हॉस्टल में मिला यूज्ड सैनेटरी पैड, वार्डन ने तलाशी के नाम पर उतरवाए छात्राओं के कपड़े

हॉस्टल में मिला यूज्ड पैड, वार्डन ने उतरवाए छात्राओं के कपड़े
हॉस्टल में मिला यूज्ड सैनेटरी पैड, वार्डन ने तलाशी के नाम पर उतरवाए छात्राओं के कपड़े

भोपाल। मध्य प्रदेश के सागर जिला स्थित डॉ. हरिसिंह गौर यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में गंदा सेनेटरी पैड मिलने पर वार्डन ने तलाशी के नाम पर छात्राओं के कपड़े भी उतरवा दिए गए। पूरे हॉस्टल की छात्राओं ने इस शर्मनाक घटना के बाद पीड़ित छात्राओं ने यूनिवर्सिटी के कुलपति को शिकायती पत्र सौंपा है। छात्राओं ने शिकायत में पूरी घटना के बारे में बताते हुए हॉस्टल वार्डन और आउटसोर्सिंग वार्डन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

Girls Strip Searched At Mp Hostel After Used Sanitary Napkin Found In Hostel :

यह है पूरा मामला
मध्यप्रदेश के सागर जिले में स्थित प्रतिष्ठित डॉ. हरि सिंह गौर यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में तलाशी के नाम पर छात्राओं के कपड़े उतरवाने का मामला सामने आया है। हॉस्टल में रहने वाली करीब 40 छात्राओं ने इसके लिए हॉस्टल वॉर्डन पर आरोप लगाया है। छात्राओं का कहना है कि हॉस्टल परिसर में यूज्ड सैनेटरी पैड मिलने के चलते वॉर्डन ने ऐसी शर्मनाक हरकत की।

छात्राओं ने बताया कि हॉस्टल परिसर में यूज्ड सैनेटरी पैड मिलने से वॉर्डन काफी गुस्से में आ गई और यह पता करने के लिए कि किसने यूज्ड पैड फेंका है, वॉर्डन ने छात्राओं की तलाशी लेनी शुरू कर दी। तलाशी लेने के चक्कर में वॉर्डन ने सारी हदें पार करते हुए लड़कियों के कपड़े तक उतरवा लिए। इस घटना के बाद से छात्राएं काफी तनाव में आ गयी हैं। उन्होंने इसके खिलाफ कार्रवाई के लिए यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर आरपी तिवारी को लिखित शिकायत भेजी।

वहीं इस पूरे मामले पर यूनिवर्सिटी के वाइस चासंलर आरपी तिवारी का कहना है कि यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है। मैंने छात्राओं को कहा कि वे मेरी बेटियों की तरह हैं और मैंने उनसे माफी भी मांगी हैं। मैंने सभी छात्राओं को आश्वासन दिया है कि इस मामले में कार्रवाई की जाएगी और अगर वॉर्डन को दोषी पाया गया तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी।

भोपाल। मध्य प्रदेश के सागर जिला स्थित डॉ. हरिसिंह गौर यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में गंदा सेनेटरी पैड मिलने पर वार्डन ने तलाशी के नाम पर छात्राओं के कपड़े भी उतरवा दिए गए। पूरे हॉस्टल की छात्राओं ने इस शर्मनाक घटना के बाद पीड़ित छात्राओं ने यूनिवर्सिटी के कुलपति को शिकायती पत्र सौंपा है। छात्राओं ने शिकायत में पूरी घटना के बारे में बताते हुए हॉस्टल वार्डन और आउटसोर्सिंग वार्डन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।यह है पूरा मामला मध्यप्रदेश के सागर जिले में स्थित प्रतिष्ठित डॉ. हरि सिंह गौर यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में तलाशी के नाम पर छात्राओं के कपड़े उतरवाने का मामला सामने आया है। हॉस्टल में रहने वाली करीब 40 छात्राओं ने इसके लिए हॉस्टल वॉर्डन पर आरोप लगाया है। छात्राओं का कहना है कि हॉस्टल परिसर में यूज्ड सैनेटरी पैड मिलने के चलते वॉर्डन ने ऐसी शर्मनाक हरकत की।छात्राओं ने बताया कि हॉस्टल परिसर में यूज्ड सैनेटरी पैड मिलने से वॉर्डन काफी गुस्से में आ गई और यह पता करने के लिए कि किसने यूज्ड पैड फेंका है, वॉर्डन ने छात्राओं की तलाशी लेनी शुरू कर दी। तलाशी लेने के चक्कर में वॉर्डन ने सारी हदें पार करते हुए लड़कियों के कपड़े तक उतरवा लिए। इस घटना के बाद से छात्राएं काफी तनाव में आ गयी हैं। उन्होंने इसके खिलाफ कार्रवाई के लिए यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर आरपी तिवारी को लिखित शिकायत भेजी।वहीं इस पूरे मामले पर यूनिवर्सिटी के वाइस चासंलर आरपी तिवारी का कहना है कि यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है। मैंने छात्राओं को कहा कि वे मेरी बेटियों की तरह हैं और मैंने उनसे माफी भी मांगी हैं। मैंने सभी छात्राओं को आश्वासन दिया है कि इस मामले में कार्रवाई की जाएगी और अगर वॉर्डन को दोषी पाया गया तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी।