योगी के गढ़ में 24 घंटे में महिला समेत दो की हत्या

गोरखपुर। योगी सरकार जहां एक तरफ बढ़ते अपराधो पर नकेल कसने की कोशिश में लगी हुई है, वहीं दूसरी तरफ मानो अपराधों को पर लग गए हो, यह रुकने का नाम ही नहीं ले रहें हैं। आए दिन प्रदेश के किसी कोने से एक एक नयी घटना सुनने में आ ही जा रही है। अब ऐसे में सवाल यह उठता है कि सूबे में बढ़ते अपराध के ग्राफ की ज़िम्मेदारी कौन लेगा- सरकार या प्रशासन! अभी के समय में हालात यह है कि सूबे में चुस्त-दुरुस्त कानून व्यवस्था का दावा करने वाले मुखिया योगी का गढ़ ही सुरक्षति नहीं है। आए दिन यहाँ बेखौफ अपराधी अपने मंसूबे को अंजाम दे रहे है। अब एक बार फिर अपराधियों ने गोरखपुर को अपना निशाना बनाते हुए जहां शहर के दो जगहों पर सनसनीखेज घटना देखने को मिली है।



महिला की हत्या
दरअसल पहली घटना बीते गुरुवार की है जहां गगहा इलाके के राष्ट्रीय राज्यमार्ग-29 पर गोबरहिया मोड़ के पास झाड़ी में महिला की लाश बरामद हुई। इस बात का तब पता चला जब एक टुरिस्टबस हाइवे पर रुकी और बस से उतार कर कुछ महिलाए शौच के लिए झड़ियों में गयी। जिसके बाद वहाँ महिला के शव को देख लोगो ने पुलिस को सूचना दी। घटना स्थल पर पहुंची पुलिस ने शव के पास से एक मोबाइल और चाकू बरामद किया है। मोबाइल पर एक ही नंबर से कई कॉल आए थे, जो अब्बू के नाम से था। इस पर फोन करने पर महिला की पहचान सादिया परवीन आजमगढ़ के रूप में हुई। वही मृतका के पिता का कहना है कि आज से 5 साल पहले ग्राम मदनापार थाना बिलरियागंज, आजमगढ़ में अलीम पुत्र युनूस से किया था। दोनों से एक 4 साल का लड़का भी है, जो ननिहाल में ही रहता है। पिता के मुताबिक दोनों में अक्सर लड़ाई-झगड़ा हुआ करता था। जानकारी में पता चला कि सादिया की हत्या मुंह को दुपट्टे से बांधने के बाद चाकू से वार कर किया गया है। फोरेंससिक टीम घटनास्थल से नमूने लेकर मामले की जांच कर रही है।





युवक की गला रेतकर हत्या

दूसरी घटना शुक्रवार सुबह की है। गोरखपुर के चौरीचौरा के बिलारी गांव के मठिया घूस के पास युवक की गला काटकर हत्या की गई है। मृतक की आयु लगभग 22 साल बताई जा रही है। सूचना मलने पर पहुची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। फिलहाल शव की पहचान नहीं हो पायी है।