गूगल ने डूडल बना मशहूर कैमिस्ट फ्रेडलीब फर्डिनेंड रन्गे को किया याद

गूगल ने डूडल बना मशहूर कैमिस्ट फ्रेडलीब फर्डिनेंड रन्गे को किया याद
गूगल ने डूडल बना मशहूर कैमिस्ट फ्रेडलीब फर्डिनेंड रन्गे को किया याद

नई दिल्ली। जर्मन रसायन वैज्ञानिक फ्रेडलिब फर्डिनेंड रन्गे के 225वें बर्थडे के मौके पर आज गूगल ने डूडल बना उन्हे याद किया है। बता दें कि फ्रेडलीब फर्डिनेंड एक महान वैज्ञानिक हैं जिन्होंने कैफीन की खोज की थी। रोचक बात यह है कि टीनेज ने बचपन के दौर से ही रसायन विज्ञान की तरफ रुचि लेनी शुरू कर दिया था।

Google Doodle Celebrate 225th Birth Anniversary Of Great German Scientist :

फ्रेडलीब फर्डिनेंड रन्गे को उनके 225वें जन्मदिन पर सर्च इंजन गूगल ने डूडल बनाकर सम्मानित किया है। जब वे जेना यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रहे थे तभी उनके प्रोफेसर ने उन्हें एक प्रयोग करने के लिए कहा था, उसी बीच उन्होंने कैफीन की पहचान कर ली थी। बता दें कि कैफीन वही पदार्थ है जो कॉफी में पाया जाता है।

बता दें कि सिर्फ कैफीन ही नहीं बल्कि फ्रेडलिब ने कोलतार डाई की भी खोज की थी जिसकी सहायता कपड़ों में रंगाई का काम किया जाता है। इतना ही नहीं वे कुनैन के आविष्कारक भी कहे जाते हैं। कुनैन वह पदार्थ है जिसकी मदद से मलेरिया के इलाज की दवाईयां बनाई जाती है।

नई दिल्ली। जर्मन रसायन वैज्ञानिक फ्रेडलिब फर्डिनेंड रन्गे के 225वें बर्थडे के मौके पर आज गूगल ने डूडल बना उन्हे याद किया है। बता दें कि फ्रेडलीब फर्डिनेंड एक महान वैज्ञानिक हैं जिन्होंने कैफीन की खोज की थी। रोचक बात यह है कि टीनेज ने बचपन के दौर से ही रसायन विज्ञान की तरफ रुचि लेनी शुरू कर दिया था।फ्रेडलीब फर्डिनेंड रन्गे को उनके 225वें जन्मदिन पर सर्च इंजन गूगल ने डूडल बनाकर सम्मानित किया है। जब वे जेना यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रहे थे तभी उनके प्रोफेसर ने उन्हें एक प्रयोग करने के लिए कहा था, उसी बीच उन्होंने कैफीन की पहचान कर ली थी। बता दें कि कैफीन वही पदार्थ है जो कॉफी में पाया जाता है।बता दें कि सिर्फ कैफीन ही नहीं बल्कि फ्रेडलिब ने कोलतार डाई की भी खोज की थी जिसकी सहायता कपड़ों में रंगाई का काम किया जाता है। इतना ही नहीं वे कुनैन के आविष्कारक भी कहे जाते हैं। कुनैन वह पदार्थ है जिसकी मदद से मलेरिया के इलाज की दवाईयां बनाई जाती है।