गूगल मैप ऐप के साथ जुड़े चार नए फीचर

गूगल मैप ऐप
गूगल मैप ऐप के साथ जुड़े चार नए फीचर

मोबाइल पर इंटरनेट के जरिए किसी एड्रेस को ढूंढ़कर बिना किसी परेशानी के सही ठिकाने तक लोगों को पहुंचाने में मदद करने वाला ऐप गूगल मैप अपडेट हो गया है। गूगल ने अपने मैप ऐप को भारतीय यूजर्स के लिए अधिक सुविधाजन बनाने के लिए चार नए फीचर जोड़े हैं। भारत में गूगल मैप यूजर्स को छह नई क्षेत्रीय भाषाओं का अनुभव मिल सकेगा। गूगल में किसी अनजान लोकेशन के बारे में जानकारी अपलोड़ करने की छूट मिलेगी, ताकि अन्य लोगों को भी उसी एड्रेस पर पहुंचने में परेशानी न हो। इनमें से तीन फीचर पहले से कुछ देशों के यूजर्स के लिए रिलीज हो चुके हैं। चलिए हम आपको बताते हैं इन नए फीचर्स के बारे में—

Google Map Adds Support For Plus Codes India Voice Navigation Six More Indic Languages :

छह नई भारतीय भाषाएं जुड़ी—

गूगल अपनी कई सेवाओं में हिन्दी के अलावा क्षेत्रीय भाषाओं को अहमियत दे रहा है। नई अपडेट के बाद गूगल मैप ऐप पर छह नई क्षेत्रीय भाषाएं जुड़ जाएंगी। जिनमें बांग्ला, कन्नड़, गुजराती, तमिल और मलयालम भाषा को शामिल किया गया है। अब से यूजर्स इन भाषाओं में अपने एड्रेस ढूंढ़ सकेंगे।

स्मार्ट एड्रेस सर्च—

अगर आप किसी एड्रेस के बारे में सर्च करते हैं और आपको गूगल मैप पर उस एड्रेस की जानकारी नहीं मिलती है, तो उस सूरत में आप आस पास के किसी लैंडमार्क का यूज कर उस एड्रेस तक पहुंच सकते हैं।

एड्रेस को गूगल मैप पर अपलोड करने का फीचर—

इस फीचर की मदद से आप अपने गूगल आकउंट में लॉग इन कर किसी अनजान लोकेशन की जानकारी गूगल मैप पर अपलोड कर सकते हैं। उस जगह पर पिन ड्रॉप कर उस स्थान से जुड़ी जानकारी भी अपलोड़ कर सकते हैं। जिसका लाभ अन्य गूगल मैप यूजर्स को मिल सकेगा। यह फीचर पहले से कुछ देशों के यूजर्स को मिल रहा था।

प्लस कोड—

अगर आप नियमित रूप से गूगल मैप ऐप यूज करते हैं, तो आपने ध्यान दिया होगा कि किसी लंबे एड्रेस को एंटर करने पर वह आपको पूरी तरह से नजर नहीं आता। गूगल ने लंबे एड्रेस की समस्या को हल करने के लिए उसे प्लस कोड फार्मेट में दिखाने का फीचर जोड़ा है। जिसमें एड्रेस एक अल्फान्यूमेरिक फार्मेट में नजर आएगा। यह फीचर लोकेशन शेयर करने वाले यूजर्स की सुविधा को ध्यान में रखकर डिजायन किया गया है।

मोबाइल पर इंटरनेट के जरिए किसी एड्रेस को ढूंढ़कर बिना किसी परेशानी के सही ठिकाने तक लोगों को पहुंचाने में मदद करने वाला ऐप गूगल मैप अपडेट हो गया है। गूगल ने अपने मैप ऐप को भारतीय यूजर्स के लिए अधिक सुविधाजन बनाने के लिए चार नए फीचर जोड़े हैं। भारत में गूगल मैप यूजर्स को छह नई क्षेत्रीय भाषाओं का अनुभव मिल सकेगा। गूगल में किसी अनजान लोकेशन के बारे में जानकारी अपलोड़ करने की छूट मिलेगी, ताकि अन्य लोगों को भी उसी एड्रेस पर पहुंचने में परेशानी न हो। इनमें से तीन फीचर पहले से कुछ देशों के यूजर्स के लिए रिलीज हो चुके हैं। चलिए हम आपको बताते हैं इन नए फीचर्स के बारे में—छह नई भारतीय भाषाएं जुड़ी—गूगल अपनी कई सेवाओं में हिन्दी के अलावा क्षेत्रीय भाषाओं को अहमियत दे रहा है। नई अपडेट के बाद गूगल मैप ऐप पर छह नई क्षेत्रीय भाषाएं जुड़ जाएंगी। जिनमें बांग्ला, कन्नड़, गुजराती, तमिल और मलयालम भाषा को शामिल किया गया है। अब से यूजर्स इन भाषाओं में अपने एड्रेस ढूंढ़ सकेंगे।स्मार्ट एड्रेस सर्च—अगर आप किसी एड्रेस के बारे में सर्च करते हैं और आपको गूगल मैप पर उस एड्रेस की जानकारी नहीं मिलती है, तो उस सूरत में आप आस पास के किसी लैंडमार्क का यूज कर उस एड्रेस तक पहुंच सकते हैं।एड्रेस को गूगल मैप पर अपलोड करने का फीचर—इस फीचर की मदद से आप अपने गूगल आकउंट में लॉग इन कर किसी अनजान लोकेशन की जानकारी गूगल मैप पर अपलोड कर सकते हैं। उस जगह पर पिन ड्रॉप कर उस स्थान से जुड़ी जानकारी भी अपलोड़ कर सकते हैं। जिसका लाभ अन्य गूगल मैप यूजर्स को मिल सकेगा। यह फीचर पहले से कुछ देशों के यूजर्स को मिल रहा था।प्लस कोड—अगर आप नियमित रूप से गूगल मैप ऐप यूज करते हैं, तो आपने ध्यान दिया होगा कि किसी लंबे एड्रेस को एंटर करने पर वह आपको पूरी तरह से नजर नहीं आता। गूगल ने लंबे एड्रेस की समस्या को हल करने के लिए उसे प्लस कोड फार्मेट में दिखाने का फीचर जोड़ा है। जिसमें एड्रेस एक अल्फान्यूमेरिक फार्मेट में नजर आएगा। यह फीचर लोकेशन शेयर करने वाले यूजर्स की सुविधा को ध्यान में रखकर डिजायन किया गया है।