जानें कौन से महान वैज्ञानिक की याद में google ने बनाया खास doodle

जानें कौन से महान वैज्ञानिक की याद में google ने बनाया खास doodle
जानें कौन से महान वैज्ञानिक की याद में google ने बनाया खास doodle

नई दिल्ली। आज देश (भारत) को अंतरिक्ष तक पहुंचाने वाले वैज्ञानिक विक्रम साराभाई की 100वीं जयंती है और इस खास मौके पर गूगल ने डूडल बनाकर उन्हें याद किया है। 12 अगस्त, 1919 को जन्में श्री साराभाई की गिनती भारत के महान वैज्ञानिकों में की जाती है। यही नहीं वह अपने साथ काम करने वाले वैज्ञानिकों, विशेषकर युवा वैज्ञानिकों को आगे बढ़ाने में काफी मदद करते थे।

Google Doodle On Indian Space Program Pioneer Vikram Sarabhai :

बता दें कि साराभाई ने भारत के अंतरिक्ष अनुसंधान के क्षेत्र में काफी योगदान दिया है। उन्होंने 1947 में अहमदाबाद में भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला (पीआरएल) की स्थापना की और थोड़ी ही समय में इसे विश्वस्तरीय संस्थान बना दिया। वैज्ञानिकों ने जब अंतरिक्ष अध्ययन के लिए सैटलाइट्स को एक अहम साधन के रूप में देखा, तो तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू और श्री होमी भाभा ने श्री विक्रम साराभाई को अध्यक्ष बनाते हुए इंडियन नेशनल कमिटी फॉर स्पेस रिसर्च की स्थापना के लिए समर्थन दिया। उन्होंने 15 अगस्त 1969 को इंडियन स्पेस रीसर्च ऑर्गनाइजेशन (इसरो) की स्थापना की।

तमाम उपलब्धि हासिल करने वाले विक्रम साराभाई की महज 52 साल की उम्र में 30 दिसंबर, 1971 को तिरुवनंतपुरम में निधन हो गया।

नई दिल्ली। आज देश (भारत) को अंतरिक्ष तक पहुंचाने वाले वैज्ञानिक विक्रम साराभाई की 100वीं जयंती है और इस खास मौके पर गूगल ने डूडल बनाकर उन्हें याद किया है। 12 अगस्त, 1919 को जन्में श्री साराभाई की गिनती भारत के महान वैज्ञानिकों में की जाती है। यही नहीं वह अपने साथ काम करने वाले वैज्ञानिकों, विशेषकर युवा वैज्ञानिकों को आगे बढ़ाने में काफी मदद करते थे। बता दें कि साराभाई ने भारत के अंतरिक्ष अनुसंधान के क्षेत्र में काफी योगदान दिया है। उन्होंने 1947 में अहमदाबाद में भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला (पीआरएल) की स्थापना की और थोड़ी ही समय में इसे विश्वस्तरीय संस्थान बना दिया। वैज्ञानिकों ने जब अंतरिक्ष अध्ययन के लिए सैटलाइट्स को एक अहम साधन के रूप में देखा, तो तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू और श्री होमी भाभा ने श्री विक्रम साराभाई को अध्यक्ष बनाते हुए इंडियन नेशनल कमिटी फॉर स्पेस रिसर्च की स्थापना के लिए समर्थन दिया। उन्होंने 15 अगस्त 1969 को इंडियन स्पेस रीसर्च ऑर्गनाइजेशन (इसरो) की स्थापना की। तमाम उपलब्धि हासिल करने वाले विक्रम साराभाई की महज 52 साल की उम्र में 30 दिसंबर, 1971 को तिरुवनंतपुरम में निधन हो गया।