मुलायम का ‘गायत्री प्रेम’ बढ़ा सकता है समाजवादी कुनबे में कलह

लखनऊ। समाजवादी पार्टी में एक बार फिर विवादित मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति का कद बढ़ा दिया गया। सपा मुखिया मुलायम सिंह यादवन ने गायत्री प्रजापति को राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सचिव घोषित कर दिया। सपा मुखिया के इस फैसले के बाद एक बार फिर समाजवादी कुनबे में पारिवारिक कलह बढ़ने के आसार पैसा हो सकते हैं। बता दें कि अभी दो दिन पहले ही अमर सिंह लखनऊ पहुंचे थे और उन्होने प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव से मुलाक़ात की थी, जिसके बाद कल शाम गायत्री को नई ज़िम्मेदारी दी गयी है।




करप्शन के आरोप में बर्खास्त हो चुके हैं गायत्री—

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 12 सितंबर 2016 को पहली बार करप्शन के आरोप में गायत्री प्रजापति को बर्खास्त कर दिया था। गायत्री पर आरोप था कि खनन मंत्री रहते हुए वो अवैध खनन की गतिविधियों में शामिल रहे। बर्खास्‍तगी के 15 दिन बाद ही गायत्री प्रजापति की भी वापसी हुई। कहा जाता है कि मुलायम सिंह के कहने के बाद ही गायत्री की कैबिनेट में वापसी हुई थी।




बढ़ सकती है कलह—

गायत्री प्रजापति को राष्‍ट्रीय सचिव बनाने के बाद सपा परिवार में एक बार फिर कलह बढ़ सकती है। सीएम अखिलेश पहले से ही अमर सिंह पर इस बात का आरोप लगा चुके हैं कि परिवार और सरकार में तीसरे का दखल बर्दाश्त नहीं है।