बिपिन रावत, वीरेन्द्र सिंह धनोवा ने संभाली सेना की कमान, बख्शी ने की तारीफ

Gen Bipin Rawat Appointed Asarmy Chief And Bs Dhanoa Became New Air Force Chief

नई दिल्ली। लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत ने सेना के 27वें प्रमुख का प्रभार शनिवार को संभाल लिया। एयर मार्शल वीरेन्द्र सिंह धनोवा ने भी 25वें वायुसेना प्रमुख का प्रभार संभाला। जनरल रावत को दो वरिष्ठ लेफ्टिनेंट जनरल, प्रवीण बख्शी और पीएम हारिज पर तरजीह दी गई है। लेफ्टिनेंट जनरल बख्शी ने रावत को पूरा सहयोग देने की बात कही है। उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कहा कि वह पूरी तरह गंभीरता के साथ नेतृत्व करते रहेंगे।




बख्शी ने कहा, सेना प्रमुख का पदभार संभालने पर जनरल बिपिन रावत को मैं अपनी शुभकामनाएं और पूर्वी कमान को पूरा सहयोग देता हूं। इससे पहले ये अटकलें थी कि लेफ्टिनेंट जनरल बख्शी इस्तीफे की पेशकश कर सकते हैं या समय से पहले सेवानिवृत्ति ले सकते हैं उन्होंने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर से भी हाल में मुलाकात की थी।




बख्शी ने कहा देशहित के लिए कार्य करे मीडिया

उन्होंने अनुरोध किया कि मीडिया में अटकलबाजी और ट्रालिंग बंद होनी चाहिए। साथ ही देश के हर व्यक्ति को सेना एवं राष्ट्र की बेहतरी के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान देना चाहिए। जनरल सुहाग ने कहा कि सेना किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है।

उन्होंने खुली छूट देने और ‘वन रैंक वन पेंशन’ योजना लागू करने को लेकर सरकार का शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा कि घुसपैठ की कोशिशें इस साल बढ़ गई और मारे गए आतंकवादियों की संख्या पिछले साल की तुलना में करीब दोगुनी है।

उन्होंने मुख्य रूप से किरण और मिग 21 विमान उड़ाई, जिसके जरिए उन्हें जगुआर से लेकर अत्याधुनिक मिग 29 और सुखोई 30 एमकेआई जैसे लड़ाकू विमानों का अनुभव प्राप्त हुआ।

नई दिल्ली। लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत ने सेना के 27वें प्रमुख का प्रभार शनिवार को संभाल लिया। एयर मार्शल वीरेन्द्र सिंह धनोवा ने भी 25वें वायुसेना प्रमुख का प्रभार संभाला। जनरल रावत को दो वरिष्ठ लेफ्टिनेंट जनरल, प्रवीण बख्शी और पीएम हारिज पर तरजीह दी गई है। लेफ्टिनेंट जनरल बख्शी ने रावत को पूरा सहयोग देने की बात कही है। उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कहा कि वह पूरी तरह गंभीरता के साथ नेतृत्व करते रहेंगे। बख्शी ने कहा, सेना…