पारले जी के लिए खुशखबरी, 15.2 फीसदी बढ़ा मुनाफा, 6.4 % आमदनी में भी बढ़ोत्तरी

parle G
पारले जी के लिए खुशखबरी, 15.2 फीसदी बढ़ा मुनाफा, 6.4 आमदनी में भी बढ़ोत्तरी

नई दिल्ली। दो महीने पहले सोशल मीडिया पर ये खबर आयी थी कि पारले जी बिस्किट बनाने वाली पारले प्रॉडक्ट्स कम्पनी घाटे के चलते 10 हजार कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही है। इसको लेकर कई ​विपक्षी दलों ने भी मोदी सरकार पर हमला किया था। लेकिन अब इस कम्पनी के लिए अच्छी खबर आयी है। इस बार पारले ग्रुप का नेट प्रॉफिट बीते वित्त वर्ष से 15.2 फीसदी बढ़ा है।

Good News For Parle Ji Profits Up 15 2 Percent 6 4 Income Growth Too :

बिजनेस स्‍टैंडर्ड की खबर की माने तो पारले जी को वित्त वर्ष 2019 में 410 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है, पिछले वित्त वर्ष में यह मुनाफा महज 355 करोड़ रुपये था। यानी वित्त वर्ष 2019 में कम्पनी ने 55 करोड़ रूपये ज्यादा प्राफिट कमाये हैं। वहीं यह भी बताया गया कि कम्पनी के कुल रेवेन्यू में 6.4 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। पिछले वर्ष रेवेन्यू 8,780 करोड़ रूपये था, इस बार रेवेन्‍यू बढ़कर 9,030 करोड़ रुपये हो गया है।

आपको बता दें कि दो महीने पहले पारले प्रोडक्ट्स के कैटेगिरी हेड मयंक शाह ने Parle की बिक्री और प्रोडक्‍शन में गिरावट आने की बात कही थी। और उन्होने यह भी बताया था कि इसी वजह से कंपनी को आने वाले दिनों में 10 हजार कर्मचारियों की छंटनी भी करनी पड़ सकती है। मयंक शाह ने पारले जी में आयी मंदी को लेकर सरकार की नीतियों को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होने कहा था कि बिस्‍किट पर गुड्स एंड सर्विसेज टैक्‍स यानी जीएसटी बढ़ोतरी होने से बिक्री कम हो गयी है।

मुनाफे की बात समाने आते ही बीजेपी नेता इस पर चुटकी लेने लगे हैं। बीजेपी आईटी सेल के अध्‍यक्ष अमित मालवीय ने ट्वीट करते हुए कहा ”कुछ दिनों पहले ‘एनलाइटेंड इकनॉमिस्ट’ हमें बता रहे थे कि लोग 5 रुपये का पारले जी बिस्किट पैक नहीं खरीद पा रहे हैं? खैर कंपनी का मुनाफा 15.2 फीसदी बढ़ा है और आमदनी भी 6.4 फीसदी बढ़कर 9,030 करोड़ रुपये हो गई है.”

नई दिल्ली। दो महीने पहले सोशल मीडिया पर ये खबर आयी थी कि पारले जी बिस्किट बनाने वाली पारले प्रॉडक्ट्स कम्पनी घाटे के चलते 10 हजार कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही है। इसको लेकर कई ​विपक्षी दलों ने भी मोदी सरकार पर हमला किया था। लेकिन अब इस कम्पनी के लिए अच्छी खबर आयी है। इस बार पारले ग्रुप का नेट प्रॉफिट बीते वित्त वर्ष से 15.2 फीसदी बढ़ा है। बिजनेस स्‍टैंडर्ड की खबर की माने तो पारले जी को वित्त वर्ष 2019 में 410 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है, पिछले वित्त वर्ष में यह मुनाफा महज 355 करोड़ रुपये था। यानी वित्त वर्ष 2019 में कम्पनी ने 55 करोड़ रूपये ज्यादा प्राफिट कमाये हैं। वहीं यह भी बताया गया कि कम्पनी के कुल रेवेन्यू में 6.4 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। पिछले वर्ष रेवेन्यू 8,780 करोड़ रूपये था, इस बार रेवेन्‍यू बढ़कर 9,030 करोड़ रुपये हो गया है। आपको बता दें कि दो महीने पहले पारले प्रोडक्ट्स के कैटेगिरी हेड मयंक शाह ने Parle की बिक्री और प्रोडक्‍शन में गिरावट आने की बात कही थी। और उन्होने यह भी बताया था कि इसी वजह से कंपनी को आने वाले दिनों में 10 हजार कर्मचारियों की छंटनी भी करनी पड़ सकती है। मयंक शाह ने पारले जी में आयी मंदी को लेकर सरकार की नीतियों को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होने कहा था कि बिस्‍किट पर गुड्स एंड सर्विसेज टैक्‍स यानी जीएसटी बढ़ोतरी होने से बिक्री कम हो गयी है। मुनाफे की बात समाने आते ही बीजेपी नेता इस पर चुटकी लेने लगे हैं। बीजेपी आईटी सेल के अध्‍यक्ष अमित मालवीय ने ट्वीट करते हुए कहा ''कुछ दिनों पहले 'एनलाइटेंड इकनॉमिस्ट' हमें बता रहे थे कि लोग 5 रुपये का पारले जी बिस्किट पैक नहीं खरीद पा रहे हैं? खैर कंपनी का मुनाफा 15.2 फीसदी बढ़ा है और आमदनी भी 6.4 फीसदी बढ़कर 9,030 करोड़ रुपये हो गई है.''