Google ने इस शख्स को समर्पित किया आज का Doodle, बनाया खास वीडियो

Google ने इस शख्स को समर्पित किया आज का Doodle, बनाया खास वीडियो
Google ने इस शख्स को समर्पित किया आज का Doodle, बनाया खास वीडियो

नई दिल्ली। आज के इस आधुनिक समय में भले ही हमारे लिए वीडियो, सिनेमा जैसी चीजें आम हो चुकी हैं, लेकिन इसकी शुरुआत बेहद मुश्किल थी। तमाम अलग-अलग खोज के बाद कुछ सफल प्रयोग के कारण ही यह वीडियो और सिनेमा जैसी चीजें संभव हो सकी हैं। इस काम को संभव कर पाने वाले शख्स को याद करते हुए आज गूगल ने खास डूडल बनाया है। हम बात कर रहे हैं जोसेफ एंटोइन फर्डिनेंड प्लेटू के बारे में जिनकी खोज के कारण हम आज कोई भी वीडियो देख पा रहे हैं।

Google Doodle Joseph Antoine Ferdinand Plateau :

बता दे कि जोसेफ एंटोइन फर्डिनेंड प्लेटू (Joseph Antoine Ferdinand Plateau) एक बेल्जियन भौतिकशास्त्री (Physicist) थे। 14 अक्टूबर 1801 को ब्रसेल्स में जन्मे जोसेफ प्लेटू ने कानून की पढ़ाई की थी, लेकिन आगे चलकर उनके आविष्कार के कारण उन्हें 19वीं सदी के प्रसिद्ध व प्रतिष्ठित वैज्ञानिक के रूप में जाना जाने लगा।

जोसेफ एंटोइन फर्डिनेंड प्लेटू के आविष्कार के बारे में….

• जोसेफ प्लेटू ने अपने शोध (Dissertation) के जरिए दुनिया को बताया कि हमारी आंखों के रेटिना पर कोई प्रतिबिंब या इमेज कैसे बनती है। वह कितनी देर रेटिना पर टिकी रहती है। आंखें कैसे उसका रंग और गहराई समझ पाती हैं।
• इन सभी निष्कर्षों के आधार पर उन्होंने 1832 में एक स्ट्रोबोस्कोपिक (Stroboscopic) उपकरण बनाया जिसमें दो डिस्क लगे थे।
• वे एक दूसरे के विपरीत दिशा में घूमते थे। एक डिस्क में समान दूरी पर छोटी खिड़कियां बनी थीं, जबकि दूसरी पर चित्र (Photo) लगे थे। जब दोनों डिस्क को उचित गति पर घुमाया गया, तो वो चलचित्र (Motion Picture) की तरह दिखने लगे।
• इसके बाद उन्होंने फिनेकिस्टिस्कोप (Phenakistiscope) का आविष्कार किया था।
• ये एक ऐसा उपकरण था जो सिनेमा, वीडियो के जन्म का आधार बना।
• गूगल ने आज जोसेफ प्लेटू के उसी आविष्कार को के आधार पर डिस्क की डिजाइन वाला डूडल बनाया है। आज उनका 218वां जन्मदिन है।

नई दिल्ली। आज के इस आधुनिक समय में भले ही हमारे लिए वीडियो, सिनेमा जैसी चीजें आम हो चुकी हैं, लेकिन इसकी शुरुआत बेहद मुश्किल थी। तमाम अलग-अलग खोज के बाद कुछ सफल प्रयोग के कारण ही यह वीडियो और सिनेमा जैसी चीजें संभव हो सकी हैं। इस काम को संभव कर पाने वाले शख्स को याद करते हुए आज गूगल ने खास डूडल बनाया है। हम बात कर रहे हैं जोसेफ एंटोइन फर्डिनेंड प्लेटू के बारे में जिनकी खोज के कारण हम आज कोई भी वीडियो देख पा रहे हैं। बता दे कि जोसेफ एंटोइन फर्डिनेंड प्लेटू (Joseph Antoine Ferdinand Plateau) एक बेल्जियन भौतिकशास्त्री (Physicist) थे। 14 अक्टूबर 1801 को ब्रसेल्स में जन्मे जोसेफ प्लेटू ने कानून की पढ़ाई की थी, लेकिन आगे चलकर उनके आविष्कार के कारण उन्हें 19वीं सदी के प्रसिद्ध व प्रतिष्ठित वैज्ञानिक के रूप में जाना जाने लगा। जोसेफ एंटोइन फर्डिनेंड प्लेटू के आविष्कार के बारे में.... • जोसेफ प्लेटू ने अपने शोध (Dissertation) के जरिए दुनिया को बताया कि हमारी आंखों के रेटिना पर कोई प्रतिबिंब या इमेज कैसे बनती है। वह कितनी देर रेटिना पर टिकी रहती है। आंखें कैसे उसका रंग और गहराई समझ पाती हैं। • इन सभी निष्कर्षों के आधार पर उन्होंने 1832 में एक स्ट्रोबोस्कोपिक (Stroboscopic) उपकरण बनाया जिसमें दो डिस्क लगे थे। • वे एक दूसरे के विपरीत दिशा में घूमते थे। एक डिस्क में समान दूरी पर छोटी खिड़कियां बनी थीं, जबकि दूसरी पर चित्र (Photo) लगे थे। जब दोनों डिस्क को उचित गति पर घुमाया गया, तो वो चलचित्र (Motion Picture) की तरह दिखने लगे। • इसके बाद उन्होंने फिनेकिस्टिस्कोप (Phenakistiscope) का आविष्कार किया था। • ये एक ऐसा उपकरण था जो सिनेमा, वीडियो के जन्म का आधार बना। • गूगल ने आज जोसेफ प्लेटू के उसी आविष्कार को के आधार पर डिस्क की डिजाइन वाला डूडल बनाया है। आज उनका 218वां जन्मदिन है।