महंगे किराये से परेशान google के कर्मचारी ने ट्रक को बना लिया अपना आशियाना

नई दिल्ली। महंगे किराये से परेशान गूगल के एक कर्मचारी ने कंपनी के ही कैंपस में अपना आशियाना बना लिया। दिलचस्प बात यह है कि कर्मचारी ने रहने के लिए एक ट्रक को अपना घर बना लिया और हाई रेंट से उसे निजात मिल गयी। मामला सैन फ्रांसिस्को का है। 

ब्रैंडम एस गूगल में कर्मचारी हैं और साथ ही उन्होने एक ब्लॉग बना रखा है, जिसमें वो अपनी दिनचर्या से जुड़ी कई बाते शेयर करते हैं। उन्होने ब्लॉग में लिखा, ब्लॉग में उन्होंने कहा, “मैं सैन फ्रांसिस्को के ‘बे एरिया’ में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर काम करता हूं और मैंने एक ट्रक को अपना घर बना लिया है।”

ब्रैंडम ट्रक को सिर्फ सोने के लिए इस्तेमाल करते हैं, क्योंकि मजेदार खाने- पीने से लेकर वॉशिंग मशीन में कपड़े धोने तक का काम तो वे गूगल के दफ्तर में फ्री में ही कर लेते हैं। बता दें कि गूगल के दफ्तर में खाना और कपड़ा धोना मुफ्त है। 

ब्रैंडन के मुताबिक वह शाम 7:30 बजे के बाद खाना नहीं खाते और सोने से पहले दफ्तर का वॉशरूम यूज कर लेते हैं। सुबह उठते ही बाइक से गूगल के दफ्तर जाते हैं और जिम व वॉशरूम यूज करते हैं। 

उन्होंने अपने ब्लॉग में यह भी लिखा है, “मैं दफ्तर में शाम 5 या 6 बजे तक काम करता हूं और इसके बाद दोस्तों के साथ घूमने निकल जाता हूं। अपना काम निपटा कर रात के 8:30 से 9 बजे के बीच में मैं अपने ट्रक में आकर सो जाता हूं।”