गायत्री को मंत्री पद पाने के लिए करना पड़ सकता है लंबा इंतजार

लखनऊ: मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भले ही बर्खास्त मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति को फिर से मंत्री बनाने के लिए राज्यपाल राम नाईक को दो दिन पहले पत्र लिख दिया है मगर अब इसमें पेंच फंसता दिख रहा है। सूत्रों की माने तो समाजवादी पार्टी में चल रही उठापठक के कारण मंत्री पद पाने के लिए गायत्री प्रसाद प्रजापति को अभी लम्बा इंतजार करना पड़ सकता है।

वैसे भरोसेमंद सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा 27 जून 2016 को अपने मंत्रिमण्डल में बतौर मंत्री जियाउद्दीन रिजवी को शपथ दिलाने का आग्रह किया था। राज्यपाल ने मुख्यमंत्री की सलाह पर रिजवी को मंत्री मनोनीत कर दिया। मगर करीब तीन महीने बीतने के बाद भी उन्हें मंत्री पद की शपथ नहीं दिलायी जा सकी है। राजभवन सूत्रों का कहना है कि राज्यपाल श्री रिजवी को तभी शपथ दिलाएंगे जब मुख्यमंत्री अपना समय तय करके बतायें। इस बीच ही मुख्यमंत्री ने 17 सितम्बर को राज्यपाल नाईक को पत्र लिखकर गायत्री प्रसाद प्रजापति को फिर से मंत्री पद की शपथ दिलाने का आग्रह किया लेकिन राज्यपाल ने प्रजापति को अभी तक मंत्री पद की शपथ दिलाने को नहीं बुलाया है।




सूत्रों के मुताबिक राज्यपाल ने प्रजापति के बारे में भेजे गये पत्र को लेकर मुख्यमंत्री से फोन पर बात की। राज्यपाल ने मुख्यमंत्री से पूछा पहले से मनोनीत मंत्री रिजवी की शपथ का क्या होगा? इसी के बाद मुख्यमंत्री ने भी राज्यपाल को अपने ताजा पत्र पर कोई कार्रवाई करने की जल्दबाजी न करने की बात कही है। यही वजह रही कि 17 सितम्बर को राज्यपाल ने मंत्री शिवपाल सिंह यादव को फिर से पुराने विभाग दिए जाने की जानकारी के साथ ही गायत्री प्रसाद प्रजापति को शपथ दिलाने के बारे में मुख्यमंत्री से बात करके समय तय करने की बात कही। अब तभी शपथ होगी जब राज्यपाल और मुख्यमंत्री दोनों अपना समय तय करेंगे।

Loading...