BHU: कुछ घंटों की शांति के बाद फिर भड़की हिंसा, सीएम योगी ने लिया संज्ञान

वाराणसी। कुछ घंटों की शांति के बाद बीएचयू में फिर बवाल मच गया है। बीती रात की हिंसक घटनाओं के बाद परिसर शांति बहाली की ओर बढ़ ही रहा था कि रविवार दोपहर अचानक परिसर का माहौल एकाएक गर्म हो गया। दोपहर 12 बजे ब्रोचा छात्रावास के सामने से गुजर रहे ट्रैक्टर में आग लगा दी गई, वहीं एलडी गेस्ट हाउस चौराहे पर शांति मार्च निकाल रही छात्राओं पर प्रॉक्टोरियल बोर्ड के सुरक्षाकर्मियों ने लाठीचार्ज कर दिया। उधर पूरे मामले पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लिया है। इस मामले में जल्द ही कुछ बड़े अफसरों पर कार्रवाई की जा सकती है।


आज का माहौल

आज सुबह आंदोलनरत छात्राओं ने सुबह साइलेंट मार्च निकाला। छात्राओं ने फिर सुबह कुलपति और विश्वविद्यालय के खिलाफ हुंकार भरी है। कुलपति जीसी त्रिपाठी अपनी जिद पर अड़े हैं। वो छात्राओं से बात करने को तैयार नहीं हैं। वीसी लॉज के सामने पहुंचते पुलिस ने फिर बर्बरता दिखाई। लाठी के दम पर छात्राओं को भगाने का प्रयास किया गया। छात्राओं का आरोप है कि पुलिस ने लाठी चार्ज किया मगर पुलिसकर्मी इनकार करते रहे। घटना के बाद छात्र-छात्राएं फिर एकजुट हुए और कैंपस में मौन मार्च निकाल रहे हैं। कैंपस में वाराणसी के 22 थानों के अलावा तीन जिलों की फोर्स पहुंची हैं। कई कंपनी पीएसी वहां पहले से मौजूद है।

पूरा विश्वविद्यालय परिसर पुलिस छावनी में तब्दील है। इधर, सोशल मीडिया पर छात्राओं के समर्थन में आवाज बुलंद हो रही है। पुलिस के इस कृत्य को लोगों ने शर्मनाक बताया है। पूरे देश की नजर बीएचयू में हरवक्त बदलते घटनाक्रम पर है।

{ यह भी पढ़ें:- बीएचयू पर यूपी में गरमाई सियासत, वाराणसी पहुंचे राज बब्बर गिरफ्तार }

कल रात का मंज़र
बता दें कि बीएचयू कैंपस में शनिवार की रात पुलिस और छात्रों के बीच जो गुरिल्ला युद्ध चला, उसका केंद्र बिड़ला ए चौराहा बना रहा। वीसी लॉज से कोई आधा किलोमीटर दूर इस चौराहे के एक तरफ से भारी फोस तो दूसरी ओर छात्र जमे रहे। दोनों तरफ से एक दूसरे पर जवाबी कार्रवाई जारी रही। जब माहौल बिगड़ता गया तो पुलिस ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटना शुरू कर दिया।

{ यह भी पढ़ें:- BHU विवाद: मनचलों ने छात्रा के कुर्ते में हाथ डाला, जींस में हाथ डालने की कोशिश }