मैं तुझसे प्यार करता हूं और तू मेरी होकर रहेगी, इंकार करेगी तो न तू जिंदा रहेगी और न मैं

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक तरफा प्यार में पागल आशिक ने प्रताप विहार स्थित एक अस्पताल में घुसकर रिसेप्शनिस्ट की गोली मारकर हत्या कर दी और स्वयं को भी गोली मारकर आत्महत्या कर ली। इस वारदात से इलाके में सनसनी मची हुई है।




प्राप्त जानकारी के अनुसार, सेक्टर नौ निवासी हरवंश की पुत्री ज्योति गौतम (22) बीकॉम की छात्रा थी और करीब डेढ़ साल से प्रताप विहार स्थित लाइफ लाइन मेडिलक सेंटर अस्पताल में रिसेप्शनिस्ट की नौकरी करती थी। मूलरूप से अलीगढ़ का रहने वाला बॉबी ज्योति के पड़ोस में अपनी दादी के साथ रहता था।

कई बार उसने ज्योति से प्यार का इजहार भी किया लेकिन उसने मना कर दिया। परीक्षा के कारण ज्योति ने अस्पताल से दो माह की छुट्टी ली हुई थी, उसकी गैरहाजिरी में प्रियंका नाम की सहेली रिसेप्शन का काम संभाल रही थी। मंगलवार शाम को ज्योति प्रियंका से मिलने अस्पताल गई थी। इसका पता बॉबी को चला तो वह देर शाम करीब साढ़े सात बजे अस्पताल पहुंचा। यहां प्रियंका व ज्योति दोनों एक साथ रिसेप्शन पर बैठी हुई थी। बॉबी ने ज्योति से कहा कि मैं तुझसे प्यार करता हूं और तू मेरी होकर रहेगी।




ज्योति ने उसे इन्कार कर दिया और जाने के लिए कहा। बॉबी ने यह कहते हुए कि न तू जिंदा रहेगी और न मैं, उसके दिल की तरफ छाती में गोली मार दी। प्रियंका किसी तरह अपनी जान बचाकर वहां से भागी। इसके बाद बॉबी ने अपने सीने में भी दिल की तरफ गोली मार ली।