Google ने लोकतंत्र के सबसे बड़े उत्सव को अपने Doodle से समर्पित किया

doodle
Google ने लोकतंत्र के सबसे बड़े उत्सव को अपने Doodle से समर्पित किया

नई दिल्ली: आप अक्सर किसी पर्व पर तिथि पर गूगल के डूडल को बदला हुआ देखते है। भारत में मतदान के बाद मतदाताओं की अंगुली पर नीली स्याही लगा दी जाती है। आम तौर पर मतदान के बाद अंगुली पर लगी नीली स्याही को लोकतांत्रिक प्रक्रिया में आम जनता की भागीदारी के तौर पर देखा जाता है। आज गूगल ने भी लोकतंत्र के सबसे बड़े उत्सव को डूडल बनाकर समर्पित किया है।

Google Dedicates The Biggest Celebration Of Democracy With Its Doodle :

जैसे ही आप अपने ब्राउज़र पर सामने आ रहे गूगल पर क्लिक करेंगे, ये आपको लोकसभा चुनावों में वोट देने के लिए ज़रुरी बातों के बारे में बताएगा। how to vote #India के जरिए गूगल लोगों को भारत में हो रहे जरनल इलेक्शन 2019 (Lok Sabha Election) में वोट कैसे How to register, Indian general election, 2019 दिया जाए, इसके बारे में बता रहा है।

google doodle

पोलिंग बूथ पर वोटिंग प्रक्रिया (Voting Process at Polling Booth​)

सबसे पहले अधिकारी आपका नाम वोटर लिस्ट में देखेंगे और फिर वोटर आईडी प्रूफ चेक करेंगे।

पोलिंग बूथ पर मौजूद दूसरा अधिकारी आपकी उंगली पर स्याही लगाएगा. एक स्लिप देगा और फॉर्म 17A पर आपके साइन लेगा।

इसके बाद आप EVM (Election Voting Machine) पर अपने पसंदीदा कैंडिडेट के चुनाव चिन्ह पर बटन दबाएंगे. बटन दबाने के दौरान आपको बीप की आवाज़ सुनाई देगी।

वोट देने के बाद आप VVPAT मशीन की ट्रांसपेरेंट खिड़की में एक स्लिप देखेंगे। जिसमें सिर्फ 7 सेकेंड में ही आपको इस स्लिप पर वोट दिए हुए कैंडिडेट का सीरियल नंबर, नाम और चुनाव चिन्ह देखना होगा, क्योंकि उसके बाद वो स्लिप सील्ड VVPAT बॉक्स में चली जाएगी।

अगर आपको किसी भी कैंडिडेट को वोट नहीं देना हो तो EVM मशीन के आखिर में दिए NOTA को दबा सकते हैं।

ज्यादा जानकारी के लिए आप http://ecisveep.nic.in/ पर दिए गए वोटर गाइड को देख सकते हैं।

और हां, पोलिंग बूथ में मोबाइल फोन्स, कैमरा या फिर किसी भी तरह का गैजेट को ले जाने पर मनाही है।

google doodle

वोटिंग लिस्ट/मतदाता सूची में नाम (Name in Voter List / Electoral Roll)

आप वोट तभी दे सकते हैं जब आपका नाम वोटर लिस्ट (इलेक्ट्रोल रोल) में हो। आप तीन तरीकों से मतदाता सूची में आपका नाम है या नहीं, चेक कर सकते हैं। electoralsearch.in पर जाकर अपना नाम चेक करें।

electoralsearch.in पर जाकर अपना नाम चेक करें।

1950 (आगे STD कोड लगाकर डायल करें) नंबर पर कॉल करके भी अपने नाम का पता लगा सकते हैं।

SMS के जरिए भी आप घर बैठे वोटर लिस्ट में अपना नाम चेक कर सकते हैं। इसके लिए ये प्रक्रिया अपनाएं।
SMS <ECI> space <EPIC No> को 1950 पर भेजें।
(EPIC – वोटर आईडी, जिसे इलेक्टर्स फोटो पहचान पत्र भी कहा जाता है।)
उदाहरण – अगर आपके वोटर आईडी नंबर 12345678 है तो एसएमएस बॉक्स में ECI 12345678 लिखकर 1950 पर भेजें।

या फिर पर Voter Helpline App डाउनलोड करके भी नाम चेक कर सकते हैं।

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें  (How to register)

अगर आपको वोटिंग के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन (How to register) करना है तो इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया के मुताबिक ऑनलाइन वोटर रजिस्ट्रेशन के लिए आपकी उम्र 1 जनवरी 2019 को 18 वर्ष की होनी चाहिए। भारतीय नेशलन वोटर्स सर्विस पोर्टल पर जाकर फॉर्म 6 भरकर अपना नामांकन करा सकते हैं। बस आपको इस रजिस्ट्रेशन के दौरान (How to register) 4 बातों को ध्यान रखने की आवश्यकता है।

1. आप भारतीय नागरिक होने चाहिए।
2. एक जनवरी 2019 तक आपकी उम्र 18 वर्ष पूरी होनी चाहिए।
3. अपने निर्वाचन क्षेत्र/मतदान क्षेत्र, जहां के आप निवासी हों वहीं का नामांकित भरें।
4. अपने क्षेत्र में पंजीकरण के बाद आप एक वोटर के रूप में अयोग्य नहीं माने जाएंगे।

