पुलिस के दबाव से परेशान होकर युवती ने की आत्महत्या

इलाहाबाद| पहले छेड़खानी फिर पुलिस के दबाव से परेशान होकर युवती ने आत्महत्या कर ली| मामला सैनी थाना इलाके के ख्वाजा के मई गांव का हैं| जहां के निवासी इंद्रपाल की बेटी सोमवार शाम को किसी काम से घर से बाहर गई हुई थी| काफी देर तक जब वो वापस घर नहीं लौटी तो इंद्रपाल अपनी बेटी को ढूँढने निकले| जब वो खेत की तरफ बढ़े तो वहां पूर्व गांव प्रधान निम्बू लाल का बेटा मुनिल कुमार अपने साथी गोरेलाल और अखिलेश के साथ ऊषा से जबरदस्ती कर रहा था| बेटी को मुसीबत में देख पिता शोर मचाने लगा| जिसके बाद आरोपी वहां से फरार हो गए।

पुलिस ने बनाया दबाव

इस घटना के बाद इंद्रपाल थाने गया जहां उसने आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई| पुलिस ने तुरंत कार्रवाई कर शिकायती पत्र देने की बात कही| पीड़िता के परिजनो के मुताबिक, आरोपियों में पूर्व प्रधान के बेटे का नाम देखकर पुलिस ने दबाव बनाया कि हम उसका नाम हटा दें| हमने ऐसा ही किया और हमारी रिपोर्ट दर्ज कर ली गई| इसके बाद भी पुलिस वालों ने पीड़ित परिवार को परेशान किया और बयान लेने के नाम पर पीड़िता को घंटो थाने में बैठाए रखा| इस दौरान वह पीड़िता से लगातार प्रधान के बेटे का नाम न लेने का दबाव बनाते रहे|

पीड़ित परिवार का कहना है कि पुलिस के दबाव से पीड़िता सहम गयी थी| जिसके बाद वो घर जाकर अपने कमरे में चली गयी| जब कुछ समय बाद उसकी मां कमरे मे गयी तो ऊषा को बदहवास पाया| उसके मुंह से झाग निकल रहा था| परिवार ने उसे तुरंत उसे हॉस्पिटल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया|