1. हिन्दी समाचार
  2. गोरखपुरः दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री राधेश्याम सिंह के नाम से फेक फेसबुक आईडी बना कर फालोवर से रुपये की मांग

गोरखपुरः दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री राधेश्याम सिंह के नाम से फेक फेसबुक आईडी बना कर फालोवर से रुपये की मांग

Gorakhpur Demand For Money From Falovar By Creating Fake Facebook Id In The Name Of Minister Of State Radheshyam Singh

By ravijaiswal 
Updated Date

पढ़ें :- चीन में एक बार फिर कोरोना पसार रहा पैर, आइसक्रीम में मिला कोरोना वायरस

पिपराइच गोरखपुरः भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री राधेश्याम सिंह सैंथवार के नाम से किसी ने फेसबुक पर फेक आईडी बना कर मैसेंजर के माध्यम से उनके फेसबुक फालोअरों से पैसे की मांगने का मामला प्रकाश में आया है. फालवरों ने गड़बड़ झाला समझते हुऐ इसकी सूचना मंत्री को दिया. इस प्रकार की घटना को सूचना मिलते ही मंत्री जी आवक रह गए. उन्होंने घटना की लिखित शिकायत गुलरिहा पुलिस को देकर उचित कार्यवाही करने की मांग की है. पुलिस साईबर सेट के सहयोग से मामले की छानबीन करने में जुटी है.

जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश के बीज प्रमाणीकरण संस्था के उपाध्यक्ष (राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त) राधेश्याम सिंह सैंथवार पिपराइच विधान सभा क्षेत्र से 3 बार विधायक प्रत्याशी भी रह चुके है। उन्हीं के गृह जनपद सटे जिला महराजगंज में रहते भी है. बताया जाता है कि राधेश्याम सिंह के नाम से और फोटो का इस्तेमाल करके किसी व्यक्ति ने फेसबुक पर एक फेक फेसबुक आईडी 20 अक्टूबर 19 को बनाया है. पहले उसने राधेश्याम सिंह से रिलेटिव लोगों को फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर करीब 400 लोगों को फालोअर बनाया. उसके बाद शुक्रवार को मैसेंजर पर संदेश भेज कर पैसों की डिमांड करने शुरू कर दिया. क्षेत्र के कृष्ण सेवक श्रीवास्तव, दिलिप सिंह एसएसबी के जवान हरेन्द्र निषाद, आदि लोगों से 15-15 हजार रुपये की मांग की. तो उनके शुभचिंतकों को गड़बड़ झाले को समते देर नहीं लगी. उन्होंने इसकी सूचना मंत्री को दिया. मंत्री ने गुलरिहा पुलिस को शिकायत दर्ज कराते हुऐ कार्रवाही करने की मांग की पुलिस फेक आईडी से पोस्ट मैसेज और नंबर को टेस करने के लिए साईबर सेल को भेज दिया है.

इस संबंध में राज्यमंत्री राधेश्याम सिंह का कहना है कि किसी ने मेरे नाम और फोटो का इस्तेमाल करते हुऐ फेक आईडी बनाकर मेरे फालोअरों से पैसे की मांग मैसेंजर पर संदेश भेजकर कर रहा है. आप सभी लोगों से निवेदन है कि ऐसे किसी भी मैसेज पर प्रतिक्रिया ना दें और ना ही किसी को सोशल मीडिया और इंटरनेट पर किसी प्रकार की आर्थिक सहायता दें. मैंने इस बाबत पर पुलिस के साइबर सेल में शिकायत दर्ज करा दी है आप सभी से सहयोग की अपेक्षा है।

पढ़ें :- प्रेग्नेंसी के बाद बढ़ रहा है वजन तो हो जाए सावधान, हो सकती है ये गंभीर समस्या

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...