नई दिल्ली: आप अक्सर किसी पर्व पर तिथि पर गूगल के डूडल को बदला हुआ देखते है। भारत में मतदान के बाद मतदाताओं की अंगुली पर नीली स्याही लगा दी जाती है। आम तौर पर मतदान के बाद अंगुली पर लगी नीली स्याही को लोकतांत्रिक प्रक्रिया में आम जनता की भागीदारी के तौर पर देखा जाता है। आज गूगल ने भी लोकतंत्र के सबसे बड़े उत्सव को डूडल बनाकर समर्पित किया है।

जैसे ही आप अपने ब्राउज़र पर सामने आ रहे गूगल पर क्लिक करेंगे, ये आपको लोकसभा चुनावों में वोट देने के लिए ज़रुरी बातों के बारे में बताएगा। how to vote #India के जरिए गूगल लोगों को भारत में हो रहे जरनल इलेक्शन 2019 (Lok Sabha Election) में वोट कैसे How to register, Indian general election, 2019 दिया जाए, इसके बारे में बता रहा है।

google doodle

पोलिंग बूथ पर वोटिंग प्रक्रिया (Voting Process at Polling Booth​)

सबसे पहले अधिकारी आपका नाम वोटर लिस्ट में देखेंगे और फिर वोटर आईडी प्रूफ चेक करेंगे।

पोलिंग बूथ पर मौजूद दूसरा अधिकारी आपकी उंगली पर स्याही लगाएगा. एक स्लिप देगा और फॉर्म 17A पर आपके साइन लेगा।

इसके बाद आप EVM (Election Voting Machine) पर अपने पसंदीदा कैंडिडेट के चुनाव चिन्ह पर बटन दबाएंगे. बटन दबाने के दौरान आपको बीप की आवाज़ सुनाई देगी।

वोट देने के बाद आप VVPAT मशीन की ट्रांसपेरेंट खिड़की में एक स्लिप देखेंगे। जिसमें सिर्फ 7 सेकेंड में ही आपको इस स्लिप पर वोट दिए हुए कैंडिडेट का सीरियल नंबर, नाम और चुनाव चिन्ह देखना होगा, क्योंकि उसके बाद वो स्लिप सील्ड VVPAT बॉक्स में चली जाएगी।

अगर आपको किसी भी कैंडिडेट को वोट नहीं देना हो तो EVM मशीन के आखिर में दिए NOTA को दबा सकते हैं।

ज्यादा जानकारी के लिए आप http://ecisveep.nic.in/ पर दिए गए वोटर गाइड को देख सकते हैं।

और हां, पोलिंग बूथ में मोबाइल फोन्स, कैमरा या फिर किसी भी तरह का गैजेट को ले जाने पर मनाही है।

google doodle

वोटिंग लिस्ट/मतदाता सूची में नाम (Name in Voter List / Electoral Roll)

आप वोट तभी दे सकते हैं जब आपका नाम वोटर लिस्ट (इलेक्ट्रोल रोल) में हो। आप तीन तरीकों से मतदाता सूची में आपका नाम है या नहीं, चेक कर सकते हैं। electoralsearch.in पर जाकर अपना नाम चेक करें।

electoralsearch.in पर जाकर अपना नाम चेक करें।

1950 (आगे STD कोड लगाकर डायल करें) नंबर पर कॉल करके भी अपने नाम का पता लगा सकते हैं।

SMS के जरिए भी आप घर बैठे वोटर लिस्ट में अपना नाम चेक कर सकते हैं। इसके लिए ये प्रक्रिया अपनाएं।
SMS <ECI> space <EPIC No> को 1950 पर भेजें।
(EPIC - वोटर आईडी, जिसे इलेक्टर्स फोटो पहचान पत्र भी कहा जाता है।)
उदाहरण - अगर आपके वोटर आईडी नंबर 12345678 है तो एसएमएस बॉक्स में ECI 12345678 लिखकर 1950 पर भेजें।

या फिर पर Voter Helpline App डाउनलोड करके भी नाम चेक कर सकते हैं।

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें  (How to register)

अगर आपको वोटिंग के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन (How to register) करना है तो इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया के मुताबिक ऑनलाइन वोटर रजिस्ट्रेशन के लिए आपकी उम्र 1 जनवरी 2019 को 18 वर्ष की होनी चाहिए। भारतीय नेशलन वोटर्स सर्विस पोर्टल पर जाकर फॉर्म 6 भरकर अपना नामांकन करा सकते हैं। बस आपको इस रजिस्ट्रेशन के दौरान (How to register) 4 बातों को ध्यान रखने की आवश्यकता है।

1. आप भारतीय नागरिक होने चाहिए।
2. एक जनवरी 2019 तक आपकी उम्र 18 वर्ष पूरी होनी चाहिए।
3. अपने निर्वाचन क्षेत्र/मतदान क्षेत्र, जहां के आप निवासी हों वहीं का नामांकित भरें।
4. अपने क्षेत्र में पंजीकरण के बाद आप एक वोटर के रूप में अयोग्य नहीं माने जाएंगे।