लखनऊ में खाकी के इकबाल को खुली चुनौती, ADG का दावा- 3 दिन में खुलेगा केस

लखनऊ। यूपी में चुनावी सरगर्मी के बीच नवाबी नगरी लखनऊ में हथियारों से लैस आठ बदमाशों ने एक ज्वैलरी शॉप पर डकैती डालकर पूरे शहर में दहशत फैला दी। चौक कोतवाली से महज 100 मीटर की दूरी पर बदमाशों ने गनपॉइंट पर 13.15 करोड़ रुपए की ज्वैलरी और नगदी पर हाथ साफ कर दिये और भीड़-भाड़ वाले इलाके से फायर करते हुए फरार हो गए।




बदमाशों ने भागने से पहले ज्वैलरी शॉप मालिक के बेटे के पैर में गोली मार दी और शॉप मालिक को पीट-पीटकर लहूलुहान कर दिया। इस वारदात के बाद लखनऊ पुलिस की साख पर सवाल खड़े हो गए हैं, हालांकि पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर सुराग तलाशने की कोशिश में जुटी है। पुलिस को आशंका है कि ये वारदात पूरी रेकी के बाद अंजाम दी गयी है।


ये है पूरी घटना—

चौके के पीर बुखारा निवासी प्रवीन रस्तोगी की चौक में गोल दरवाजे के पास मुकुन्द ज्वेलर्स के नाम से होल सेल की दुकान है। प्रवीन का करीब रोज का दो करोड़ से अधिक का कारोबार है। रविवार देर शाम करीब नौ बजे प्रवीन की दुकान पर उनका बेटा दिपांशू उर्फ लल्लन समेत चार कर्मचारी और आधा दर्जन व्यापारी बैठे थे। अचानक नकाबपोश आठ बदमाश दुकान पर आये और पिस्टल की नोक पर लोगों को धमकाया।




बदमाशों ने प्रवीन को सारा सामान बाहर निकालने को कहा, विरोध करने पर प्रवीन को धमकाया इस दौरान उनका बेटा दिपांशू मौके पर आया। विरोध करने पर बदमाशों ने दिपांशू के पांव में गोली मारकर प्रवीन पर बट से हमला कर दिया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक करीब छह बदमाशों के हांथ में पिस्तौल थी जबकि दो बदमाश बोरे व थैले समेत डंडे हांथ में थे। बदमाशों ने इस दौरान दुकान में रखी सोने व चांदी के जेवरात समेत नगदी को लूटकर फरार हो गये।


IG जोन ने जारी की तस्वीर—

लखनऊ पुलिस के लिए चुनौती बनी इस डकैती के खुलासे के लिए पुलिस एड़ी-चोटी का जोर लगाए है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आईजी जोन ए.सतीश गणेश ने बदमाशों की तस्वीर भी जारी कर दी है।

सर्राफा बाजार रहेंगे बंद—

इस वारदात से नाराज सैकड़ों व्यापारियों ने हंगामा शुरू कर दिया। व्यापारियों ने पुलिस पर सिक्युरिटी में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। सर्राफा व्यापारियों ने सोमवार को सर्राफा बाजार बंद करने का एलान कर दिया है। वहीं वारदात के बाद मौके पर पहुंचे डीआईजी प्रवीण कुमार का भी व्यापारियों ने घेराव किया, कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने आक्रोशित लोगों पर काबू पाया।

डीआईजी रेंज लखनऊ प्रवीण कुमार ने बताया बदमाशों की पहचान कर बदमाशों की तलाश की जा रही है जल्द ही घटना का खुलासा करने के प्रयास किये जा रहे हैं।


ADG से मिले व्यापारी—

एडीजी कानून-व्यवस्था दलजीत चौधरी से व्यापारियों का एक दल मिलने पहुंचा। एडीजी ने व्यापारियों से वादा किया कि तीन दिन के अंदर इस वारदात का खुलासा करने के साथ ही इसकेा अंजाम देने वालों को पकड‍़ लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि पुलिस की टीमों को इसके लिए लगाया गया है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर डकैतों का प्रोफाइल खंगाला जा रहा है।