अपनी आत्मकथा ‘गेम चेंजर’ में गौतम गंभीर के बारे में नकारात्मक बातें लिखी हैं। उन्होंने ना सिर्फ भारतीय के पूर्व क्रिकेटर के रवैये पर सवाल उठाए हैं, बल्कि यह भी कह डाला कि उनका क्रिकेट जगत में कोई रिकॉर्ड नहीं है। इस बयान पर गौतम गंभीर ने तंज कसते हुए प्रहार किया है। पूर्व भारतीय क्रिकेटर गंभीर ने अफरीदी को टैग करते हुए अपने अधिकारिक ट्विटर पर इसका जवाब दिया. उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘...तुम मजाकिया व्यक्ति हो!! कोई नहीं, हम अब भी पाकिस्तानी लोगों को चिकित्सा के लिए वीजा दे रहे हैं। मैं खुद तुम्हें मनोचिकित्सक के पास लेकर जाऊंगा। ' इन दोनों खिलाड़ियों के बीच मैदान के अंदर और बाहर ही अच्छा तालमेल नहीं रहा है और अफरीदी की इस तरह की टिप्पणी में यह साफ झलकता है। वर्ष 2007 में कानपुर में द्विपक्षीय वनडे सीरीज में दोनों के बीच बहस हो गयी थी (हालांकि अफरीदी की किताब में एशिया कप मैच बताया गया है जो गलत है) अफरीदी ने हाल में स्वीकार किया कि उन्होंने उम्र संबंधित धोखाधड़ी की थी और जब उन्होंने अपने पर्दापण मैच में शतक जड़ा था तो वह 16 के नहीं बल्कि 21 साल के थे। जबकि वर्षों से माना जा रहा था कि वह तब 16 साल के थे। इन दोनों खिलाड़ियों के बीच मैदान के अंदर और बाहर ही अच्छा तालमेल नहीं रहा है और अफरीदी की इस तरह की टिप्पणी में यह साफ झलकता है। साल 2007 में कानपुर में द्विपक्षीय वनडे सीरीज में दोनों के बीच बहस हो गई थी। हालांकि, अफरीदी की किताब में इसे एशिया कप का मैच बताया गया है, जो गलत है। शाहिद अफरीदी ने किताब में अपनी सही उम्र का खुलासा भी किया है। हालांकि, वे इसमें भी भ्रमित नजर आ रहे हैं। उन्होंने गेम चेंजर में अपनी जन्मतिथि 1975 की बताई है। हालांकि, आधिकारिक रिकॉर्ड में यह 1 मार्च 1980 दर्ज है। अफरीदी ने 1996 में अपना पहला मैच खेला था। इस हिसाब से तब उनकी आधिकारिक उम्र 16 साल थी। अफरीदी ने अब किताब में कहा कि वे तब 16 नहीं, 19 साल के थे. जबकि, अगर उनकी जन्मतिथि किताब के मुताबिक 1975 की मानी जाए तो वे 1996 में 21 साल के रहे होंगे. यानी उनकी उम्र को लेकर गड़बड़ घोटाला तो अब भी नहीं थमा है.