सिंचाई विभाग में 1600 करोड़ का घोटाला, AE अनिल यादव सस्पेंड

लखनऊ। गोमती रिवर फ्रंट घोटाले में चल रही जांच मामले में बुधवार को सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह ने इस प्रोजेक्ट के सहायक इंजीनियर(AE) अनिल कुमार यादव को सस्पेंड कर दिया। सिंचाई मंत्री ने कहा, इस मामले की जांच अभी जारी है। मंत्री धर्मपाल सिंह का कहना है कि सिंचाई विभाग में 1600 करोड़ का घोटाला हुआ है, सभी भृष्ट इंजीनियर और अधिकारियों पर कार्रवाई होगी।




आपको बता दें कि सिंचाई मंत्री ने अभी दो दिन पहले ही इस मामले पर बयान देते हुए कहा था, ‘आने वाले 24 घंटे के भीतर विभाग कुछ बड़े अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने वाला है। जो भी अधिकारी इस घोटाले में दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ बिना किसी भेदभाव के कार्रवाई होगी।’
उन्होने कहा, अगर कोई यह कहता है कि केवल यादवों के खिलाफ कार्रवाई हो रही है तो ऐसा कहना सरासर गलत है क्योंकि कार्रवाई केवल भ्रष्टाचारियों के खिलाफ ही होगी।



आपको बता दें कि यूपी के तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गोमती रिवर फ्रंट प्रोजेक्ट का लोकार्पण 16 नवंबर, 2016 को किया था। अब तक अखिलेश के इस ड्रीम प्रोजेक्ट पर करीब 1,427 करोड़ रुपये खर्च हो चुके हैं।

प्रेस कान्फ्रेंस में बोले सिंचाई मंत्री—

  • सिंचाई में सोलर पॉवर का किया जायेगा प्रयोग
  • बुंदेलखंड में सिंचाई परियोजना लाई जाएगी
  • तालाबों का संरक्षण और पुनरुद्धार करेगा प्राधिकरण
Loading...