1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. गिलोय जूस है इम्यूनिटी के लिए है रामबाण, जानें इसके फायदे

गिलोय जूस है इम्यूनिटी के लिए है रामबाण, जानें इसके फायदे

कोरोना महामारी की दूसरी लहर से बचाव के लिए कई वैक्सीन और दवाइयां भी मार्केट में उपलब्ध हैं, लेकिन कई ऐसे मामले भी सामने आए हैं। जहां वैक्सीन लगवाने के बाद भी लोग कोरोना संक्रमित हुए हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Giloy Juice Is A Panacea For Immunity Know Its Benefits

लखनऊ। कोरोना महामारी की दूसरी लहर से बचाव के लिए कई वैक्सीन और दवाइयां भी मार्केट में उपलब्ध हैं, लेकिन कई ऐसे मामले भी सामने आए हैं। जहां वैक्सीन लगवाने के बाद भी लोग कोरोना संक्रमित हुए हैं।

पढ़ें :- इम्युनिटी को बूस्ट करने के लिए आठ घंटे की नींद जरूरी, तभी हारेगा कोरोना

ऐसे में बेहतर है कि बॉडी की रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी हो, ताकि शरीर हर वायरस से लड़ने में सक्षम हो। आयुर्वेद में गिलोय एक ऐसी जड़ी-बूटी है जोकि बॉडी की इम्यूनिटी मजबूत करती है। गिलोय की पत्त‍ियों में कैल्शि‍यम, प्रोटीन, फॉस्फोरस पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। इसके अलावा इसके तनों में स्टार्च की भी अच्छी मात्रा होती है। गिलोय का इस्तेमाल कई तरह की बीमारियों में किया जाता है। ये एक बेहतरीन पावर ड्रिंक भी है। ये इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने का काम करती है, जिसकी वजह से कई तरह की बीमारियों से सुरक्षा मिलती है।

गिलोय की पत्तियां बैक्टीरिया और वायरस जनित कई बीमारियों को जड़ से खत्म करने की क्षमता रखती है। योग गुरु स्वामी रामदेव ने बताया की मानें तो गिलोय का काढ़ा शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर बीमारियों से लड़ने की ताकत प्रदान करता है। गिलोय का इस्तेमाल बहुत पहले से ही बुखार को ठीक करने के लिए किया जाता रहा है। गिलोय का काढ़ा कई दिन तक लगातार सेवन करने से पुराने से पुराना बुखार भी ठीक हो जाता है। ऐसे में इसका सेवन लाभकारी साबित हो सकता है।

खून साफ करता है गिलोय

गिलोय एंटीऑक्सिडेंट की तरह काम करती है जो कि झुर्रियों से लड़ने में मदद करती है। इसके अलावा यह कोशिकाओं को स्वस्थ और निरोग रखने में अहम भूमिका निभाती है। गिलोय की पत्तियां शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकालती हैं। साथ ही खून को साफ करती हैं, बीमारियों से लड़ने वाले बैक्टीरिया की रक्षा करती हैं और यूरीन की समस्या से भी निजात दिलाती हैं।

पढ़ें :- कोरोना फेफड़ों पर करता है वार, इस तरह खुद को रखें सुरक्षित

पाचनतंत्र को गिलोय करती है मजबूत

गिलोय का इस्तेमाल पाचन में सुधार और आंत संबंधी समस्याओं से निजात के लिए किया जाता है। रोजाना आधा ग्राम गिलोय के साथ आंवला पाउडर लेने से पाचन शक्ति मजबूत होती है। कब्ज के इलाज के लिए इसे गुड़ के साथ लेना चाहिए।

सांस संबंधी बीमारी में गिलोय है फायदेमंद

गिलोय के इस्तेमाल से सांस संबंधी रोग जैसे अस्थमा और खांसी में फायदा होता है। इसे नीम और आंवला के साथ मिलाकर इस्तेमाल करने से त्वचा संबंधी रोग जैसे एग्जिमा और सोराइसिस दूर किए जा सकते हैं। यह पीलिया और कुष्ठ रोगों में भी फायदेमंद है। इसके साथ ही सूजन कम करने, गठिया और आर्थेराइटिस से बचाव में बहुत फायदेमंद है।

पढ़ें :- कोरोना महामारी में Pregnant महिलाएं खुद को इस तरह रखें फिट

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X